हंगामे के बीच पास हुआ आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक, आयुध कर्मचारी अब नहीं कर पाएंगे हड़ताल

435 0

विपक्ष के हंगामे और विरोध के बीच सरकार ने संसद के मानसून सत्र में मंगलवार को लोकसभा से दो अहम विधेयक पारित करा लिए।न्यायाधिकरण सुधार विधेयक 2021 और आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक 2021 पारित कराया गया। आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक का उद्देश्य सरकारी आयुध कारखानों के कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से रोकना है।

लोकसभा से बिना किसी चर्चा के ध्वनि मत से पारित कराए गए आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक को विपक्ष ने कठोर बताया है। विपक्ष का कहना है कि  यह कर्मचारियों को उनके लोकतांत्रिक अधिकारों के साथ विरोध करने के अधिकार से वंचित करेगा।

बता दें कि आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक का उद्देश्य सरकारी आयुध कारखानों के कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से रोकना है। देश भर में 41 आयुध कारखानों में लगभग 70,000 लोग काम करते हैं। संसद ने आज दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता (संशोधन) विधेयक, 2021 को राज्यसभा से पारित होने के साथ ही मंजूरी दे दी।

सीमा विवाद से मिजोरम में दवाओं की कमी, असम की नाकेबंदी खुलवाने के लिए PM को लिखा पत्र

बता दें कि आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक का उद्देश्य सरकारी आयुध कारखानों के कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से रोकना है। देश भर में 41 आयुध कारखानों में लगभग 70,000 लोग काम करते हैं। संसद ने आज दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता (संशोधन) विधेयक, 2021 को राज्यसभा से पारित होने के साथ ही मंजूरी दे दी।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

दिल्ली हिंसा

दिल्ली हिंसा : सोनिया गांधी ने गृहमंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

Posted by - February 26, 2020 0
नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली में हुई हिंसा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को जिम्मेदार…

एक और ‘स्टेन स्वामी’! 6 साल से बंद है बुजुर्ग मजदूर नेता, खराब स्वास्थ्य के बावजूद नहीं मिल रही बेल

Posted by - July 10, 2021 0
जेल में बंद आदिवासी अधिकार कार्यकर्ता स्टेन स्वामी की मौत के बाद UAPA को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं।केरल…