पूर्व मंंत्री रविशंकर के रहते हुए IT मंत्रालय में हुआ बड़ा घोटाला!

236 0

मोदी सरकार के मंत्रीमंडल से हटाए गए आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद पर कांग्रेस हमलावर है, कैग की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए घोटाले का आरोप लगाया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिनी मंत्रालय पर कैग की रिपोर्ट भारी अनियमितता का खुलासा करती है।उन्होंने पूछा क्या दूर संचार विभाग और सरकार ने बिना निविदा के ठेके दिए, क्या बिना किसी करार के ही करोड़ों रुपए भुगतान किए गए, इसका जिम्मेदार कौन है।

सीएजी की रिपोर्ट के मुताबिक बिहार की प्राइवेट कंपनी को बिना आधिकारिक समझौते और टेंडर जारी किए बिना ही काम सौंप दिया गया था। कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा एक निजी संस्था न सिर्फ सरकारी परिसर में काम कर रही थी बल्कि अशोक स्तंभ का भी इस्तेमाल ऐसे कर रही थी जैसे सरकारी कंपनी हो।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय पर कैग की रिपोर्ट भारी अनियमितताओं का खुलासा करती है। क्या दूरसंचार विभाग और भारत सरकार ने बिना निविदा के ठेके दिए? क्या बिना किसी औपचारिक करार के करोड़ों रुपये का भुगतान किया जा सकता है? इसके लिए जिम्मेदार कौन है? क्या सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री जवाब देंगे?’’

यूपी विधानसभा चुनाव के समर में उतरी मायावती, 23 जुलाई से ब्राह्मण सम्मेलन करेंगी बसपा

बताया गया है कि सीएजी की रिपोर्ट में बिहार के एक मामले का जिक्र किया गया है, जहां प्राइवेट कंपनी को बिना किसी आधिकारिक समझौते और टेंडर जारी किए बिना काम सौंप दिया गया था। इस का जिक्र करते हुए पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, ‘‘कैग की एक अंतरिम रिपोर्ट में यह कहा गया है कि जुलाई, 2019 से दिसंबर, 2020 तक इस मंत्रालय के तहत करोड़ों रुपये फाइबर केबल के रखरखाव और परिचालन के लिए सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) को दिए गए।’’

Related Post

ईवीएम

बसपा सुप्रीमो ने एक बार फिर ईवीएम का मुद्दा उठाते हुए बीजेपी पर बोला हमला

Posted by - April 12, 2019 0
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर ईवीएम का मुद्दा उठाते हुए बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट…