Maharashtra

महाराष्ट्र राजनीतिक संकट: शिवसेना के विद्रोहियों ने एमवीए सरकार के पतन…

63 0

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) विधानसभा के उपाध्यक्ष नरहरि जिरवाल द्वारा अजय चौधरी को बागी नेता एकनाथ शिंदे के स्थान पर सदन में शिवसेना (Shiv Sena) के समूह के नेता के रूप में नियुक्त करने से सत्तारूढ़ गठबंधन को बहुमत साबित करने की आवश्यकता में तेजी आ सकती है। महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व महाधिवक्ता श्रीहरि अणे ने कहा कि शिंदे के नेतृत्व में बागी विधायकों का समूह दावा कर सकता है कि वह वर्तमान महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार (शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस को मिलाकर) का समर्थन नहीं करता है, और यह कि व्यवस्था बहुमत खो दिया है, जिसके परिणामस्वरूप अविश्वास प्रस्ताव आएगा।

उन्होंने कहा, “विधानसभा उपाध्यक्ष द्वारा चौधरी को शिंदे की जगह सदन में शिवसेना समूह के नेता के रूप में नियुक्त करने के निर्णय का अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया को तेज करके एक प्रारंभिक प्रभाव हो सकता है। उन्होंने कहा कि शिवसेना के नेतृत्व वाली एमवीए सरकार यह कह सकती है कि उसके पास बहुमत साबित करने और विश्वास मत का आह्वान करने के लिए संख्या है।

भारत ने गेहूं के निर्यात पर लगाई रोक, तो रूस के पास पहुंचा बांग्लादेश

अने ने कहा कि एक बार यह पूरी तरह से स्थापित हो जाने के बाद कि विद्रोही समूह के पास आवश्यक संख्या है, शक्ति परीक्षण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। एक बार यह स्थापित हो जाने के बाद, यह संकेत देगा कि एमवीए ने बहुमत खो दिया है। भाजपा के साथ विद्रोही समूह सरकार बनाने का दावा पेश कर सकता है, जिसके बाद राज्यपाल शक्ति परीक्षण की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि असली शिवसेना कौन है और धनुष-बाण के प्रतीक का दावेदार कौन है, इस सवाल का फैसला भारत के चुनाव आयोग (ईसीआई) द्वारा नहीं किया जा सकता है।

खाने के तेल की कीमतों में गिरावट, घटे 15-20 रुपये प्रति लीटर

Related Post

Vice President Venkayya Naidu

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने सपरिवार भगवान वेंकटेश्वर के किए दर्शन

Posted by - March 5, 2021 0
चित्तूर । उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Vice President Venkayya Naidu) ने सपरिवार भगवान वेंकटेश्वर स्वामी के दर्शन किए। उपराष्ट्रपति ने देश…

कोविड काल में अनाथ हुई युवतियों की शादी करवाएगी यूपी सरकार!

Posted by - August 13, 2021 0
उत्तर प्रदेश सरकार ने कोविड काल के दौरान अनाथ युवतियों की शादी कराने का फैसला लिया है। प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री बाल…
दूसरे दिन 100 से अधिक शोध पत्रों का किया प्रस्तुतीकरण

दूसरे दिन 100 से अधिक शोध पत्रों का किया प्रस्तुतीकरण

Posted by - March 18, 2021 0
प्रो. अनिल शुक्ला पूर्व कुलपति, एमजेपी रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय बरेली ने कहा कि शारीरिक शिक्षा और खेल नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति…