fire,Kirti Nagar

सैमसंग के सर्विस सेंटर में लगी भीषण आग

105 0

मुंबई में कांजुरमार्ग के हैवी इंडस्ट्रीयल इस्टेट में स्थित सैमसंग (Samsung) के सर्विस सेंटर में सोमवार की रात लगभग 9 बजे भीषण आग लग गई है। घटनास्थल पर दमकल विभाग की 12 गाड़ियां तथा चार वाटर टैंक आग बुझाने में जुटे हुए हैं। इस घटना में फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिली है।

जानकारी के अनुसार कांजुरमार्ग में स्थित सैमसंग के सर्विस सेंटर में आग लगने की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच गई और आग बुझाने का काम शुरू कर दिया है।

घटनास्थल पर काम कर रहे सभी कर्मचारियों को तत्काल वहां से बाहर निकाल दिया गया है। घटनास्थल के पास ही बड़े पैमाने पर झोपड़पट्टी बसी हुई है, इसलिए फायर ब्रिगेड कर्मी किसी भी तरह आग का प्रसार रोकने का प्रयास कर रहे हैं।

स्थानीय पुलिस उपायुक्त ने बताया कि घटनास्थल पर अभी तक कोई हताहत नहीं हुआ है, आग बुझाने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। अभी आग लगने के कारणों को बताया नहीं जा सकता है।

Related Post

कानपुर के जूही थाने में सजी अपराधियों की महफिल, पुलिस अफसरों का हुआ सम्मान

Posted by - August 17, 2021 0
कानपुर में पुलिस और अपराधियों का गठजोड़ जारी है। जूही थाने में मंगलवार को अपराधियों की महफिल सजी। अपराधियों ने…

पूर्व मंत्री मनोज पाण्डेय जल्द करेगी विजिलेंस

Posted by - February 28, 2021 0
आय से अधिक सम्पत्ति की जांच के लिए उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) शीघ्र ही समाजवादी पार्टी के विधायक एवं पूर्व मंत्री मनोज कुमार पांडेय को बयान दर्ज कराने के लिए शीघ्र ही नोटिस भेजा जाएगा। शासन के आदेश पर विजिलेंस ने उनके विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति की शिकायतों की खुली जांच शुरू कर दी है। गोपनीय जांच में शिकायतें प्रथमदृष्ट्या सही पाए जाने के बाद खुली जांच के आदेश दिए गए हैं।   फतेहपुर : स्वर्गीय इंदिरा गांधी के नजदीकी रहे प्रेमदत्त तिवारी का निधन बिजलेंस के एक अधिकारी ने बताया कि पूर्व मंत्री मनोज पाण्डेय से आय से अधिक सम्पत्ति मामले में पूछताछ की जाएगी। इसके लिए उनको नोटिस भेजा जाएगा। मनोज पांडेय पर अपने क्षेत्र के दलित परिवार की जमीन अवैध ढंग से हथियाने का भी आरोप है। शिकायतें मिलने पर सरकार ने विजिलेंस के माध्यम से पहले गोपनीय जांच कराई। जांच में आरोप प्रथमदृष्ट्या सही पाए गए। जांच रिपोर्ट का परीक्षण करने के बाद शासन ने विजिलेंस को मनोज पांडेय के विरुद्ध खुली जांच करने का आदेश दे दिया। विजिलेंस अब शिकायतों से संबंधित साक्ष्य जुटाने के साथ ही मनोज पांडेय से पूछताछ भी करेगी। खुली जांच में दोषी पाए जाने पर उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा सकती है। रायबरेली जिले की ऊंचाहार सीट से विधायक मनोज पांडेय सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री थे। जांच के शिकंजे में फंसने वाले वह तीसरे पूर्व मंत्री हैं। सपा सरकार में मंत्री रहे मो. आजम खां के विरुद्ध एसआईटी व गायत्री प्रसाद प्रजापति के विरुद्ध विजिलेंस जांच की जांच चल रही है। एसआईटी जल निगम भर्ती घोटाले में मो. आजम खां को दोषी ठहरा चुकी है। गायत्री प्रजापति के विरुद्ध तो आय से अधिक संपत्ति की जांच चल रही है