70 के दशक की लौह महिला इंदिरा गांधी ये हैं दिलचस्प पहलू

36 0

डेस्क। इंदिरा गांधी को अपने संपूर्ण जीवन में कई रूपों में जाना जाता था। 70 के दशक के दौरान भारत की लौह महिला, एकमात्र महिला प्रधानमंत्री, कांग्रेस की आत्मा। इंदिरा गांधी के विषय में सामान्य रूप से ज्ञात तथ्य हैं। लेकिन हमने उनके व्यक्तित्व और एक प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ के रूप में उनके कौशल को समझने में आपकी सहायता के लिए कुछ और दिलचस्प बातों का खुलासा किया।

पी.एम. के कार्यालय में पी ए के रूप में कार्य किया-

जब उनके पिता जवाहर लाल नेहरू ने पद भार संभाला, वह एक युवा वयस्क थें हालांकि नेहरू ने इंदिरा के उज्जवल चरित्र और बुद्धि की बदौलत उन्हें अपने पहले निजी सहायक के रूप में चुना। वहाँ से वह सबसे अच्छे हाथों में से एक से शासन कला सीखने गईं।महात्मा गांधी के परिवार से संबंधित होने के लिए इंदिरा गांधी को गलत कहते हैं। यद्यपि नेहरू परिवार हमेशा महात्मा गांधी के परिवार से निकटता से जुड़ा था। लेकिन इंदिरा ने इनसे यह नाम प्राप्त नहीं किया था। उनके पति फिरोज गांधी, प्रसिद्ध गांधी परिवार से संबंधित नहीं थे।

रिचर्ड निक्सन के साथ उनका झगड़ा-

अपने कार्यकाल की अवधि में अमेरिकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने सोवियत संघ के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करने का निर्णय करने के बाद इंदिरा गांधी को ‘पुरानी चु  ड़ैल’ कहा था। यह भारत और पाकिस्तान के बीच उच्च तनाव और पक्ष चुनने के युग के दौरान था। निक्सन चाहते थे कि पाकिस्तान को अमेरिका का समर्थन मिले इसलिए उसने अपने सहयोगी के रूप में अपने अंतर्राष्ट्रीय दुश्मनों को चुना।

पहला परमाणु परीक्षण किया-

किसी के मन में यह संदेह नहीं है कि इंदिरा गांधी विविध क्षेत्रों में दूरदर्शी थीं। वह भारत को वैश्विक परमाणु शक्ति बनाने की दिशा में कदम उठाने वाली पहली नेता थीं जिन्होंने अंततः पोखरन में स्माइलिंग बुद्धा नामक सफल परमाणु बम परीक्षण किया।वहीँ 1984 में सिख समुदाय के साथ झगड़े को लेकर उनके निजी अंगरक्षकों द्वारा उनकी हत्या कर दी गई। उनकी समाधि दिल्ली के राजघाट में है।

Loading...

Related Post

आई लव यू के साथ सलामी

शहीद पति के कानों में पत्नी ने कहा-आई लव यू, आखिरी बार किया सैल्यूट

Posted by - February 19, 2019 0
देहरादून। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद मेजर विभूति ढौंडियाल का पार्थिव शरीर मेजर तेरा ये बलिदान, याद करेगा हिंदुस्तान। भारत…
प्राइवेट स्कूलों की फीस वृद्धि में रोक

अभिभावकों को बड़ी राहत, प्राइवेट स्कूलों में फीस वृद्धि पर हाईकोर्ट ने लगाई 30 अप्रैल तक रोक

Posted by - April 8, 2019 0
नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच की ओर सोमवार यानी आज बड़ी राहत मिली 30 अप्रैल तक अंतरिम स्थगन…
राम विलास पासवान

वाराणसी का परिणाम आ चुका है, अब सिर्फ औपचारिकता बाकी : राम विलास पासवान

Posted by - April 26, 2019 0
वाराणसी। राजग के सहयोगी दल लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख व केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने शुक्रवार को कहा…

देश को आजादी दिलाने में शामिल सरोजिनी का नाम, जानें उनसे जुडी कुछ खास बातें

Posted by - May 17, 2019 0
डेस्क। कवयित्री और कलाकार ना जाने कितनी पहचान लिए थी भारत की पहली महिला गवर्नर सरोजिनी नायडू। भारत को आजादी…