नारी सशक्तीकरण

नारी सशक्तीकरण : ममता ने कर्ज लेकर ईरिक्शा खरीद गांव में बेचती हैं सब्जियां 

158 0

देहरादून। उत्तराखंड की एक महिला ने खुद के प्रयास से आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बनकर नारी सशक्तीकरण की मिसाल पेश की है। जो दूसरी महिलाओं के लिए प्रेरणादायक साबित हो सकती है। खदरी निवासी ममता मजदूरी कर किसी तरह अपना गुजर बसर करती थीं, लेकिन यह उसे रास नहीं आया और कर्ज पर ई-रिक्शा खरीदकर सब्जी की दुकान लगा ली। ममता के इस जज्बे की हर कोई तारीफ कर रहा है।

ममता ने ठेली खरीदकर सब्जी बेचने का काम शुरू किया

ग्राम सभा खदरी वॉर्ड-5 (मोटा प्लॉट) में रहने वाली ममता पति धर्मवीर सिंह के साथ मजदूरी दिहाड़ी कर परिवार चला रही थी। इनके एक बेटा भी है। ममता के मुताबिक ठेकेदार मजदूरी देकर भगा दिया गया। इसके बाद खाने के लाले पड़ गए। इसके बाद ममता ने खुद कुछ करने की ठानी। ममता ने ठेली खरीदकर सब्जी बेचने का काम शुरू किया। इसी बीच उसने ई-रिक्शा के बारे में सुना कि उसमें पेट्रोल की जरूरत नहीं होती है।

मैंगो आइसक्रीम बनाने का जानें सबसे आसान तरीका, क्रीम जैसी सॉफ्ट बनाएं आइसक्रीम

इसके बाद ममता ने किसी से दो प्रतिशत ब्याज पर 50 हजार का कर्ज लिया

इसके बाद ममता ने किसी से दो प्रतिशत ब्याज पर 50 हजार का कर्ज लिया । एक महीने में ममता के ई रिक्शा सीखा और जीवन यापन पटरी पर आ गया। ममता ने ईरिक्शा चलाना सीखा और खुद सब्जियां बेचने निकलने लगी। अब ममता ने पति को भी मजदूरी करने से मना कर दिया है।

धर्मवीर अब सब्जी बेचने में ममता की करता है मदद 

धर्मवीर अब सब्जी बेचने में ममता की मदद करता है। ममता ने कहा कि गांव के सोहनलाल रतूड़ी ने उसे बहुत प्रेरणा दी। ग्राम प्रधान संगीता थपलियाल ने कहा कि ममता ने नारी सशक्तीकरण की मिसाल कायम की है। वॉर्ड सदस्य मीना कुकरेती ने ममता के जज्बे की सराहना की है।

Loading...
loading...

Related Post

कोविड-19

कोविड-19 का कहर जारी, मृतकों की संख्या 3300 के पार : डब्ल्यूएचओ

Posted by - March 7, 2020 0
नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शनिवार को कहा कि पूरे विश्व में जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड-19) से मरने…
खुदरा महंगाई

Flashback 2019: तीन साल के उच्चतम स्तर पर खुदरा महंगाई, औद्योगिक उत्पादन में गिरावट

Posted by - December 12, 2019 0
नई दिल्ली। केंद्र सरकार को अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर दोहरा झटका लगा है। जहां एक तरफ मुद्रास्फीति बढ़ी है। तो…