मायावती का भतीजे आकाश आनंद पर भरोसा

मायावती का भतीजे आकाश आनंद पर भरोसा, सौंपी ये बड़ी जिम्मेदारी

701 0

नई दिल्ली। बसपा अध्यक्ष मायावती ने यूपी सहित सभी राज्यों की भंग प्रदेश इकाईयों के गठन की प्रक्रिया जल्द शुरू करने को कहा है। इस कार्य की निगरानी का जिम्मा पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं आकाश आनंद और रामजी गौतम को सौंपी है।

मुसलमानों को किया आगाह, बोलीं- पूरी सूझबूझ से काम लें

बसपा की शनिवार को विशेष राष्ट्रीय बैठक को संबोधित करते हुए मायावती ने मुसलमानों से अपील की कि वे भावनाओं में न बहें, बल्कि मौके की नजाकत को समझते हुए पूरी सूझबूझ से काम लें। क्योंकि कांग्रेस ने पहले ‘इमोशनल’ राजनीति करके मुस्लिम समाज का लगातार घोर शोषण किया है। उन्होंने कहा कि अब भाजपा उनसे दो कदम आगे बढ़कर उनकी भावनाओं को लगातार भड़काने वाला काम करके उन्हें नये-नये तरीके से प्रताड़ित कर रही है। इसके विरुद्ध भी बसपा का संघर्ष हमेशा की तरह अब भी लगातार जारी है और आगे भी जारी रहेगा।

भतीजे आनंद को दी ये बड़ी जिम्मेदारी

करीब सवा दो घण्टे तक चली बैठक में बसपा सांसदों और विधायकों सहित अन्य नेताओं ने भाग लिया है। इस दौरान बसपा प्रमुख ने सभी राज्यों की भंग चल रही प्रदेश इकाईयों के गठन की प्रक्रिया शुरू करने को कहा है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, उन्होंने गौतम और अपने भतीजे आनंद की निगरानी में उत्तर प्रदेश की जिला और ब्लॉक स्तरीय इकाईयों का गठन करने को कहा है।

श्री श्याम निशानोत्सव : श्याम भक्तों को लगा चस्का श्याम से यारी करने का 

मायावती ने कार्यकर्ताओं को दी नसीहत

बसपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली को जिला व ब्लॉक इकाईयों में पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ताओं को उपयुक्त जगह देकर पार्टी के आंदोलन को जमीनी स्तर पर मजबूत बनाने को कहा है। बैठक में पार्टी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा के अलावा उत्तर प्रदेश के सभी बसपा सांसद और विधायक भी मौजूद थे।

दिल्ली चुनाव का दिया उदाहरण

बसपा के एक नेता ने बताया कि मायावती ने पार्टी नेताओं को हाल ही में दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की जीत का जिक्र करते हुये कहा कि आप ने बसपा के मिशन के रास्ते पर चल कर ही चुनाव में जीत हासिल की है। उन्होंने इसी तर्ज पर उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों में बसपा के आंदोलन को मजबूत करने का पार्टी नेताओं को निर्देश दिया।

इसके अलावा उन्होंने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) के मुद्दे पर पार्टी नेताओं से प्रतिरोध जारी रखने की जरूरत पर बल दिया है। इसके साथ ही मायावती ने पार्टी नेताओं से पार्टी कार्यकर्ताओं को यह संदेश देने के लिये भी कहा कि वे अपना प्रतिरोध जारी रखें, लेकिन कानून हाथ में लेकर नहीं।

Related Post

dhami

मुख्यमंत्री ने सीमान्त नीती घाटी पहुंचकर हर घर तिरंगा कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

Posted by - August 10, 2022 0
मलारी/जोशीमठ। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Dhami) ने बुधवार को सीमांत गांव मलारी में भारतीय सेना, आईटीबीपी (हिमवीर), सीमा सड़क संगठन…
Akhilesh Yadav

अखिलेश यादव कोरोना संक्रमित, खुद को आइसोलेट कर किया ट्वीट…

Posted by - April 14, 2021 0
लखनऊ। सपा अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी है। उन्होंने…
Republic day

Republic day 2020 : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का राष्ट्र के नाम संबोधन शाम सात बजे

Posted by - January 25, 2020 0
नई दिल्ली। भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 71वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शनिवार को राष्ट्र को संबोधित करेंगे।…