सुप्रीम कोर्ट: हॉकी को राष्ट्रीय खेल घोषित किए जाने की याचिका खारिज

96 0

सुप्रीम कोर्ट ने हॉकी को आधिकारिक रूप से राष्ट्रीय खेल घोषित करने वाली याचिका सुनने से इंकार किया। कोर्ट ने याची से कहा कि आपका उद्देश्य अच्छा हो सकता है, लेकिन हम कुछ नहीं कर सकते। आप चाहें तो सरकार को ज्ञापन दे सकते हैं। दरअसल, टोक्यो ओलंपिक में हॉकी टीमों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद हॉकी को राष्ट्रीय खेल घोषित करने की मांग है। इसलिए याचिका दायर की गई।

दरअसल, टोक्यो ओलंपिक में महिला और पुरुष हॉकी टीम के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद हॉकी को अधिकारिक रूप से राष्ट्रीय खेल घोषित किए जाने की मांग उठने लगी है। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल की गई थी। याचिक दाखिल करने वाले वकील विशाल तिवारी ने मांग की थी कि एथेलेटिक्स जैसे खेलों में सुविधाएं बढ़ाई जाएं और हॉकी को राष्ट्रीय खेल घोषित किया जाए।

कोरोना बंदी: यूपी में अब रात 11 बजे तक खुल सकेंगी दुकानें व बाजार

याचिका में कहा गया था कि हॉकी को राष्ट्रीय खेल के रूप में जाना तो जाता ही है, लेकिन उसे अभी तक आधिकारिक रूप से राष्ट्रीय खेल घोषित नहीं किया गया है। हॉकी भारत का गौरव है,जो अपनी पहचान खोता जा रहा है। 1928 से 1956 तक का समय भारतीय हॉकी के लिए स्वर्णकाल कहा जाता है। वैसे तो यह खेल लगभग सभी देशों में खेला जाता है, लेकिन 1928 में भारत हॉकी का विश्व विजेता बना था। वहीं इसके बाद हुए ओलंपिक में भारत ने हॉकी में कई स्वर्ण पदक भी अपने नाम किए। इसी के बाद से हॉकी की लोकप्रियता ऐसी बढ़ी कि इसे भारत का राष्ट्रीय खेल कहा जाने लगा।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

मुंबई और रायगढ़ भारी से भारी बारिश होने का पूर्वानुमान, अलर्ट जारी

Posted by - September 19, 2019 0
मुंबई। मौसम विभाग ने मुंबई में गुरुवार यानी आज भारी से भारी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है।सुबह से अगले…
अनंतनाग में आईईडी बरामद

जम्मू-कश्मीर को दहलाने की आतंकियों की नापाक कोशिश, अनंतनाग में आईईडी बरामद

Posted by - November 21, 2019 0
नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर को एक बार फिर दहलाने की नापाक कोशिश आतंकियों ने की। आर्मी की रोड ओपनिंग पार्टी ने…