Param Bir Singh, Anil Deshmukh

महाराष्ट्र में ‘लेटर बम’ से हडकंप : परमबीर का CM को लेटर, गृह मंत्री पर 100 करोड़ वसूली के आरोप

665 0
मुंबई । मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सचिन वाजे (Sachin Waje) को अनिल देशमुख ने वसूली के लिए कहा था। मीडिया रिपोर्ट्स में इस घटनाक्रम को मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के बाहर जिलेटिन के साथ बरामद एSUV और मनसुख हिरेन की मौत के मामले से जुड़ी अहम कड़ी बताया जा रहा है।

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर- एंटीलिया के बाहर बरामद हुई एसयूवी मामले में अब एक सनसनीखेज मोड़ आ गया है। मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने शनिवार को महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर कथित रूप से आरोप लगाया कि मंत्री उनके टीम मेंबर सचिन वाजे से बार और हुक्का पार्लरों से प्रतिमाह 100 करोड़ रुपये उगाहने को कहा था।

सिंह ने देशमुख की उस टिप्पणी पर भी कड़ा प्रहार किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि महाराष्ट्र होमगार्ड के कमांडेंट-जनरल के रूप में सिंह का ट्रांसफर प्रशासनिक उद्देश्यों के लिए नहीं, बल्कि उनकी टीम द्वारा ‘अक्षम्य चूक’ के लिए था। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( CM Uddhav Thakrey) को लिखे पत्र में परमबीर ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

परमबीर के पत्र में देशमुख पर लगाए गए आरोप वाला हिस्सा

परमबीर के पत्र में देशमुख पर लगाए गए आरोप वाला हिस्सा

परमबीर सिंह (Parambir Singh) के पत्र लिखने का यह मुद्दा शिवसेना-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-कांग्रेस की महा विकास अघाडी (एमवीए) सरकार की नींव को हिला सकती है, लेकिन, कोई भी वरिष्ठ नेता इस मुद्दे पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

परमबीर सिंह का पूरा पत्र

पत्र में सिंह ने बताया है कि उनका स्थानांतरण महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम, 1951, धारा 22 एन (2) के तहत प्रभावी था, इस कारण से कि यह प्रशासन के अधिकारियों द्वारा आवश्यक था, एंटीलिया (एसयूवी मामले) में स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए घटना।

परमबीर सिंह का पत्र (पेज-एक)

परमबीर सिंह का पत्र (पेज-एक)

सिंह (Parambir Singh) ने याद किया कि कैसे उन्होंने ठाकरे, डिप्टी सीएम अजीत पवार, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों को देशमुख द्वारा लिप्त ‘दुष्कर्म और दुर्भावना’ के बारे में बताया था।

परमबीर सिंह का पत्र (पेज-दो)

परमबीर सिंह का पत्र (पेज-दो)

इस संदर्भ में, सिंह ने कहा कि देशमुख ने अपने आधिकारिक निवास ‘ज्ञानेश्वरी’ में कई बार वाजे को बुलाया था और उनसे बार-बार मंत्री के लिए धन एकत्र करने में सहायता करने के लिए कहा था।

परमबीर सिंह का पत्र (पेज-तीन)

परमबीर सिंह का पत्र (पेज-तीन)

सिंह के अनुसार, फरवरी के मध्य में ऐसी एक बैठक में, मंत्री ने वाजे को बताया कि उनका हर महीने 100 करोड़ रुपये इकट्ठा करने का लक्ष्य था और यहां तक कि सलाह दी गई कि मुंबई में 1,750 बार, भोजनालय और अन्य प्रतिष्ठान हैं, अगर 2-3 रुपये, प्रत्येक से लाख इकट्ठा किया गया था, यह लगभग 40-50 करोड़ रुपये हो सकता है, जबकि बाकी अन्य स्रोतों से प्राप्त किया जा सकता है।

गृह मंत्री का दावा- झूठ बोल रहे परमबीर

सिंह पर पलटवार करते हुए देशमुख ने ट्वीट किया कि पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त ने SUV मामले में कार्रवाई और मनसुख हिरेन की मौत से संबंधित मामले में खुद को बचाने के लिए उन पर झूठे आरोप लगाए।

