सरकार अगर राष्ट्र की संपत्ति में इजाफा नहीं कर सकती तो औनेपौने दामों पर क्यों बेच रही?- तेजस्‍वी यादव

113 0

बिहार के राष्‍ट्रीय जनता दल नेता तेजस्‍वी यादव ने केंद्र सरकार के नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन प्‍लान को लेकर सवाल उठाए हैं। प्लान के तहत रोड, रेलवे, एयरपोर्ट से लेकर पावर ट्रांसमिशन लाइन्‍स और गैस पाइपलाइंस से भारत सरकार अगले चार साल में छह लाख करोड़ जुटाने वाली है। केंद्र की इस योजना पर सवाल उठाते हुए तेजस्‍वी याादव ने कहा- केंद्र सरकार खरबों की राष्ट्रीय सम्पत्ति निजी कंपनियों को क्यों बेच रही है?उन्होंने कहा- अगर केंद्र सरकार राष्ट्र की संपत्ति में इजाफा नहीं कर सकती तो औनेपौने दामों पर बेचकर राष्ट्र का नुकसान क्यों रही है?

उन्होंने पूछा- केंद्र सरकार बताए उसे राष्ट्र की परिसम्पत्तियाँ बेचने की क्या मजबूरी है? क्या यह एनडीए सरकार की नाकामी और अदूरदर्शिता नहीं है? केंद्रीय सरकार की निजीकरण द्वारा सरकारी नौकरियों को समाप्त करने तथा सरकारी नौकरियों एवं सार्वजनिक उपक्रमों में वंचित वर्गों के आरक्षण को ख़त्म करने की एक दीर्घकालिक भयावह योजना है और RJD अपने लोकतांत्रिक समाजवादी भारत को चंद पूंजीपतियों के हाथों में बेचने और गिरवी रखने के इस प्रयास के खिलाफ अंत तक लड़ेगी।

पश्चिम बंगाल मे चुनाव बाद हुई हिंसा मामले में सीबीआई ने की बड़ी कार्रवाई, दर्ज किए 9 मामले

आरजेडी नेता ने कहा कि  केंद्र और राज्य की डबल इंजन सरकार को यह बताना चाहिए कि कुछ चुनिंदा पूंजीपतियों को राष्ट्रीय संपत्ति बेचने से देशवासियों और अर्थव्यवस्था को कैसे मदद मिलेगी?केंद्र सरकार बताए उसे राष्ट्र की परिसम्पत्तियाँ बेचने की क्या मजबूरी है? क्या यह एनडीए सरकार की नाकामी और अदूरदर्शिता नहीं है?

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

बीजेपी

पश्चिम बंगाल:हाईकोर्ट के मना करने के बाद भी भाजपा की मीटिंग हुई,बीजेपी के इन नेताओं पर FIR

Posted by - December 8, 2018 0
कूचबिहार। बीजेपी की ओर से रथयात्रा को लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट के मना करने के बाद भी मीटिंग हुई इसके बाद…

मोदी सरकार ने जारी किया अमृत महोत्सव का पोस्टर, नेहरू को नहीं दी जगह, सावरकर शामिल

Posted by - August 28, 2021 0
मोदी सरकार द्वारा आजादी के जश्न के लिए मनाए जा रहे अमृत महोत्सव का एक पोस्टर भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद्…