एक और ‘स्टेन स्वामी’! 6 साल से बंद है बुजुर्ग मजदूर नेता, खराब स्वास्थ्य के बावजूद नहीं मिल रही बेल

260 0

जेल में बंद आदिवासी अधिकार कार्यकर्ता स्टेन स्वामी की मौत के बाद UAPA को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं।केरल की एक जेल में बंद चाय मजदूरों के नेता एन के इब्राहिम 67 वर्षीय बुजुर्ग हैं जो साल 2015 से ही जेल में हैं। बेहद खराब स्वास्थ्य के बावजूद इब्राहिम को जमानत नहीं मिल पा रही है, उन्हें दो बार कार्डियक अरेस्ट हो चुका है। मसूड़ों की गंभीर बीमारी से जूझ रहे इब्राहिम के सारे दांत गिर चुके हैं, वे रोटी को भी पानी में भिगोकर खाते हैं, साथ में रोज 22 टैबलेट लेते हैं।

इब्राहिम पर आरोप है कि 2014 में उन्होंने एक सीनियर पुलिस अधिकारी के वायनाड स्थित घर हमले में शामिल थे। जानकारी के मुताबिक इब्राहिम चाय बागान मजदूरों के लिए लड़ते रहे थे, जिसके बाद वे कंपनियों के निशाने पर आ गए थे।

इब्राहिम पर आरोप है कि 24 अप्रैल 2014 को एक सीनियर पुलिस अधिकारी के वायनाड स्थित घर हमले में शामिल थे और अधिकारी की मोटरसाइकिल को आग लगा दी है। पुलिस ने इब्राहिम को माओवादियों का कुरियर बताते हुए 7 अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार कर लिया था। वहीं इब्राहिम की पत्नी जमीला बताती हैं कि घटना के दिन वह घटना स्थल वेल्लामुंडा से 64 किलोमीटर दूर अपने पैतृक गांव नेदुमपाला में थे। पत्नी के अनुसार इब्राहिम के माओवादियों से किसी भी प्रकार के संबंध नहीं हैं और सभी आरोप मनगढ़ंत हैं। बताते चलें कि इस घटना में सभी गवाह वेल्लामुंडा पुलिस स्टेशन के अधिकारी हैं।

जमीला, इब्राहिम की गिरफ्तारी के मामले को लेकर उस चाय कंपनी पर आरोप लगा रही है, जिसके लिए वह अपने पति के साथ काम किया करती थी। वह कहती हैं कि चाय कंपनी ने हमें 65 साल की उम्र होने से पहले कम मुनाफे और खराब वित्तीय हालात का हवाला देकर निकाल दिया था। कंपनी द्वारा निकाले जाने के बावजूद इब्राहिम चाय बागान मजदूरों के लिए लड़ते रहे थे और जिससे परेशान होकर चाय कंपनी ने उसे माओवादियों से जुड़ा बताकर फंसा दिया।

Related Post

Eknath Shinde

परिवार की सुरक्षा को लेकर एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे को लिखा पत्र

Posted by - June 25, 2022 0
मुंबई: शिवसेना के बागी नेता और महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने शनिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे…
गोटाबाया राजपक्षे विजयी

श्रीलंका राष्ट्रपति चुनाव गोटाबाया राजपक्षे विजयी, पीएम मोदी ने दी बधाई

Posted by - November 17, 2019 0
नई दिल्ली। श्रीलंका के राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार गोटबाया राजपक्षे ने बड़ी जीत हासिल की है। उन्होंने श्रीलंका की…
जन अधिकार पार्टी

सुप्रीम कोर्ट RTI के अधीन आएगा या नहीं, फैसला 13 अक्टूबर को

Posted by - November 12, 2019 0
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट बुधवार को उस याचिका पर फैसला सुनाएगी, जिसमें भारत के मुख्य न्यायाधीश के कार्यालय को पारदर्शिता…