up cm yogi aditynath

UP Budget 2021-22: CM योगी आदित्यनाथ की सरकार कल पेश करेगी 2021-22 का बजट

336 0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान मंडल के बजट पत्र में सोमवार को योगी आदित्यनाथ सरकार सत्र 2021-22 का बजट पेश करेगी। प्रदेश के वित्त, संसदीय कार्य व चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने रविवार को अपनी टीम के साथ बजट को अंतिम रूप दिया। इस बार योगी आदित्यनाथ सरकार पेपरलेस बजट पेश करेगी। बजट का स्वरूप साढ़े पांच लाख करोड़ रुपया से अधिक होने का अनुमान है।

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर उत्तर प्रदेश बजट 2021-22 को अंतिम रूप दिया। सोमवार को विधान भवन में वह 11:00 बजे से उत्तर प्रदेश का बजट प्रस्तुत करेंगे। इस बार भी बजट को वित्त विभाग ने प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं और मंशा के मुताबिक तैयार कर दिया है। डिजिटल माध्यमों से बजट की प्रस्तुति की तैयारी भी की जा चुकी है। इससे पहले ही मंत्री व विधायकों को आईपैड पर बजट देखने की ट्रेनिंग भी गई है। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सदन के अंदर पेपरलेस बजट कैसे प्रस्तुत करेंगे इसकी रूपरेखा भी खींच ली गई है।

UP Budget 2021 : राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) को बढा सकती है योगी सरकार, जुलाई से DA मिलने की संभावना

योगी आदित्यनाथ सरकार के वित्तीय वर्ष 2021-22 के बजट में बुनियादी ढांचे पर फोकस होगा। चुनावी वर्ष का बजट होने के नाते प्रदेश सरकार इसके जरिये विभिन्न वर्गों को भी साधने की कोशिश करेगी। कोरोना वायरस आपदा के कारण राज्य और केंद्र सरकार के राजस्व में आई कमी से बजट के लिए संसाधन जुटाने की चुनौती बढ़ गई है। सरकार के पिछले बजट का आकार 5.12 लाख करोड़ रुपये था। कयास लगाये जा रहे हैं कि बजट का आकार 5.5 से 5.6 लाख करोड़ रुपये हो सकता है। चुनावी वर्ष में हौसला दिखाते हुए सरकार इससे बड़े आकार का बजट भी प्रस्तुत कर सकती है। चुनावी वर्ष में हसरतों को परवान चढ़ाने के लिए सरकार इसके साथ अगस्त व दिसंबर में दो अनुपूरक बजट भी पेश कर सकती है।

हाथरस मामला: PFI के दिल्ली दफ्तर पर छापा, रउफ शरीफ के इनपुट पर UP STF की कार्रवाई

योगी आदित्यनाथ सरकार के बजट में गंगा परियोजना, पांच एक्सप्रेसवे की परियोजनाओं को आगे बढ़ाने, 250 से अधिक आबादी वाले गांवों को मुख्य संपर्क मार्गों से जोड़ने, नोएडा में फिल्म सिटी, पर्यटन स्थलों के विकास के साथ आवास से जुड़ी परियोजनाओं के लिए भी घोषणाएं होने की उम्मीद है। कोरोना महामारी के चलते स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए भी महत्वपूर्ण घोषणाएं हो सकती हैं।

Agriculture Law गतिरोध का 87वां दिन : यूपी के किसानों से मिले दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल

योगी आदित्यनाथ सरकार अपने इस कार्यकाल का अंतिम बजट सोमवार को प्रस्तुत करेगी। राज्य सरकार के इस बजट में किसान, युवा, छात्र तथा महिला के साथ हर वर्ग के लिए इस बजट में कुछ नई घोषणाएं होने की उम्मीदें हैं। सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर के माध्यम से जनता के बीच विकास का बड़ा संदेश देने का काम भी इस बजट के माध्यम से करेगी। विधान भवन में डिजिटल माध्यमों से प्रस्तुत होने वाला यह बजट पूरी तरह पेपरलेस होगा। माना जा रहा है कि बजट में चुनावी तैयारियों की झलक देखने को मिल सकती है। यह बजट नए रूप में पेश किया जा सकता है। इसमें हर गांव, घर, परिवार की बात होगी तो उद्यमी, किसान, महिला, नौजवान की चिंता भी नजर आएगी। व्यापारी और बेरोजगार के लिए कुछ खास होगा तो बेसहारा की सहारा बनने वाली कोई न कोई सौगात भी संभव है।

सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास की होगी झलक

बजट सत्र शुरू होने से पूर्व भाजपा विधानमंडल दल की बैठक में बजट सत्र के दौरान सरकार की चार साल की उपलब्धियों पर मजबूती से अपना पक्ष रखने की बात कही गई थी। इस बैठक में इस बात के संकेत दिए गए थे कि बजट के बाद 2022 चुनाव की तरफ बढऩा है। इससे यह कयास भी लगाए जा रहे हैं कि प्रदेश सरकार का यह बजट सबको खुश करने वाला हो सकता है। भाजपा के नारे सबका साथ-सबका विकास, सबका विश्वास को बजट के माध्यम से जनता के बीच पहुंचाने की कोशिश हो सकती है।

 आकार बढ़ाने के लिए 4.8 फीसदी तक घाटे का हो सकता है बजट

माना जा रहा है कि प्रदेश सरकार के इस बजट का आकार 5.5 लाख करोड़ के करीब का होगा। केंद्रीय करों से अपेक्षित धनराशि नहीं मिलने के बाद भी राज्य सरकार अपने बजट के आकार को बढ़ाने में सफल होगी। इसका प्रमुख आधार वैश्विक संस्थाओं द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 में भारत के विकास दर का आंकलन 11 फीसदी के करीब किया जाना बनेगा। इसके अलावा केंद्र सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश को बजट घाटे को तीन से बढ़ाकर पांच फीसदी किए जाने की छूट दिए जाने से भी प्रदेश सरकार बाजार व बैंकों से कर्ज बढ़ाकर अपने बजट आकार को बढ़ाने की तैयारी में है। प्रदेश सरकार 4.8 फीसदी घाटे का बजट प्रस्तुत कर सकती है। गौरतलब है कि चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में राज्य सरकार का बजट कुल 5.13 लाख करोड़ है।

राज्य कर्मचारियों और पेंशनरों को सौगात देने की तैयारी में सरकार

योगी आदित्यनाथ सरकार प्रदेश के 28 लाख कर्मचारियों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते को जुलाई 2021 से बहाल कर सकती है. इस बार के बजट में इसका इसका प्रावधान हो सकता है। प्रदेश में कुल 16 लाख राज्य कर्मचारी और तकरीबन 12 लाख पेंशनर हैं। बीते साल कोरोना के चलते सरकार ने डीएम में वृद्धि ना करने का फैसला किया था। बजट में प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों और पेंशनधारकों को भी बड़ी सौगातें मिल सकती हैं। वहीं विशेषकर कृषि और उद्योग क्षेत्र के लिए भी महत्वपूर्ण घोषणाएं होने की उम्मीद है।

योगी आदित्यनाथ सरकार का बजट में इन पर रहेगा फोकस:-

  • फिल्म सिटी के लिए भी बजट का प्रबंध होने की उम्मीद।
  • कोरोना वैक्सीन सभी के लिए मुफ्त करने की घोषणा होने की उम्मीद भी की जा रही है।
  • अयोध्या, काशी, मथुरा और गोरखपुर के पर्यटन विकास के लिए नई योजनाओं की उम्मीद।
  • किसानों के लिए भी हो सकती हैं नई घोषणाएं।
  • महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में भी अच्छी खासी धनराशि का प्रबंध होने की उम्मीद।
  • गंगा किनारे के गांवों में गंगा मैदान, गंगा चबूतरा तथा अन्य विकास कार्य।
  • स्कूल-कालेज के छात्र छात्राओं को टैबलेट या लैपटाप की घोषणा।
  • प्रदेश की पांच एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं की गति बढ़ाने व काम शुरू करने के लिए भारी भरकम धनराशि।
  • संपर्क मार्गों से अछूते 250 से अधिक आबादी वाले ग्रामीण बसावटों को संपर्क मार्ग से जोडऩे के लिए करीब 8000 करोड़ रुपये।
Loading...
loading...

Related Post

वित्त मंत्री ने सभी वस्तुओं और सेवाओं पर जीएसटी के एक ही टैक्स स्लैब में आने के दिए संकेत

Posted by - December 24, 2018 0
नई दिल्ली। मंगलवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सभी वस्तुएं और सेवाएं जीएसटी के एक ही टैक्स स्लैब में…
सात फीसदी घटा सोने का आयात

अप्रैल-दिसंबर के बीच सात फीसदी घटा सोने का आयात, इसी से कम हुआ व्यापार घाटा

Posted by - January 26, 2020 0
नई दिल्ली। देश में सोने का आयात चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-दिसंबर महीने में 6.77 प्रतिशत घटकर 23 अरब डॉलर…
अखिलेश यादव

अखिलेश यादव बोले-बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी बताएं कि कहां हैं अच्छे दिन ?

Posted by - April 18, 2019 0
आजमगढ़। यूपी के आजमगढ़ लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल करने के बाद समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने पीएम…