2017 से पहले किसान मजबूर होकर करते थे आत्महत्या : योगी

54 0

प्रदेश में वर्ष 2017 से पहले अराजकता का माहौल था। किसान मजबूर होकर आत्महत्या करते थे। उनके उत्पाद क्रय की कोई व्यवस्था नहीं थी। जनता भूख से मरती थी। चीनी मिलों द्वारा किसानों को समय से भुगतान नहीं किया जाता था। यह बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने मैजापुर चीनी मिल के एथेनॉल प्लांट का शिलान्यास करते हुए उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा।

उन्होंने कहा कि मोदी जी के मार्गदर्शन में सरकार ने प्रदेश की तकदीर व तस्वीर बदलने का काम किया है। कहा कि पहले केवल गेहूं के क्रय केंद्र स्थापित होते थे। सरकार ने दलहन तिलहन सहित सभी उपज के क्रय की व्यवस्था की है। पिछले सत्र में अकेले आपके जनपद में 92000 कुंतल की खरीद हुई थी।

40 हजार कुंतल की होगी अब रोज पेराई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा गन्ना किसानों की सुविधा के लिए मैजापुर चीनी मिल ने अपने पेराई क्षमता का विस्तार किया है। अभी तक एक दिन में 32 हजार कुंतल की पेराई होती थी जिसको बढ़ाकर 40 हजार किया गया है। कहा कि यहां पर 15 मेगा वाट क्षमता की नया विद्युत संयंत्र लग रहा है। विकास की एक नई आभा के साथ पूरा क्षेत्र जगमग होगा। इस क्षेत्र में रोजगार के कई रास्ते खुलेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण रूस व चीन की स्थिति कितनी खराब है। लेकिन आपकी आस्था के आगे कोरोना परास्त हुआ है। पूरी उमंग के साथ दुर्गा पूजा दशहरा छठ का पर्व हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया।

प्रदेश को बुआ- बबुआ नहीं बाबा चाहिए : राजनाथ

अन्नदाता अब गन्ना उत्पादन के साथ-साथ एथेनाल के रूप में डीजल व पेट्रोल का उत्पादन करने जा रहा है। यहां पर एथेनॉल प्लांट लगने से रोजगार की भी अपार संभावनाएं बनेंगी। इससे पहले पेट्रोल के नाम पर पैसा खर्च होता था जब मर्जी होती थी तब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ जाते थे। इसका एक छोटा सा हिस्सा भारत विरोधी गतिविधियों में काम करने वाले लोग मुनादी के रूप में ले जाते थे। इसका मतलब हमारा ही पैसा हमारे खिलाफ कैसे दुरुपयोग होता था। डीजल और पेट्रोल पर खर्च होने वाला पैसा हमारे ही जेब से निकाला जाता था। अब हम एथेनॉल उत्पादन के माध्यम से जो पैसा विदेश में जाता था, वह पैसा हमारे अन्नदाता की जेब में जाएगा।

अब तक 15 करोड़ लोगों को लगाई जा चुकी कोरोना वैक्सीन

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में अब तक 15.30 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा चुकी है। विदेशों में कोई कल्पना ही नहीं कर सकता है। वहां के लोग पूछते हैं कि क्या यह वैक्सीन भारत में है। हम ने जवाब दिया कि अब तक साढ़े 15 करोड़ लोगों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

Related Post

सीएम योगी ने लखनऊ में सात मंजिला विशिष्ट अतिथि गृह का किया लोकार्पण

Posted by - October 21, 2021 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को लखनऊ में अति विशिष्ट अतिथियों के ठहरने के लिए अति…
उत्तर प्रदेश की राजधानी में गांजा तस्कर हुए गिरफ्तार 

उत्तर प्रदेश की राजधानी में गांजा तस्कर हुए गिरफ्तार 

Posted by - March 30, 2021 0
राजधानी के थाना आशियाना व कैंट में एनडीपीएस एक्ट में दर्ज मुकदमे के फरार वांछित अभियुक्त अंतर्जनपदीय गांजा तस्कर को  नगराम पुलिस द्वारा सोमवार शाम  चार किलो 100 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया है। इंस्पेक्टर नगराम के अनुसार गिरफ्तार आरोपी के विरूद्ध एनडीपीएस एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। प्रभारी निरीक्षक थाना नगराम मोहम्मद अशरफ ने बताया कि शाह मोहम्मदपुर अपैया निवासी  विनीत कुमार जायसवाल गांजा का अंतर्जनपदीय तस्कर है। इसके विरुद्ध राज्य के विभिन्न जनपदों में मुकदमे पंजीकृत हैं। पूर्व में भी उसके पास से भारी मात्रा में गांजा बरामद हो चुका है।  वर्ष 2015 में इसे उन्नाव के सोहरामऊ थाने में 50 किलो गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया था। वर्ष 2016 में अभियुक्त विनीत जायसवाल व इसके गिरोह के सदस्यों को  जनपद कौशांबी  के थाना पूरामुफ्ती  में 868 किलो गांजा के साथ व इसी वर्ष  कौशांबी के ही थाना सैनी में 1432 किलो गांजा के साथ  गिरफ्तार किया गया था। सड़क हादसों में आधा दर्जन की हुई मौत वर्ष 2018  में नारकोटिक्स सेल लखनऊ द्वारा विनीत जायसवाल व इसके गैंग के सदस्यों को 40 किलो  गांजा के साथ गिरफ्तार कर एनडीपीएस एक्ट की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। वर्ष 2020 में राजधानी के थाना आशियाना व थाना कैंट में एनडीपीएस एक्ट के दर्ज मुकदमे में आरोपी विनीत जायसवाल फरार चल रहा था जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस आयुक्त लखनऊ व पुलिस उपायुक्त दक्षिणी द्वारा विशेष निर्देश जारी किए गए थे। नगराम पुलिस द्वारा काफी दिनों से इसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे थे, सोमवार की शाम उप निरीक्षक राजेश कुमार यादव, उमाशंकर सिंह सिपाही राजीव पांडे अंबिकेश तिवारी व मोहम्मद याकूब द्वारा नगराम पेट्रोल पंप के पास नहर पुलिया से आगे विनीत जायसवाल को अवैध गांजे के साथ दबोच लिया गया। वजन करने पर गांजे का वजन चार किलो 100 ग्राम निकला। आरोपी युवक को पकड़ कर थाने लाया गया जहां पूछताछ करने पर आरोपी विनीत कुमार जायसवाल ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि वह मध्य प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश व नेपाल से अवैध गांजे की तस्करी कर आसपास के जिलों में सप्लाई करता है। अभियुक्त अवैध रूप से गांजे की तस्करी व बिक्री करने का अ•यस्त अपराधी है तथा नगराम थाने का प्रचलित हिस्ट्रीशीटर है इसके परिवार में भाई जितेंद्र कुमार जायसवाल व मां चंद्रावती जायसवाल अवैध गांजा तस्करी में संलिप्त रहती हैं। इसके द्वारा अवैध गांजा की तस्करी से अर्जित की गई दौलत से बनाई गई संपत्ति का पता लगाया जा रहा है।