दिन-दूनी रात चौगनी मेहत कर अपने विरोधियों को इस महिला ने चटाई धूल

402 0

लखनऊ डेस्क। बॉक्सिंग रिंग में सोनिया लाठर जब पहली बार उतरी होंगी तो शायद ही सोचा नही होगा कि एक दिन उन्हें देश के राष्ट्रपति सम्मानित करेंगे। उन्होंने दिन-दूनी रात चौगनी मेहत की और अपने विरोधियों को रिंग में धूल चटाई। उसी का नतीजा है कि आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें ‘अर्जुन अवॉर्ड’ से सम्मानित किया।

ये भी पढ़ें :-लता मंगेशकर की आवाज से तुलना होने वाली महिला ने दिया अनुराधा पौडवाल को भी टक्कर 

आपको बता दें सोनिया ने जुलाना से ही 12वीं तक पढ़ाई की है। उनका झुकाव शुरू से खेल कूद की ओर ही रहा। जब वह सातवीं में पढ़ रही थी तभी से उन्होंने कबड्डी और बॉक्सिंग शुरू कर दी थी। उनके घर वालों ने कभी उनकी खेल कूद की रुचि का विरोध भी नहीं किया और हमेशा साथ खड़े रहे। जिसने भी सोनिया के हौसलों को और पंख लगा दिए।

ये भी पढ़ें :-व्हीलचेयर पर बैठे-बैठे इस महिला ने कर दिया कमाल, बन गईं मिसाल 

जानकारी के मुताबिक उन्होंने साल 2018 में सीनियर नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड (RSPB) का प्रतिनिधित्व 54-57 भारवर्ग में किया था। इस प्रतियोगिता के फाइनल में हरियाणा की शशि चोपड़ा को 5-0 से हराकर सोनिया चैंपियन बनीं थीं।

Loading...
loading...

Related Post

बुद्धि-शुद्धि महायज्ञ

योगी सरकार की शिक्षा विरोधी नीतियों के खिलाफ चार फरवरी को बुद्धि-शुद्धि महायज्ञ

Posted by - February 2, 2020 0
लखनऊ। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार की नीतियां प्राइमरी व जूनियर हाईस्कूलों की विरोधी है। यह आरोप उत्तर प्रदेश बेसिक…