कोरोनावायरस से जूझ रहा अमेरिका

US: कल होगा राष्ट्रपति पद के लिए मतदान, जानें इससे जुड़ीं जरूरी बातें

206 0

अंतर्राष्ट्रीय डेस्क.   कल 3 नवम्बर को अमेरिका में 45वें राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ा जाएगा जिसपर दुनिया भर की निगाहें हैं. देखना है की डोनाल्ड ट्रम्प राष्ट्रपति बने रहेंगे या उनकी जगह डेमोक्रेट पार्टी के जो बाइडेन राष्ट्रपति पद की कमान संभालेगे. डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार व वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप काफी समय से प्रचार में पूरे जी-जान से लगे हुए है और हर संभव प्रयास कर रहे है इस इलेक्शन को जीतने के लिए. आइये इस इलेक्शन कुछ जरूरी बातों को जानते है.

पैगंबर के कार्टून पर कनाडा पीएम ट्रूडो ने कहा कि- इसकी भी एक सीमा है!

ट्रंप और बाइडेन की टक्कर

इस बार मुकाबला रिपब्लिकन प्रत्याशी व् राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक प्रत्याशी जो बाइडेन के बीच है. बाइडेन डेमोक्रेट प्रत्याशी बराक ओबामा के शासनकाल में उप राष्ट्रपति थे. राष्ट्रपति पद के लिए घोषित पार्टी प्रत्याशी वाइस प्रेसीडेंट के लिए अपनी पसंद भी घोषित करते है. बाइडेन ने कमला हैरिस को और ट्रंप ने मौजूदा उप राष्ट्रपति माइक पेंस को चुना है. जो भी राष्ट्रपति चुनाव जाएगा, उसी पार्टी का वाइस प्रेसीडेंट भी होगा.

मतदान कब शुरू होगा 

अमेरिकी समयानुसार वोटिंग सुबह 6 बजे और भारतीय समयानुसार बुधवार दोपहर 3.30 बजे शुरू होगी. भारतीय समयानुसार अमेरिकी चुनाव में मतदान गुरुवार सुबह 6.30 बजे पूरा होगा. रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप औऱ डेमोक्रेट जो बाइडेन भी चुनाव वाले दिन ही वोट करेंगे.

अहम् बाते

33 करोड़ के करीब अमेरिका की आबादी
23 करोड़ वैध वोटर राष्ट्रपति चुनाव में
40 लाख कर चुके मतदान पोस्टल बैलेट से
32 साल से प्रेसिडेंट के दो टर्म का सिलसिला

परिणाम कब आएंगे

अमेरिकी चुनाव में इस बार 23.9 करोड़ मतदाता हैं, लेकिन 3 नवंबर को मतदान के आधिकारिक पहले ही 9.2 करोड़ लोग पोस्टल बैलेट या अर्ली वोटिंग के जरिये वोट दे चुके हैं. यानी 38 फीसदी वोट पहले ही पड़ चुके हैं. यह 2016 के चुनाव का दो तिहाई से भी ज्यादा है. अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो 4 नवंबर शाम तक यह साफ हो जाएगा कि आखिर बाजी किसने जीती है.

अधिकतम 8 साल कार्यकाल

अमेरिका में राष्ट्रपति का कार्यकाल अधिकतम आठ वर्ष हो सकता है. यानी कोई भी व्यक्ति दो बार राष्ट्रपति रह सकता है.

ट्रंप हारे तो 32 साल का रिकॉर्ड टूटेगा

अगर डोनाल्ड ट्रंप चुनाव हारते हैं तो 1988 में जॉर्ज बुश सीनियर के बाद पहले राष्ट्रपति होंगे, जिन्हें दूसरा कार्यकाल नहीं मिला. 1989-1993 तक सीनियर बुश के शासन के बाद बिल क्लिंटन (डेमोक्रेट), जॉर्ज बुश (रिपब्लिकन) और बराक ओबामा (डेमोक्रेट) क्रमश – आठ साल राष्ट्रपति रहे. ट्रंप अपना चार साल का एक टर्म पूरा कर चुके हैं.

बाइडेन जीते तो सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति होंगे

ट्रंप की उम्र 74 वर्ष और बाइडेन 78 साल के हैं, अगर बाइडेन को जीत हासिल होती है तो वह अमेरिकी चुनाव में सबसे उम्रदराज प्रेसिडेंट होंगे.

यहां जान सकते हैं रुझान

BBC, CNN, एबीसी न्यूज, अलजजीरा, फ्रांस24 जैसे कई विदेशी समाचार चैनल अमेरिका चुनाव की पूरी प्रक्रिया का लाइव प्रसारण करने वाले हैं. इन चैनलों पर राज्यवार रुझान भी जारी होंगे.

ज्यादा वोट पाने वाला राष्ट्रपति हो जरूरी नहीं

अमेरिका में जनता सीधे राष्ट्रपति नहीं चुनती, यानी जो पूरे देश में सबसे ज्यादा वोट पाए वह राष्ट्रपति घोषित हो यह जरूरी नहीं है. राष्ट्रपति का फैसला निर्वाचक वोटों से होता है. पूरे देश में 538 इलेक्टोरल कॉलेज हैं. हर राज्य के अपने इलेक्टोरल कॉलेज तय हैं, जैसे कैलीफोर्निया में 55. कैलीफोर्निया में जिस प्रत्याशी को सबसे ज्यादा वोट मिलेंगे. उसे ये पूरे 55 निर्वाचक वोट मिल जाएंगे. 2016 में ट्रंप से ज्यादा वोट पाने के बावजूद डेमोक्रेटिक प्रत्याशी हिलेरी क्लिंटन प्रेसिडेंट नहीं बन पाईं.

Loading...
loading...

Related Post

उमर अब्दुल्ला पर भड़के गौतम गंभीर

उमर अब्दुल्ला पर भड़के पूर्व क्रिकेटर, कहा- ‘पाकिस्तान चले जाएं पूर्व सीएम’

Posted by - April 2, 2019 0
स्पोर्ट्स डेस्क।  बीजेपी में शामिल हुए पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने मंगलवार यानी आज नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर…
राजनाथ सिंह

पाकिस्तान भारत से आतंकवाद के सहारे लड़ रहा है छद्म युद्ध : राजनाथ सिंह

Posted by - November 30, 2019 0
नई दिल्ली। केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को पुणे में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के 137वें कोर्स की पासिंग आउट परेड…
जानें गर्लफ्रेंड कब और कैसे होती है खुश?

स्टडी में खुलासा, जानें गर्लफ्रेंड कब और कैसे होती है सबसे ज्यादा खुश?

Posted by - January 14, 2020 0
नई दिल्ली। गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड का रिश्ता बहुत ही खट्टा और मीठा होता है। बॉयफ्रेंड कई कोशिशें करता है ताकि गर्लफ्रेंड को…
नागरिकता संशोधन कानून

Flashback 2019 : नागरिकता संशोधन कानून छह राज्यों का लागू करने से इनकार

Posted by - December 13, 2019 0
नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर जहां विपक्षी पार्टियां लगातार विरोध कर रहीं हैं। इसके साथ ही पूर्वोत्तर भारत…