Nikita Tomar murder case

निकिता तोमर हत्याकांड : तौसीफ और रेहान को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा दी

350 0

फरीदाबाद। फरीदाबाद की फास्टट्रैक कोर्ट ने निकिता तोमर हत्याकांड (Nikita Tomar murder case) में शुक्रवार को अपना फैसला सुना दिया है। दोनों आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इससे पहले आज सुबह से ही न्यायालय परिसर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई थी।

इससे पहले गुरुवार को बचाव पक्ष अपनी तैयारियों में जुटा रहा है। कोर्ट पहले ही तौसीफ और रेहान को हत्या का दोषी करार दे चुका था। ऐसे में केवल दो संभावना रह गई थीं कि या तो तौसीफ और रेहान को फांसी हो या फिर आजीवन कारावास। एक ओर निकिता के परिजन व मामा ऐदल सिंह रावत मामले में फांसी की सजा के लिए केस के पहलुओं को मजबूत करने में जुटे रहे तो दूसरी ओर बचाव पक्ष भी दिनभर तैयारी कर तथ्य जुटाते हुए अपना पक्ष मजबूत करने की तैयारी की थी।

भाजपा ने ममता बनर्जी को घेरा

निकिता के मामा ऐदल सिंह रावत का कहना था कि निकिता मामले में पूरे तथ्य हैं कि दोषियों को फांसी की सजा हो। परिवार भी यही चाहता है। वहीं, बचाव पक्ष के वकील अनीस खान का कहना था कि दुर्लभ मामलों में ही कोर्ट फांसी की सजा सुनाता है। कोर्ट के फैसले के बाद अभी दोनों ही पक्षों की ओर से कोई बयान नहीं आया है।

लोकेश राहुल का शानदार शतक, भारत ने इग्लैंड को दिया 336 रनों का लक्ष्य

बता दें कि बीते 26 अक्तूबर को निकिता तोमर हत्याकांड (Nikita Tomar murder case) में दोनों दोषियों रेहान और तौसीफ को पुलिस ने वारदात के दिन ही गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद आरोपियों को रिमांड पर लेकर उनसे सबूत जुटाए गए और कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरसत में जेल भेज दिया था। जेल जाने के करीब 15 दिन बाद तौसीफ के पिता जाकिर हुसैन व मां असमीना उससे मिलने जेल गए, जबकि रेहान से उसका पिता शहाबुदीन मिलने पंहुचे थे। परिजनों ने दोनों को उनके पहनने के लिए कपड़े व जूते दिए थे। इसके बाद कोविड के नियमों के तहत बाहर के लोगों का जेल में बंदियों से मिलने पर रोक लगा दी गई।

Related Post

नक्सली हमला

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में बड़ा नक्सली हमला, 16 जवानों के शहीद होने खबर

Posted by - May 1, 2019 0
गढ़चिरौली। महाराष्‍ट्र के गढ़चिरौली में नक्‍सलियों ने बुधवार यानी आज आईईडी ब्‍लास्‍ट किया, जिसमें 15 सुरक्षाकर्मीशहीद  हो गए। यह विस्‍फोट…

असम: हिंदू-सिख-जैन बहुल इलाकों और धार्मिक स्थलों के पांच किमी के दायरे में गोमांस बेचने पर प्रतिबंध

Posted by - July 13, 2021 0
असम सरकार ने मवेशियों के वध, उपभोग और परिवहन को विनियमित करने के लिए असम मवेशी संरक्षण बिल-2021 विधानसभा में…