first woman fighter pilot

भावना कांत बनी गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होने वाली पहली महिला फाइटर पायलट

1092 0

 

भारतीय वायु सेना में लड़ाकू पायलट की श्रेणी में चुनी गयीं फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कांत का हर तरह का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है और वह मिशन पर जाने के लिए हर तरह से तैयार हैं। उन्होंने देश के प्रमुख लड़ाकू विमान मिग-21 बाइसन पर अपने प्रशिक्षण की अंतिम उड़ान को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। वायु सेना ने कहा है कि वह भावना पहली महिला लड़ाकू पायलट हैं जो मिशन पर जाने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। इस तरह इस महिला अफसर ने ऐतिहासिक और बड़ी उपलब्धि हासिल की है। साथ ही गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होने वाली वह पहली लड़ाकू विमान पायलट बन गयी हैं।

सोने और चांदी के दाम में गिरावट, जानें आज की कीमत


भावना कांत ने पिछले वर्ष मार्च में मिग-21 बाइसन विमान पर अकेले पहली बार उड़ान भरी थी। मिग-21 बाइसन वही लड़ाकू विमान है जिससे विंग कमांडर वर्तमान अभिनंदन ने गत 27 फरवरी को पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। परिश्रम और समर्पण के बल पर वह यह उपलब्धि हासिल करने वाली पहली महिला लड़ाकू विमान पायलट बन गयी है।

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने को लेकर भावना कांत ने कहा कि वे बचपन से टीवी पर गणतंत्र दिवस परेड देखती आ रही हैं और अब परेड का हिस्सा बनना उनके लिए बेहद सम्मान की बात है। उन्होंने कहा कि वे फ़िलहाल मिग- 21 बाइसन को उड़ाती हैं और आगे सभी तरह के फाइटर एयरक्राफ्ट उड़ाना चाहती हैं।

अमितााभ बच्चन ने ‘कौन बनेगा करोड़पति 12’ की शूटिंग पूरी की, रिटायर होने का किया ऐलान


भावना कांत को साल 2020 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नारी शक्ति पुरस्कार से भी सम्मानित किया था। सम्मान पाने के उपरांत भावना कांत ने कहा था कि ये सम्मान उनकी लगन और मेहनत का ही नतीजा है। इससे उन सभी महिलाओं को भी प्रोत्साहन मिलता है, जो भविष्य में कुछ बनने का सपना देखती हैं।

 

Related Post

त्योहार के मौके पर योगी सरकार ने सरकारी अफसरों की छुट्टी पर लगाई रोक

Posted by - October 31, 2020 0
राष्ट्रीय डेस्क.   उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आने वाले त्योहार के मौके पर सरकारी अफसरों की छुट्टी…
शाहीन बाग

शाहीन बाग: 40 दिनों बाद पुलिस की कार्रवाई शुरू, 7-8 लोगों को मंच से उठाकर पहुंचाया थाने

Posted by - January 24, 2020 0
नई दिल्ली। पिछले 40 दिनों से दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाएं नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ लगातार प्रदर्शन…