गृह मंत्री देशमुख का ट्वीट

गृह मंत्री देशमुख का ट्वीट

गौरतलब है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA), जो कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली विस्फोटक लदी एसयूवी के मामले की जांच कर रही है, अब ठाणे के कारोबारी मनसुख हिरेन की मौत की भी जांच करेगी।

इससे पहले महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार से शुक्रवार को नई दिल्ली में मुलाकात की। इस दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रदेश प्रमुख जयंत पाटिल और अन्य लोग भी उपस्थित थे। लगभग दो घंटे के बाद बैठक से बाहर आते हुए, देशमुख ने कहा कि उन्होंने एंटीलिया बम मामले की चर्चा की।

देशमुख ने बताया कि NIA और ATS मामले की गहराई से जांच कर रहे हैं। राज्य सरकार एनआईए को पूरा सहयोग कर रही है। दोनों जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि जांच एजेंसियों की रिपोर्ट आने के बाद राज्य सरकार दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करेगी।

हालांकि, उन्होंने एक सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया कि क्या हालिया घटनाक्रम से मुंबई और राज्य पुलिस बलों का मनोबल गिर गया है। बुधवार को क्राइम ब्रांच एपीआई वाजे की गिरफ्तारी की गिरफ्तारी की गई थी।

 जाने क्या है मामला

गौरतलब है कि 25 फरवरी को अंबानी की एंटीलिया इमारत के बाहर एक लावारिस एसयूवी मिली थी, जिसमें जिलेटिन की 20 छड़ें बरामद हुईं। आरोप है कि एसयूवी में वाजे ने ही जिलेटिन रखा था। इन्हीं आरोपों के सिलसिले में वाजे एनआईए और महाराष्ट्र आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) की जांच के घेरे में हैं। इस घटना के बाद पांच मार्च को ठाणे के व्यापारी मनसुख हिरेन की मौत हो गई थी।

उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के बाहर विस्फोटक मिलने के मामले से निपटने को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रहे मुंबई पुलिस के आयुक्त परमबीर सिंह का बुधवार को तबादला कर दिया था। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने कहा कि महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हेमंत नागराले सिंह की जगह मुंबई पुलिस के नए आयुक्त होंगे। सिंह का राज्य के होमगार्ड विभाग में तबादला कर दिया गया है।

मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे (Sachin Waje) को इस मामले में कथित भूमिका के चलते 13 मार्च को गिरफ्तार कर लिया गया था। वह हाल तक मुंबई पुलिस की अपराध शाखा की अपराध खुफिया इकाई से संबद्ध थे।

अधिकारी ने कहा कि NIA  ने वाजे द्वारा इस्तेमाल की गई एक मर्सिडीज कार को मंगलवार को जब्त करके उसमें से पांच लाख रुपये बरामद किये थे। साथ ही जांच एजेंसी ने उनके कार्यालय में तलाशी के दौरान लैपटॉप, आईपैड और मोबाइल फोनों जैसे इलैक्ट्रोनिक सामान और आपत्तिजनक दस्तावेज भी बरामद किये थे।

Related Post

Swami

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन 108 घंटे बाद हुआ खत्म

Posted by - June 8, 2022 0
वाराणसी: ज्ञानवापी (Gyanvapi) परियासर में कथित शिवलिंग (Shivling) की पूजा की मांग को लेकर अन्‍न-जल त्‍याग कर बैठे स्‍वामी अविमुक्‍तेश्‍वरानंद…
Yogi cabinet

आगरा, गाजियाबाद और प्रयागराज में अब पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली

Posted by - November 25, 2022 0
लखनऊ। योगी सरकार (Yogi Government) ने उत्तर प्रदेश के तीन जिलों गाजियाबाद, आगरा और प्रयागराज में भी पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली…

नेशनल काउंसिल की बैठक के दौरान बीजेपी अध्यक्ष ने कांग्रेस पर साधा निशाना

Posted by - January 11, 2019 0
नई दिल्ली। नेशनल काउंसिल की बैठक के दौरान अमित शाह ने कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि…
CM Yogi

अब हर माह होगी थानेदार से लेकर एडीजी तक की समीक्षा, एक-एक दिन का देना होगा हिसाब

Posted by - October 1, 2023 0
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए अधिकारियों को जिला…