Yogi Adityanath

विधान परिषद चुनाव के लिए बतौर गोरखपुर नगर विधायक योगी ने किया मतदान

44 0

गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि चार दशक बाद उत्तर प्रदेश विधान परिषद (UP Legislative Council) में सत्ताधारी दल को प्रचंड बहुमत मिलेगा। स्थानीय निकाय प्राधिकारी क्षेत्रों से विधान परिषद की 36 सीटों के लिए हो रहे चुनाव में 9 सीटों पर भाजपा (BJP) के प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। शेष 27 सीटों में भी अधिकांश पर भाजपा की ही जीत होगी। विधानसभा के साथ विधान परिषद में भी प्रचंड बहुमत होने से सरकार लोक कल्याण के कार्यक्रमो, महिलाओं की सुरक्षा व स्वावलम्बन, युवाओं के रोजगार, अन्नदाता किसानों व श्रमिकों के हित में और भी बेहतर काम करने में सक्षम होगी।

शनिवार सुबह गोरखपुर महाराजगंज स्थानीय निकाय प्राधिकारी क्षेत्र से विधान परिषद सदस्य के चुनाव में बतौर गोरखपुर नगर विधायक मतदान करने के बाद मुख्यमंत्री मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र के नेतृत्व में 2017 की भांति 2022 में भी भाजपा ने दो तिहाई से अधिक सीटों पर जीत हासिल कर प्रचंड बहुमत की सरकार बनाई है। चार दशक बाद ऐसी स्थिति आएगी जब सत्ताधारी दल विधान परिषद में भी प्रचंड बहुमत हासिल करेगा।

इस चुनाव में जो भी मतदाता हैं उनसे अपील है कि लोक कल्याणकारी कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए भाजपा प्रत्याशियों को अपना वोट दें। सीएम योगी ने कहा कि 2017 में विधान परिषद में कठिनाई का सामना करना पड़ता था। नकारात्मक भूमिका से समाजवादी पार्टी विकास व लोककल्याणकारी कार्यक्रमों को अवरुद्ध करती थी लेकिन इस चुनाव के बाद हमें विधान परिषद में भी प्रचंड बहुमत हासिल हो जाएगा और लोक कल्याणकारी कार्यक्रम व विकास के कार्य द्रुत गति से आगे बढ़ेंगे।

नहीं उजाड़े जाएंगे गरीबों के आशियाने

एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में माफिया के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति जारी रहेगी लेकिन गरीबों के आशियाने नहीं उजाड़े जाएंगे। पहले पेशेवर माफिया व अपराधी सत्ता का संरक्षण प्राप्त कर सरकारी सार्वजनिक, गरीबों व व्यापारियों की जमीन पर कब्जा करते थे। इसके खिलाफ एंटी भू माफिया टास्क फोर्स का गठन किया गया। अब तक पेशेवर माफियाओं से 2500 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई है। अधिकारियों को निर्देश दिया गया है किसी भी गरीब की झोपड़ी तब तक नहीं हटाएंगे जब तक उसे आवास न उपलब्ध करा दिया जाए।

यदि भूमि आरक्षित श्रेणी की नहीं है तो गरीब को वहीं पट्टा दे दिया जाए। यदि आरक्षित श्रेणी की है तो उसे अन्यत्र आवास उपलब्ध कराया जाए। ऐसे ही स्ट्रीट वेंडर के सुव्यवस्थित पुनर्वास व स्वनिधि योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिए गए हैं। एंटी भू माफिया की कार्रवाई पेशेवर माफिया के लिए है गरीबो के प्रति नहीं। गरीबों के प्रति संवेदना होनी चाहिए। सीएम ऑफिस का ट्विटर हैंडल हैक होने के सवाल पर सीएम ने कहा कि एजेंसियां इसकी जांच कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: महिलाओं और बेटियों को योगी सरकार की योजनाओं से मिलेगा सीधा लाभ

महाअष्टमी व रामनवमी की प्रदेश वासियों को दी बधाई

पूर्व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री एवं राज्यसभा सदस्य शिव प्रताप शुक्ला, गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्ला, महापौर सीताराम जायसवाल, गोरखपुर ग्रामीण के विधायक विपिन सिंह के साथ नगर निगम में बनाए गए बूथ पर मतदान करने के बाद सीएम योगी ने प्रदेशवासियों को वासंतिक नवरात्र, महाअष्टमी व रामनवमी की बधाई व शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि कल रामनवमी की तिथि पर प्रभु श्रीराम का जन्मोत्सव मनाने के लिए अयोध्या में विशेष समारोह होंगे। शासन ने संतों के मार्गदर्शन में श्रद्धालुओं की सुरक्षा व सुविधा के विशेष निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: 3.6 करोड़ राशन कार्ड धारकों को जल्द मिलेगी डिजी लाकर की सुविधा

Related Post

एटीएस को सौदागार सदर की पत्नी की तलाश

एटीएस को सौदागार सदर की पत्नी की तलाश

Posted by - March 30, 2021 0
जाली नोटों का अवैध कारोबार करने वाले तस्करों ने लॉकाडाउन के बाद सूबे में एक बार फिर अपनी जड़ें मजबूत करनी शुरू कर दी है। इसका खुलासा आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा पांच दिन पूर्व नोएडा से गिरफ्तार किये गये जाली नोटों के सौदागर सदर अली ने पूछताछ में किया है एटीएस को सदर की फरार पत्नी की सरगर्मी से तलाश है उस पर पच्चीस हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है इसके साथ ही एटीएस सदर के अन्य साथियों की भी तलाश की जा रही है। पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह की ब्रेन हैमरेज से हुई मौत एटीएस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सदर अली की पत्नी मुमताज की तलाश में टीमें लगायी गयी हैं। गिरफ्तार किये गये सदर अली ने अपना नेटवर्क बरेली, कानपुर नगर व लखनऊ समेत अन्य शहरों में फैला रखा था। वह यूपी के कई तस्करों को पाकिस्तान से आने वाले जाली नोटों की सप्लाई करता था। बीते कुछ माह में भी नकली नोटों की सप्लाई किए जाने के तथ्य सामने आए हैं। सदर के जरिये इस गिरोह से जुड़े सप्लायरों की तलाश की जा रही है। पूर्व में पकड़े गए कई तस्करों के बारे में भी पड़ताल शुरू की गई है। गिरफ्तार किये गये तस्कर सदर से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि यूपी में बांदा से जुड़े कई गिरोह पश्चिम बंगाल से जाली नोट लाकर उनकी सप्लाई लखनऊ समेत अन्य शहरों, एनसीआर व दिल्ली तक कर रहे हैं। पूर्व में इस गिरोह के कई सदस्य पूर्व में पकड़े भी जा चुके हैं। उनसे भी पूछताछ में सामने आया था कि जाली नोट पाकिस्तान से बंगलादेश व नेपाल के जरिये यहां सप्लाई किए जा रहे हैं।गौरतलब है कि जाली नोटों की तस्करी में वांछित चल रहे मालदा (पश्चिम बंगाल) निवासी 25 हजार रुपये के इनामी सदर अली को 24 मार्च को एटीएस ने नोएडा के महामाया फ्लाई ओवर के पास गरिफ्तार किया था। रेलवे ट्रैक पर मिला महिला का शव…
उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की उद्धव ठाकरे ने ली शपथ, बने राज्य के 18वें सीएम

Posted by - November 28, 2019 0
मुंबई। महाराष्ट्र में ‘महा विकास अघाड़ी’ दल के नेता उद्धव ठाकरे ने प्रदेश के 18 वें मुख्यमंत्री पद की शपथ…