नीतीश के मंत्री ने भाजपा के खिलाफ 165 सीटों पर UP चुनाव लड़ने का किया ऐलान, योगी को घेरा

53 0

बिहार में नीतीश कुमार की एनडीए सरकार में बीजेपी के साथ शामिल वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने मंगलवार को यूपी की 165 सीटों पर चुनाव लड़ेने का ऐलान किया है। फूलन देवी की जयंती के मौके पर उन्होंने योगी सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि वो फूलन देवी की 50 हजार प्रतिमाएं यूपी में घर-घर तक भिजवाएंगे।मुकेश सहनी ने इस मौके पर कहा कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर ही जाता है। इसलिए हम यूपी में संघर्ष करने पहुंचे हैं।

उन्होंने कहा- सीएम योगी से कोई छत्तीस का आंकड़ा नहीं है। लेकिन जब निषाद आगे बढ़ रहे हैं तो कुछ लोगों को परेशानी हो रही है।बता दें कि सहनी पिछले महीने फूलन देवी की पुण्यतिथि पर बनारस समेत कई जगहों पर उनकी आदमकद प्रतिमाएं लगवाना चाहते थे। लेकिन मंजूरी नहीं मिली थी।

योगी सरकार द्वारा प्रदेश से जबरन लौटाने के बाद अब मुकेश सहनी ने नया दांव चलते हुए उत्तर प्रदेश के लोगों को पार्टी की वेबसाइट से मुफ्त में फूलन देवी की प्रतिमाएं ऑर्डर करने की सहूलियत दी है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति पैसे देकर मूर्ति खरीदना चाहता है, वो पैसे भी दे सकता है, लेकिन ये सबके लिए मुफ्त उपलब्ध है। इस दाव के जरिये सहनी यूपी में ज्यादा से ज्यादा निषाद वोटरों तक अपनी पहुंच बनाना चाहते हैं।

मुकेश सहनी ने इस मौके पर कहा कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर ही जाता है। इसलिए हम यूपी में संघर्ष करने पहुंचे हैं। इसमें बहुत से लोग रोकेंगे भी, लेकिन हम पीछे नहीं हटेंगे। मुकेश सहनी ने कहा कि उनका सीएम योगी से कोई छत्तीस का आंकड़ा नहीं है। लेकिन जब निषाद आगे बढ़ रहे हैं, अपना हक मांग रहे हैं तो कुछ लोगों को परेशानी तो होगी ही।

ऐसे तो सदियों तक चलती रहेगी आरक्षण व्यवस्था

बता दें कि उत्तर प्रदेश में पैर फैलाने के मकसद से मुकेश सहनी पिछले महीने फूलन देवी की पुण्यतिथि पर शहादत दिवस मनाने के लिए बनारस समेत कई जगहों पर उनकी आदमकद प्रतिमाएं लगवाना चाहते थे। इसके लिए वे खुद उत्तर प्रदेश के दौरे पर वाराणसी पहुंच गए थे। लेकिन कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए योगी सरकार ने सहनी को बनारस में एयरपोर्ट से बाहर भी नहीं निकलने दिया और उन्हें जबरन बिहार वापस भेज दिया। सहनी तब से ही लगातार यूपी सरकार पर हमलावर हैं।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post