नाभि में तेल

नाभि में तेल लगाने से कई रोगों में लाभदायक, बढ़ती है आंख की रोशनी

191 0

नई दिल्ली। नाभि शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। इसको शरीर का केंद्र भी माना गया है क्योंकि नाभि से ही शरीर की सभी तंत्रिकाएं जुड़ी हुई होती हैं। इसलिए नाभि पर सरसों और अरंडी का तेल लगाने से कई तरह की रोगों और समस्याओं में तुरंत आराम मिलता है।

नाभि पर तेल लगाने के फायदे

सर्दियों में कई लोगों को खुश्की की समस्या होने लगती है। क्रीम लगाने और दवा खाने के बाद भी इस समस्या से मुक्ति नहीं मिलती है। जिन लोगों को ऐसी समस्या है उन्हें नाभि में सरसों का तेल लगाना चाहिए। सुबह के समय नहाने से पहले नाभि पर तेल लगाने से काफी आराम मिलता है। होंठों का चटकना भी बंद हो जाता है।

उबला हुआ संतरा खांसी को पलभर में खत्म करेगा , ऐसे करें प्रयोग 

वहीं स्कीन से जुड़ी समस्याओं को भी दूर करने में मदद मिलती है। त्वचा का सूखापन भी नाभि में तेल लगाने से दूर होता है। इतना ही नहीं नही जो लोग प्रतिदिन नाभि में तेल लगाते हैं उनकी आंखों की रोशनी भी तेज होती है। नाभि पर तेल की बूंदे डालने से शुष्क तंत्रिकाएं भी सक्रिय हो जाती है जिससे रक्त संचार सही बना रहता है।

जिन लोगों को जोड़ों में दर्द की समस्या रहती है उन लोगों को रात में सोने से पहले नाभि में अरंडी का तेल यानि केस्टर ऑयल की तीन-चार बूंदे डालनी चाहिए। ऐसा नियमित करने से जोड़ों के दर्द में भी आराम मिलता है। वहीं हड्डियों में रहने वाले दर्द में आराम मिलता है। महिलाओं को खास तौर से इस उपाय को अपनाना चाहिए। नाभि में तेल की बूंदे डालने से मस्तिष्क की कई तंत्रिकाओं की मसाज होती है जिससे तनाव दूर होता है नींद न आने की समस्या भी दूर होती है। नाभि में तेल लगाने के बाद कुछ मिनट धूप में बैठने से विशेष फायदा मिलता है, इससे आंखों की कमजोरी को दूर करने में मदद मिलती है।

Loading...
loading...

Related Post

सिप्रमी

सिप्ला ने ‘कोविड-19’  के उपचार के लिए बाजार में उतारी ‘ सिप्रमी’

Posted by - June 22, 2020 0
मुम्बई। भारतीय दवा निर्माता कंपनी सिप्ला ने ‘कोविड-19’ के संक्रमितों के उपचार के लिए सिप्रमी के ब्रांड नाम से जेनेरिक…