finger clubbing disease

जानिए क्या है फिंगर क्लबिंग बीमारी और किन लोगो में होते है यह लक्षण

383 0

लंग केंसर के मरीज के शरीर में फिंगर क्लबिंग का प्रमुख लक्षण पाया जाता है। इस लक्षण में अनुसार उंगलियों में अजीब तरह की गांठ पड़ जाती है। यह लक्षण यूके के अनुसार माना गया है। इस केंसर में डॉक्टरों के अनुसार उंगलियों और नाखूनों की तरफ रक्त प्रवाह बढ़ जाता है। जिसकी वजह से उंगलियों के सिरे पर सॉफ्ट टिश्यू जमा होने लगता हैं और क्लबिंग होने लगती है। इस संबंध में अभी और रिसर्च की जरूरत बतायी गयी है।

देखिये सारा अली खान के 25 वें जन्मदिन पर करीना ने सोशल मीडिया पर किया यह पोस्ट

  • नाखूनों का निचला हिस्सा नरम पड़ने लगता है। नाखूनों के पास की स्किन चमकीली हो जाती है।
  • नाखून अजीब तरह से मुड़ने लगते हैं और भद्दे दिखने लगते हैं। इसे स्कारमाउथ साइन भी कहा जाता है।
  • आखिर में नाखूनों के सिरे बड़े हो जाते हैं। यह सहजन की तरह दिखने लगते हैं, इसलिए इन्हें ड्रमस्टिक फिंगर्स भी कहा जाता है।

फिंगर क्लबिंग के लक्षण किन लोगों में होते है

  • 35 फीसद नॉन स्मॉल सेल लंग कैंसर
  • स्मॉल सेल लंग कैंसर लोगो में
  • मेसोथेलियोमा कैंसर के लोगो में दिखता है

दिव्यांग सुप्रिया के आगे झुका हरियाणा बोर्ड, दो की जगह देने पड़े शत-प्रतिशत अंक

 जानिए घर पर ही कैसे लगाए फिंगर क्लबिंग के लक्षणों का पता

  • अपने दोनों हाथों को आंखों के सामने लाएं।
  • अब दोनों हाथों की पहली उंगली (इंडेक्स फिंगर) को आपस में चिपकाकर देखें।
  • साधारण स्थिति में नाखूनों के बीच हीरे के आकार की खाली जगह दिखनी चाहिए।

फिंगर क्लबिंग होने पर 100 फीसद लंग कैंसर हो ऐसा नहीं है। फेफड़ों की कुछ अन्य बीमारियों जैसे सिस्टिक फाइब्रोसिस, पल्मनरी फाइब्रोसिस, ब्रोंकाइक्टेसिस और एस्बेस्टोसिस, दिल की समस्या, लिवर की बीमारियों और क्रोहन रोग में भी ऐसा हो सकता है।

Loading...
loading...

Related Post

जो कहते हैं कि मैं एक मौन प्रधानमंत्री था,उनको जवाब देगी ये पुस्तक-मनमोहन सिंह

Posted by - December 19, 2018 0
नई दिल्ली। मंगलवार को देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। मौका था उनकी पुस्तक…