Covid -19

दिल्ली में कोविड की चौथी लहर ने तोडा रिकॉर्ड, 24 घंटे में बढ़े नए मामले

172 0

नई दिल्ली: दिल्ली में एक बार फिर Covid -19 के मामले बढ़ते जा रहे हैं। 1,934 नए मामलों के साथ दिल्ली के कोविड -19 टैली में पिछले 24 घंटों में दो गुना से अधिक की वृद्धि देखी गई। सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 5,755 हो गई है। वहीं, Covid -19 संक्रमण की दर 8.10% हो गई है। पिछले 24 घंटों में दिल्ली (Delhi) में महामारी से किसी की मौत का मामला सामने नहीं आया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से यहां साझा किए गए आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। इसने कहा कि बुधवार को जांचे गए 23,879 नमूनों में नए मामले सामने आए हैं। दिल्ली में नए कोविड मामलों के साथ, संक्रमणों की कुल संख्या बढ़कर 19,27,394 हो गई है और मरने वालों की संख्या 26,242 है।

दिल्ली सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 1233 लोग इस बीमारी से ठीक हुए हैं. राज्य में कुल सक्रिय मामले बढ़कर 5,755 हो गए हैं। इनमें से 3564 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, केवल 257 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। देश में एक ही दिन में कोविड-19 के 13,313 नए मामले सामने आने के बाद इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 4,33,44,958 हो गई। वहीं इलाजरत मरीजों की संख्या बढ़कर 83,990 हो गई।

मुंबई कोर्ट ने गणेश आचार्य को यौन उत्पीड़न मामले में दी जमानत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गुरुवार सुबह 8 बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार 38 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद भारत में मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,24,941 हो गई। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन रोगियों की संख्या बढ़कर 83,990 हो गई है, जो कुल मामलों का 0.19% है। पिछले 24 घंटे में इलाज कराने वाले मरीजों की संख्या में 2,303 का इजाफा हुआ है।

जम्मू-कश्मीर के गणित शिक्षक ने बनाई इलेक्ट्रिक सोलर कार

Related Post

कोरोनावायरस के इलाज का टीका विकसित

कोरोनावायरस के इलाज का टीका विकसित, वैज्ञानिक कर सकते हैं घोषणा

Posted by - March 13, 2020 0
नई दिल्ली। इस्राइल के वैज्ञानिकों ने कोरोनावायरस का इलाज करने के लिए टीका विकसित कर लिया है। इसकी घोषणा वैज्ञानिक…
corona cases in india

यूपी में कोरोना के 103 नये मामले, तीन और की मौत लखनऊ में 17 मिले संक्रमित,

Posted by - February 14, 2021 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब सोमवार के साथ ही मंगलवार को भी फ्रंट लाइन वर्कर्स का वैक्सीनशन होगा। अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने रविवार को बताया कि अब तक 8.9 लाख स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन कर्मियों को कोविड वैक्सीनेशन लगाने का काम किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों के बाद फ्रंट लाइन कर्मियों को टीके लगाये जा रहे हैं। इसी क्रम में 15 और 16 फरवरी को वैक्सीन के लिए चिन्हित लोगों को दो दिन पहले ही सूचित करने के निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिये गये हैं, जिससे कि संबंधित कर्मी समय से पहुंचकर वैक्सीन की डोज लगवा सके। इसी बीच प्रदेश में रविवार को कोरोना के 103 नये मामले सामने आये हैं, जबकि तीन और की मौत हो गयी है। इसी तरह राजधानी लखनऊ में भी 17 और पीड़ित मिले हैं और एक मरीज की मौत हो गयी है। मौजूदा समय में प्रदेश में संक्रमण अब स्थिति लगभग पूरी तरह से नियंत्रण में है। जहां एक तरफ रोज होने वाली मौतों की संख्या में भरी कमी हुई है, वहीँ दूसरी तरफ एक्टिव केसेस का नंबर भी कम हो रहा है। वैसे प्रदेश में अब तक कुल 6,02,190 संक्रमित मिल चुके हैं। इसके साथ ही मरने वालों का आंकड़ा भी अब बढ़ कर 8,702 हो गया है। रविवार को मरने वालों में लखनऊ के अलावा मेरठ और लखीमपुर खीरी के 1-1 मरीज शामिल हैं। अपर मुख्य सचिव ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को बात करते हुए बताया कि प्रदेश में कोविड से रिकवरी का प्रतिशत अब 98 फीसदी से ज्यादा हो गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 156 और अब तक 5,90,448 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,85,179 क्षेत्रों में 5,11,270 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,57,411 घरों के 15,27,66,050 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में शनिवार को एक दिन में कुल 1,21,440 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,95,61,480 सैम्पल की जांच की गयी है। सहगल ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस का नया प्रयोग कर हर परिवार तक पहुंच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड संक्रमण की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 2.95 करोड़ से ज्यादा कोविड के टेस्ट और 15.27 करोड़ से ज्यादा व्यक्तियों से संपर्क कर कोविड संक्रमण की जानकारी ली गयी है। प्रदेश में कोरोना का संक्रमण कम हुआ है। मुख्यमंत्री के निर्देशन में प्रदेश सरकार के कोविड संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण की कार्ययोजना कारगर सिद्ध हो रही है। प्रदेश में सर्विलांस, कांट्रैक्ट कांटेक्ट व एग्रेसिव टेस्टिंग से कोविड नियंत्रण में सफलता मिली है।
टेलीफोन पर गैर कोविड-19 मरीजों का इलाज

एम्स के डॉक्टर टेलीफोन पर करेंगे गैर कोविड-19 मरीजों का इलाज

Posted by - April 18, 2020 0
नई दिल्ली । कोरोना महामारी (कोविड-19) की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने टेलीफोन…