पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं की जानें क्या है भूमिका

314 0

डेस्क। विश्व की सभी महिलायें सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक व धार्मिक क्षेत्रों में आ रही सभी प्रकार की बाधाओं को पार करते हुए वे निरंतर प्रगति की ओर आगे बढ़ रही हैं। अपनी सभी भूमिकाओं में निपुणता दर्शाने के बावजूद आज के आधुनिक युग में महिला पुरुष से पीछे खड़ी दिखाई देती है।

ये भी पढ़ें :-70 के दशक की लौह महिला इंदिरा गांधी ये हैं दिलचस्प पहलू 

आपको बता दें महिला को अपनी जिंदगी का ख्याल तो रखना ही पड़ता है साथ में पूरे परिवार का ध्यान भी रखना पड़ता है। वह पूरी जिंदगी बेटी, बहन, पत्नी, माँ, सास, और दादी जैसे रिश्तों को ईमानदारी से निभाती है। इन सभी रिश्तों को निभाने के बाद भी वह पूरी शक्ति से नौकरी करती है ताकि अपना, परिवार का, और देश का भविष्य उज्जवल बना सके। पहले उन्हें सिर्फ इसी लायक समझ जाता था की वे घर का काम करे, झाड़ू-पोछा लगाए, खाने पीने का ध्यान रखे पर अब ऐसा नहीं है।

ये भी पढ़ें :-40 बच्चों की माँ ने पति छूटने के बाद भी निभाया अपना मातृत्व धर्म 

जानकारी के मुताबिक महिलाओं का काम करने का तरीका, सोचने का तरीका, व्यवहार आदि सब पुरुषों से अलग है। इन्हीं तथ्यों को माना जाये तो हम यह कह सकते है की महिलाएं शारीरिक रूप से तथा मनोवैज्ञानिक तरीके से पुरुषों के बराबर नहीं है। पर महिलाऐं पुरुषों से पीछे भी नहीं है। उदाहरण के तौर पर बच्चों की देखभाल को ही ले ले। भारत में बहुत पुराने समय से ही महिलाओं के लिए समाज में एक लक्ष्मण रेखा बना दी गयी है। जिसे लांघना उनके लिए लगभग नामुमकिन है। कई सालों से इन परम्पराओं में कोई बदलाव नहीं आया है। आज के आधुनिक युग में यह हमें पिछड़े हुए सामाजिक जीवन का एहसास दिलाती है।

Loading...
loading...

Related Post

बजट 2020

बजट 2020 : मॉर्डन रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डे, बस स्टेशन, लॉजिस्टिक सेंटर्स बनाएंगे

Posted by - February 1, 2020 0
नई दिल्ली। 2020 के दशक का पहला बजट वित्तमंत्री निर्मला सीतारामण ने शनिवार को पेश कर रही हैं। ये मोदी…

‘मैं करूंगी पाकिस्तान में परफॉर्म, कोई रोक के दिखाए’ – शिल्पा शिंदे

Posted by - August 24, 2019 0
बॉलीवुड डेस्क। पाकिस्तान में परफॉर्मेंस के बाद मीका सिंह बुरे फंसे हैं। अब मीका के समर्थन में ‘अंगूरी भाभी’ का…