सीमा विवाद से मिजोरम में दवाओं की कमी, असम की नाकेबंदी खुलवाने के लिए PM को लिखा पत्र

138 0

मिजोरम के स्वास्थ्य मंत्री ललथंगलियाना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह और स्वास्थ्य मंत्रियों से असम के साथ चल रही तनातनी के बीच हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है। दरअसल राज्य आर्थिक नाकेबंदी के कारण जीवन रक्षक और कोविड-19 संबंधित दवाओं सहित अन्य जरूरी दवाओं के गंभीर संकट का सामना कर रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग-306 पर नाकेबंदी के कारण मिजोरम की स्वास्थ्य सेवा चरमरा गई है, जिसे लेकर जिसे लेकर उन्होंने पीएम और मंत्रियों से संज्ञान लेने की अपील की है।

ललथंगलियाना ने बताया कि  ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन संयंत्र सामग्री और कोविड-19 परीक्षण किट भी अवरुद्ध कर दिए गए हैं। मंत्री ने कहा कि इस देश के इतिहास में पहले कभी किसी ने अपने साथी नागरिकों के साथ इस तरह के कठोर और अमानवीय कृत्य का सहारा नहीं लिया है।

मिजोरम के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री आर ललथंगलियाना ने मंगलवार को आइजोल में कहा कि पहाड़ी राज्य महत्वपूर्ण दवाओं के गंभीर संकट का सामना कर रहा है। उन्होंने पीएम मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया से किसी भी स्वास्थ्य संकट को रोकने के लिए जल्द से जल्द हस्तक्षेप करने का आग्रह किया, जो जल्द ही मिजोरम को अपनी चपेट में ले सकता है और जो किसी के भी नियंत्रण से बाहर होगा।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ललथंगलियाना ने प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को अलग-अलग पत्र लिखे हैं, जिनमें राष्ट्रीय राजमार्ग-306 पर आर्थिक नाकाबंदी के कारण दवा संकट का विवरण दिया गया है। यह राजमार्ग पहाड़ी राज्य को असम के माध्यम से देश के बाकी हिस्सों से जोड़ता है।

सरकार ने खत्म किया नौकरियों में भाई-भतीजावाद-भ्रष्टाचार : योगी

स्वास्थ्य मंत्री ललथंगलियाना ने कहा कि 26 जुलाई को सीमा विवाद और संघर्ष के बाद, असम सरकार ने 29 जुलाई को उन सभी ट्रांसपोर्टरों (गुवाहाटी में) को बुला लिया, जो दोनों राज्यों के बीच सुरक्षा चिंताओं के कारण मिजोरम में किसी भी सामान के परिवहन को रोकने के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में आने वाले किसी भी प्रकार के सामान पर पूरी तरह से रोक लग गई, जिसमें बुनियादी दवाएं, जीवन रक्षक दवाएं और कोविड दवाएं भी शामिल हैं। यहां तक कि ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन संयंत्र सामग्री और कोविड-19 परीक्षण किट भी अवरुद्ध कर दिए गए हैं।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post