स्वतंत्र देव सिंह की सांसदों-विधायकों को चेतावनी, कहा- भाषा पर रखें संयम

353 0

लखनऊ। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में शामिल भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पार्टी के विधायकों और सांसदों से कहा है कि वे अपनी भाषा पर संयम रखें। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि आप राजनीति में हैं, आपका परिवार नहीं। इसलिए परिवार के लोग राजनीति न करें और कोई विवाद न खड़ा करें। यदि आपके क्षेत्र में कोई वर्ग विशेष आपको वोट न देता हो तो भी उसके प्रति कोई दुर्भावना न रखें और उनसे असंयमित भाषा का इस्तेमाल न करें।

विधायकों से तालमेल बढ़ाएं सांसद

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बैठक में मौजूद पार्टी के सांसदों से कहा कि वे विधायकों से तालमेल बढ़ाएं। यदि विधायक से मतभेद भी हैं तो उसे दरकिनार कर उन्हें सहयोग व समर्थन दें। उन्होंने सांसदों से विधायकों के घर जाकर खाना खाने के लिए कहा। यह भी कहा कि सांसद यह न सोचें कि यह विधायक का चुनाव है। यह पार्टी का चुनाव है और इस नाते आपका भी।

सीएम आवास पर हुई बैठक

बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की आहट तेज होते ही भाजपा ने सरकार व संगठन के तालमेल को और मजबूत करना शुरू कर दिया है। इसी के मद्देनज़र शुक्रवार शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर पार्टी के अवध क्षेत्र के विधायकों-सांसदों के साथ बैठक की। बैठक में मुख्यमंत्री ने विधायकों और सांसदों के क्षेत्र की समस्याओं को सुना व उनसे सुझाव भी मांगे और उन्हें गंभीरता से नोट किया।

विधायकों-सांसदों ने बताई समस्या

पौने दो घंटे चली इस बैठक में ज्यादातर विधायकों व कुछ सांसदों ने अपने क्षेत्र में बिजली कटौती की समस्या बताई। तो कुछ विधायकों का कहना था कि बाढ़ से क्षेत्र की सड़कें बुरी तरह टूट गई हैं। लोक निर्माण विभाग का कहना है कि एक निश्चित समयसीमा से पहले सड़क को दोबारा नहीं बनाया जा सकता है। इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक में मौजूद अधिकारियों को इस समस्या का निदान कराने का निर्देश दिया। वहीं, कुछ विधायकों ने पंचायत सचिवों के तबादले से संबंधित समस्याएं उठाईं, तो कुछ विधायकों ने किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान में चीनी मिलों की ओर से हीलाहवाली की शिकायत की। लखीमपुर में ग्रांट एक्ट की भूमि के आवंटियों को जमीन का मालिकाना हक देने की मांग भी की गई।

Related Post