SCHOOL OF RAM

भगवान राम पर तैयार पहले वर्चुअल विद्यालय का होगा शुभारंभ

60 0

वाराणसी। काशी में स्कूल ऑफ राम भगवान (School of Lord Ram)  श्री राम के जीवन पर आधारित विश्व का पहला ऐसा अनोखा वर्चुअल विद्यालय होगा, जो राम के जीवन आदर्शों और रामायण एवं रामकथा के वैश्विक स्वरूप को जन सामान्य तक ऑनलाइन इंटरनेट मीडिया के माध्यम से पहुंचाने का काम करेगा।

काशी में भगवान राम (School of Lord Ram ) के नाम पर वर्चुअल स्कूल चलाया जाएगा। यह पहला ऐसा स्कूल होगा, जहां भगवान राम के आदर्शों के साथ संस्कारों के बारे में जानने का मौका मिलेगा। इसका उद्घाटन 24 मार्च को अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा के कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ला करेंगे।

 

varanasi news, uttar pradesh news, first virtual school on lord rama, virtual school on lord rama, lord rama virtual school inaugurated, वाराणसी न्यूज, उत्तर प्रदेश समाचार, भगवान राम पर वर्चुअल विद्यालय, राम पर वर्चुअल विद्यालय का शुभारंभ
राम पर वर्चुअल विद्यालय का शुभारंभ

भगवान राम पर वर्चुअल विद्यालय (School of Lord Ram ) आज विश्व के समक्ष विकृत पर्यावरण की जो चुनौती है, उसे राम की भांति प्रकृति केंद्रित जीवन जीकर ठीक किया जा सकता है।  भगवान श्री राम के इन्हीं युगों पुराने आदर्शों एवं रामायण के संस्कारों को अभिनव तरीकों से जन-जन तक पहुंचाने के लिए विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालय श्री बलराम उच्च माध्यमिक आदर्श विद्या मंदिर बस्सी के पूर्व छात्र एवं काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में अध्यनरत प्रिंस तिवारी ने भगवान श्री राम पर एक वर्चुअल विद्यालय का प्रारूप तैयार किया है। इसे स्कूल ऑफ राम का नाम दिया है।

प्रिंस तिवारी का कहना है कि स्कूल ऑफ राम का उदेश्य और लक्ष्य ध्रुव की तरह बिल्कुल साफ है. हम इस विद्यालय के जरिए व्यक्ति निर्माण की बात करना चाहते हैं। आदर्शों के अभाव में परिवार का स्तर जो नष्ट हो गया है,उसका हम विकास करना है।  हम व्यक्ति और समाज के बीच की कड़ी की स्थापना करना चाहते हैं, जिसका नाम है परिवार. इसी से लव,कुश,ध्रुव,प्रहलाद निकलते हैं। वह आज चरमरा गया है।  हम उसे ठीक करना चाहते हैं।  परिवार को हमें रामायण के संदेशों के माध्यम से शिक्षित करना है। आने वाली इस नई युवा पीढ़ी को संस्कारित करना है। तभी व्यक्ति,परिवार और समाज निर्माण का उद्देश्य पूरा होगा।

24 मार्च को होगा शुभारंभ

फाल्गुन शुक्ल दशमी बुधवार को 24 मार्च को शाम 4 बजे इस स्कूल ऑफ राम का शुभारंभ अंतरराष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ला करेंगे. कार्यक्रम में संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के पूर्व उपकुलपति पद्मश्री प्रो. अभिराज राजेंद्र मिश्र कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि होंगे।

विद्या भारती के अखिल भारतीय मंत्री अवनीश भटनागर कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। कार्यक्रम में विद्या भारती संस्थान जयपुर के प्रान्त मंत्री सुरेश वधवा, सहायक प्रोफेसर काशी हिन्दू विश्वविद्यालय इतिहास विभाग डॉ. अशोक सोनकर एवं नेश्नल यूथ अवॉर्डी खेल एवं युवा कार्यक्रम भारत सरकार डॉ. रामदयाल सैन की गरिमामयी उपस्थिति रहेगी। कार्यक्रम का सजीव प्रसारण संस्था के फेसबुक पेज के माध्यम से भी किया जाएगा।

Loading...
loading...

Related Post

Sensex

शेयर बाजार का हाल : सेंसेक्स 600 अंक उछलकर सात महीने के शिखर पर

Posted by - October 6, 2020 0
मुंबई। विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच बैंकिंग, वित्तीय, रियलिटी और ऑटो क्षेत्र में लिवाली से घरेलू शेयर बाजारों…