उत्तर प्रदेश मे RSS नेता के बेटे की खुदकुशी मामले में 5 पुलिसकर्मी निलंबित

86 0

बागपत में आरएसएस नेता के बेटे की खुदकुशी मामला तूल पकड़ता जा रहा है, मामले में पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर कार्रवाई की जा रही। मृतक के पिता की शिकायत पर पांचों पुलिसकर्मियों के खिलाफ IPC की धारा 306 और अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

दरअसल बिनौली थाना क्षेत्र में रणछड़ गांव में आरएसएस पदाधिकारी के 22 साल के बेटे अक्षय ने सोमवार को आत्महत्या कर ली थी।मामले की शुरुआत पिछले सोमवार को टीकाकरण केंद्र से हुई थी, जहां अक्षय की मौजूद पुलिसकर्मियों से झड़प हो गई थी। बता दें कि गुरुवार को योगी आदित्यनाथ का बागपत जिले में दौरा है, लिहाजा इस कदम को उनके दौरे से जोड़कर देखा जा रहा है।

जिला पुलिस प्रवक्ता ने बृहस्पतिवार को बताया कि रंछाड़ गांव में आरएसएस के खंड संचालक श्रीनिवास के पुत्र अक्षय की आत्महत्या के मामले में पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने बुधवार रात बिनौली थाने के निरीक्षक चंद्रकांत पांडेय वरिष्ठ उपनिरीक्षक उधम सिंह तालान, हेड कांस्टेबल सलीम, कांस्टेबल अश्वनी और मुरली को निलंबित कर दिया। इन सभी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के आदेश भी दिए गए हैं। यह कार्रवाई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बृहस्पतिवार के बागपत दौरे से ऐन पहले हुई है।

गौरतलब है कि पिछले सोमवार को रंछाड गांव में टीकाकरण के दौरान अक्षय और पुलिसकर्मियों के बीच हाथापाई हो गई थी। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने अक्षय के घर में कथित रूप से तोड़फोड़ करते हुए परिजन को प्रताड़ित किया और थाने में बंद कर दिया। आरोप है कि अक्षय को पकड़ने के लिए पुलिस ने बर्बरता की। अक्षय ने कथित रूप से इससे त्रस्त होकर खेत में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। इसके बाद सोमवार देर शाम से मंगलवार सुबह तक आक्रोशित ग्रामीणों ने शव नहीं उठने दिया। कई थानों की पुलिस और पीएसी को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना5करना पड़ा था।

सुप्रीम कोर्ट के समक्ष पहुंचा न्यायिक अधिकारी हत्या मामला, झारखंड हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान

इस मामले में बिनौली इंस्पेक्टर चंद्रकांत पांडेय सहित 13 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया था।   मृतक के पिता श्रीनिवास की तहरीर पर इंस्पेक्टर बिनौली चंद्रकांत पांडेय, वरिष्ठ उपनिरीक्षक उधम सिंह तालान, हेड कांस्टेबल सलीम, कांस्टेबल मुरली, कांस्टेबल अश्विनी व एक अज्ञात के खिलाफ बवाल करने, गाली-गलौज, मारपीट करने तथा आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post