world wildlife day

लखनऊ में मनाया जा रहा विश्व वन्यजीव दिवस

468 0

लखनऊ । लुप्त हो रहे जंगल और वन्यजीवों को बचाने के लिए हर साल 3 मार्च को विश्व वन्यजीव दिवस (world wildlife day) के रूप में मनाया जाता है। हर वर्ष इसकी अलग-अलग थीम होती है और इस वर्ष के वन्यजीव दिवस की थीम है ‘आजीविका लोग और ग्रह।

प्रदेश की मंडियां को प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार

साल 2013 से प्रत्येक वर्ष 3 मार्च को यानि आज के दिन विश्व वन्यजीव दिवस (world wildlife day)  के रूप में मनाया जाता है। इस दिन देश और दुनिया में लोगों को अलग-अलग थीम के माध्यम से प्रकृति से विलुप्त हो रहे जीव, जंगलों के संरक्षण करने में प्राकृतिक संसाधनों के स्थाई उपयोग और टिकाऊ प्रबंध को सुनिश्चित करने में जैविक विविधता के नुकसान को रोकने के लिए जागरूक किया जाता है। हर वर्ष इसकी अलग-अलग थीम होती है और इस वर्ष के वन्यजीव दिवस की थीम है ‘आजीविका लोग और ग्रह।

पर्यावरणविद सुशील द्विवेदी ने बताया कि जानवरों के लगातार हो रहे शिकार और मानव एवं वन्यजीवों के बीच चल रहे संघर्ष ने कई जातियों के अस्तित्व को संकट में डाल दिया है। वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया की एक नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार मनुष्य और वन्यजीवों के बीच टकराव तथा संघर्ष लगातार बढ़ रहा था। इंसानी आबादी का बढ़ता दबाव वन्यजीवों के लिए मुसीबत बनता जा रहा है, क्योंकि जंगल कम हो रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार विश्व के कार्बन उत्सर्जन का 80% समुद्र एवं जंगल सोकते हैं।  धरती के फेफड़े कहे जाने वाले अमेजन एवं ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग से जैव विविधता को बहुत नुकसान हुआ है। बढ़ते वैश्विक ताप के कारण पहाड़ों की बर्फ पिघलने से समुद्री जलस्तर बढ़ रहा है, जो समुद्र तटीय देशों के अस्तित्व पर एक संकट के रूप में खड़ा है। मनुष्य की आर्थिक संसाधनों को जुटाने की लालसा में वनस्पतियों का अंधाधुंध दोहन किया गया है।

जंगलों के खत्म होने से भारत के राष्ट्रीय पशु समेत कई वन्यजीव या तो लुप्त हो चुके हैं या फिर लुप्त होने की कगार पर हैं। दांत, खाल, नाखून , सींग और हड्डियों के लिए हाथी, बाघ, हिरण, गैंडा, मोर आदि का खूब शिकार किया गया। गोरैया भी अब बहुत कम ही दिखाई पड़ती है। खेतों से अधिकाधिक फसल उत्पादन लेने के लिए अंधाधुंध रासायनिक उर्वरकों एवं कीटनाशकों के प्रयोग के कारण न केवल मृदा जीवन हीन हुई है, बल्कि केंचुआ और मेंढक भी गहराई में समाहित हो गए हैं।

Related Post

Health Services

स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतर सुधार के लिए दिल्ली में यूपी हुआ सम्मानित

Posted by - September 26, 2022 0
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) की स्वास्थ्य सेवाओं (Health Services) में सुधार की प्राथमिकता राष्ट्रीय स्तर पर भी सराही…
CM Yogi

उप्र में कृत्रिम रेत से बनेंगे मकान, योगी सरकार जल्द लाएगी मैन्युफैक्चर्ड सैंड पॉलिसी

Posted by - May 31, 2023 0
लखनऊ। तेजी से शहरीकरण और बड़े पैमाने पर निर्माण गतिविधियों के कारण रेत की मांग में जबरदस्त वृद्धि हुई है।…
cm yogi in assam

कांग्रेस नेतृत्व कभी सुधरने वाला नहीं है, उसे छोड़ दें अपने हाल पर : योगी आदित्यनाथ

Posted by - March 23, 2021 0
असम।  पांचों राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखें जैसे-जैसे नजदीक आ रही हैं, वैसे-वैसे पार्टियों के बीच चुनावी…