हर जिले में शुरू करें 100 बेड का पोस्ट कोविड वार्ड : योगी

572 0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने बस्ती दौरे के दौरान प्रदेश के सभी जिलों में सौ बेड के  पोस्ट कोविड कोविड वार्ड शुरू करने के निर्देश दिये। करीब तीन हफ्ते पहले  उन्होंने हर जिला हॉस्पिटल में पोस्ट कोविड केयर सेंटर बनाने के निर्देश दिये थे। मौजूदा आदेश को उसी आदेश की रोशनी में देखा जा रहा है।

उन्होंने कहा कि आक्सीजन प्लांट के लिए एक नोडल अधिकारी नामित करें, जो कार्यदायी संस्था से समन्वय स्थापित करके इसको शीघ्र स्थापित कराए । प्रदेश के सभी जिलों को आक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए हर जिले में प्लांट स्वीकृत किया गया है, उस पर काम भी चल रहा है।  सरकार ब्लैक फंगस से निपटने के लिए विशेष प्रयास कर रही है।

बस्ती मंडल की समीक्षा बैठक के दौरान सीएम ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलो में 1 जून से 18 से 44 वर्ष आयु के लोगों को कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा । 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के अभिभावको, न्यायिक अधिकारियों, सरकारी कर्मचारियों तथा मीडिया के प्रतिनिधियों को टीका लगाने के लिए अलग से काउंटर खोले जायेंगे। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे एक-एक सीएचसी और पीएचसी को गोद लें और वहां नियमित रूप से विजिट करें। अधिकारियों को निर्देश दिया कि टीकाकरण, सेनेटाइजेशन तथा फागिंग की सूचना जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध कराएं जिससे वे इसका सत्यापन कर सके।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि प्रत्येक जिले में स्वच्छता, सेनेटाइजेशन एवं फागिंग, निगरानी समिति द्वारा स्क्रीनिंग एंव दवा किट वितरण, कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर द्वारा फील्ड में किए जा रहे कार्य का सत्यापन तथा कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए अस्पतालों की तैयारी को  प्राथमिकता दें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरसात को देखते हुए इंसेफेलाइटिस डेंगू, चिकुनगुनियां आदि बीमारियों से सुरक्षा के लिए भी समुचित प्रबन्ध किए जाएं । इसके लिए हर गांव एवं वार्ड में दिन में सैनिटाइजेशन तथा रात में फागिंग किया जाय। मच्छरों के लार्वा को खत्म करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाए। उन्होंने ग्रामीणों को खुले में शौच न करने तथा शौचालय का उपयोग करने को लेकर जागरूकता बढाने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर को रोकने में सभी ने अच्छा कार्य किया है, लेकिन तब भी हमें सतर्क रहना होगा।

उन्होंने कहा कि सीएचसी और पीएचसी पर अभी ओपीडी शुरू नही की जाएगी, लेकिन जिला अस्पताल में नानकोविड अस्पताल संचालित करके गंभीर रोगों के मरीजों का इलाज किया जायेगा । अन्य लोग टेली कन्सल्टेन्सी के माध्यम से डाक्टरों से परामर्श कर सकते हैं । साथ ही महिला एवं बच्चों के लिए अलग से अस्पताल संचालित किए जाने पर उन्होंने जोर दिया । उन्होंने जिले के अस्पतालों में जिलाधिकारी तथा मेडिकल कालेज में वहां के प्रधानाचार्य, पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति के संबंध में कार्रवाई शुरू करने को कहा । पैरामेडिकल स्टाफ, नर्स को मेडिकल कालेज से सम्पर्क करके टेनिंग दिलाए जाने और वेंटिलेटर संचालित करने के लिए आईटीआई के छात्रों को ट्रेंड करने के निर्देश दिए।

Related Post

विंध्यवासियों के लिए खास होगा जून माह, कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे मुख्यमंत्री योगी

Posted by - June 12, 2021 0
जून का महीना विंध्यवासियों (Vindhyas) के लिए बेहद खास होगा। 20 जून के बाद किसी भी दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ…
PM MODI

बंगाल चुनाव को लेकर BJP ने किए कई बड़े बदलाव, PM मोदी की रैलियों में जुटेंगे 500 लोग

Posted by - April 20, 2021 0
ऩई दिल्ली। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (BJP president JP Nadda) ने केंद्रीय और स्थानीय नेताओं…