कांशीराम की पुण्यतिथि पर मायावती ने भरी हुंकार, कहा- बेराज़गारी होगा चुनावी मुद्दा

146 0

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशी राम की आज पुण्यतिथि है। इस मौके बसपा ने एक रैली आयोजित की और इसी के साथ पार्टी ने 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा के चुनाव के लिए चुनावी हुंकार भरी है। इस दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती ने जनसभा को संबोधित करते हुए, भाजपा सरकार पर हमला बोला। मायावती ने कहा कि भाजपा राज में किसान परेशान हैं।

छोटे दल काटेंगे वोट, सावधानी जरूरी

मायावती ने कहा कि भाजपा, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी वोट के लिए जनता से वादे कर रही हैं जो हवा हवाई है। उनमें रत्तीभर भी दम नहीं है। विरोधी पार्टियां चुनावी घोषणापत्रों में प्रलोभन भरे चुनावी वादे करने वाली हैं। मायावती ने कहा कि छोटे दल गठबंधन कर चुनाव लड़ेंगे और वो सिर्फ वोट काटेंगे। ऐसे में अपने लोगों को सावधान रहना है।

चुनाव आयोग को लिखूंगी पत्र

साथ ही मायावती ने कहा कि मैं चुनाव आयोग को लिखूंगी कि चुनाव से 6 महीने पहले सभी सर्वे पर रोक लगे। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मामले में ऐसा हुआ था। बीजेपी पार्टी की मशीनरी अपने पक्ष में हवा बनाने की कोशिश कर रही है। वो हिन्दू-मुस्लिम को भड़काने की कोशिश करेगी।

बेरोजगारी होगा चुनावी मुद्दा

मायावती ने कहा कि, हमारी सरकार बनने पर इस बार सबसे ज़्यादा जोर यहां के गरीब और बेरोजगार नौजवानों को रोटी-रोजी के साधन उपलब्ध कराने पर होगा। इस बार यही हमारी पार्टी का मुख्य चुनावी मुद्दा भी होगा। केंद्र और राज्य की जो भी योजनाएं चल रही हैं उन्हें बदले की भावना से रोका नहीं जाएगा।

हरसिमरत कौर ने भी की शिरकत

बता दें कि इससे पहले मायावती ने ब्राह्मण सम्मेलन अपने पार्टी दफ्तर में बुलाया था जहां उन्होंने एक खास तबके को संबोधित किया था, लेकिन इस बार सभी वर्गों से जुड़े कार्यकर्ता शामिल हुए। इस सभा में अकाली दल नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने भी शिरकत की। हरसिमरत कौर लखीमपुर में पीड़ित किसानों से मिलने भी गई थीं।

Related Post