सोनिया गांधी का कांग्रेस शासित राज्यों को निर्देश न करें वैक्सीन की बर्बादी, ज्यादा से ज्यादा लोगो को लगाए

490 0

कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन की गति को लेकर चिंता प्रकट करते हुए गुरुवार को कहा कि इस साल के आखिर तक सभी वयस्क नागरिकों को टीका लगाने के लिए जरूरी है कि टीकाकरण की दैनिक दर को तीन गुना किया जाए।

पार्टी महासचिवों एवं प्रदेश प्रभारियों के साथ डिजिटल बैठक में उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि covid-19 महामारी की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए तीव्रता से तैयारी करने और विशेषकर बच्चों की सुरक्षा के लिए कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। सोनिया ने पार्टी नेताओं का आह्वान किया कि वे यह सुनिश्चित करें कि अगर कहीं टीकों को लेकर लोगों में हिचक है तो वह दूर हो तथा टीकों की बर्बादी कम से कम हो। उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल जरूरी है कि हमारी पार्टी पूर्ण टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय भूमिका निभाए।

राष्ट्रीय स्तर पर, रोजाना टीकाकरण की दर तीन गुना होने की जरूरत है ताकि इस साल के आखिर तक हमारे देश की 75 फीसदी आबादी का पूर्ण टीकाकरण हो सके। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह टीके की उचित आपूर्ति पर निर्भर करता है। इसके लिए हमें केंद्र सरकार पर दबाव बनाए रखना होगा। इसके साथ हमें यह भी देखना होगा कि टीकाकरण के लिए पंजीकरण हो, अगर कहीं टीके को लेकर लोगों में हिचक है तो वह दूर हो और टीकों की बर्बादी कम से कम हो।

सोनिया ने कहा कि विशेषज्ञ पहले ही महामारी की तीसरी लहर की आशंका जता रहे हैं। कुछ लोग कह रहे हैं कि आने वाले महीनों में बच्चों के इस महामारी की चपेट में आने की आशंका बढ़ सकती है। इस पर तत्काल ध्यान देने और अतिसक्रियता के साथ कदम उठाने की जरूरत है ताकि बच्चों को इस त्रासदी से सुरक्षित रखा जा सके। उन्होंने पार्टी महासचिवों और प्रभारियों का आह्वान किया कि सरकार के कोरोना से जुड़े ‘कुप्रबंधन’ पर कांग्रेस की ओर से तैयार ‘श्वेत पत्र’ को प्रसारित किया जाए।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि आप सभी इससे अवगत हैं कि ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी से लोगों को असहनीय बोझ का सामना करना पड़ रहा है। यह रेखांकित करने के लिए आंदोलन किए गए हैं कि इस बढ़ोतरी का किसानों और करोड़ों आम परिवारों पर किस तरह असर पड़ रहा है। सोनिया ने दावा किया कि ईंधन के साथ ही कई जरूरी खाद्य वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि के कारण लोगों को व्यापक स्तर पर परेशानी हो रही है। यह सब ऐसे समय पर हो रहा है जब अप्रत्याशित संख्या में रोजगार खत्म हो रहे हैं, जब बेरोजगारी बढ़ रही है और आर्थिक स्थिति का पटरी पर आना अभी वास्तविकता से दूर दिखाई देता है।

Related Post

security forces

जम्मू कश्मीर : शोपियां में आतंकियों से मुठभेड़. जवानों ने पूरे इलाके को घेरा

Posted by - April 8, 2021 0
जम्मू । दक्षिण कश्मीर के शोपियां में आतंकियों के साथ मुठभेड़ शुरू हो गई है। जन मोहल्ला मुख्य नगर क्षेत्र…
rahul_gandhi

पूर्व MP जॉयस जॉर्ज की अभद्र टिप्पणी, कहा- राहुल गांधी अविवाहित, इसलिए जाते हैं गर्ल्स कॉलेज

Posted by - March 30, 2021 0
 तिरुवनंतपुरम। देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। इनके बीच नेताओं की बयानबाजी लगातार विवाद का मसला…
पांच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ

देश के शहीदों को समर्पित दो दिवसीय पांच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन

Posted by - February 28, 2020 0
लखनऊ। चिनहट के कमता क्षेत्र के अंतर्गत शंकरपुरी कालोनी में आयोजित दो दिवसीय पांच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के दूसरे दिन…

आईएनएक्स मीडिया केस: चिदंबरम को मिली जमानत, लेकिन जेल से नहीं आ पाएंगे बाहर

Posted by - October 22, 2019 0
नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मामले में कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को आज यानी मंगलवार को उच्चतम न्यायालय ने जमानत दे…