CIMAP

सुगंधित तेलों के उत्पाद के निर्यात में सीमैप की महत्वपूर्ण भूमिका

518 0

लखनऊ। सीएसआईआर-सीमैप (CSIR-CIMAP) में 20 दिवसीय किसान मेले में शुक्रवार को सीएसआईआर-सीमैप (CSIR-CIMAP) के निदेशक डॉ. प्रबोध कुमार त्रिवेदी ने कृषकों व अतिथियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह किसानों ने सीमैप द्वारा विकसित मेंथा की तकनीकियों व प्रजातियों को अपनाकर भारत को आत्मनिर्भर बनाया है। इसी तरह कुछ और महत्वपूर्ण सगंधीय तेलों जैसे खस, नीबूघास, पामारोजा एवं जिरेनियम आदि तेलों के उत्पादन में भी भारत को आत्मनिर्भर बनाना होगा।

सुशांत राजपूत के जन्मदिन पर भावुक हुईं बहन श्वेता, शेयर की खास तस्वीरें

डॉ. प्रबोध कुमार त्रिवेदी ने कहा कि विदेशों को निर्यात करने की स्थिति में पहुंचाना होगा । किसान मेले में पधारे कैंकोर इंग्रेडिएंट्स प्राइवेट लिमिटेडए बरेली के विक्रम ने किसान मेला मे आए किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि यदि किसान ग्रुप बनाकर किसी भी फसल की खेती करते हैं । तो खरीददार को कच्चा माल एक ही स्थान पर मिल जाता है। जिससे किसान व उद्योग दोनों के समय व आर्थिक बचत हो जाती है । उन्होंने आगे कहा कि किसान सीमैप से अच्छी गुणवत्ता की पौध सामग्री ले जाएँ और गुणवत्ता युक्त उत्पादन करें और अच्छा लाभ प्राप्त करें ।

फूलों को लंबे समय तक फ्रेश बनाए रखने में ये टिप्‍स होंगी मददगार

जमील अहमद, अजमल बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड, मुंबई ने किसानों द्वारा उत्पादित तेल को खरीदने का आश्वासन दिया और कहा कि यह कंपनी लखनऊ मे एक कलेक्शन सेंटर बनाएगी, जिससे कि कम मात्रा में तेल का उत्पादन करने वाले किसानों को सुविधा जनक बाजार मिल सके। किसान गोष्ठी में डॉ. सुदीप टंडन, डॉ. राम स्वरूप वर्मा, डॉ सौदान सिंह, डॉ राजेश वर्मा, डॉ संतोष कुमार केदार, श्री दीपक कुमार वर्मा, श्री मनोज कुमार यादव ने किसानों को संबोधित किया । कार्यक्रम के शुरुआत में डॉ. संजय कुमार ने उपस्थित किसान, वैज्ञानिक, उद्यमी सभी का स्वागत किया । कार्यक्रम का संचालन डॉ. ऋषिकेश व डॉ.राम सुरेश शर्मा ने किया ।

Loading...
loading...

Related Post

दिल बेचारा

‘दिल बेचारा’ रिलीज से पहले संजना सांघी हुईं इमोशनल, सुशांत के लिए कही ये बात

Posted by - July 22, 2020 0
मुंबई। बॉलीवुड के दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ शुक्रवार 24 जुलाई को ओटीटी प्लेटफॉर्म डिज्नी…