Gyanvapi

सनातन संघ ने ज्ञानवापी केस से दो वकीलों को पैरवी करने से हटाया

129 0

वाराणसी: ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Mosque) और श्रृंगार गौरी मंदिर (Shringar Gauri Mandir) विवाद को लेकर चल रहे मुकदमे में हिन्दू पक्ष के वकीलों हरिशंकर जैन (Harishankar Jain) और विष्णु जैन (Vishnu Jain) को मुकदमे के पैरवी से हटाने का निर्णय लिया गया है। ज्ञानवापी मामले में कानूनी मदद दे रही संस्था विश्व वैदिक सनातन संघ के अध्यक्ष जितेंद्र सिंह बिसेन ने बताया कि अधिवक्ता हरिशंकर जैन और उनके बेटे विष्णु जैन को ज्ञानवापी मामले के पैरवी से हटाने का निर्णय लिया गया है।

बिसेन ने कहा, ‘हमने जिला अदालत से लेकर उच्चतम न्यायालय तक के अपने सभी मुकदमों की पैरवी से हरिशंकर जैन और विष्णु जैन को हटाने का फैसला लिया है। हम अदालत की अगली सुनवाई पर उनके वकालत नामे को निरस्त करने की अर्जी देंगे।’ उन्होंने बताया, ‘मैं हरिशंकर जैन की अध्यक्षता में चल रही हिन्द साम्राज्य पार्टी में राष्ट्रीय संयोजक और राष्ट्रीय महासचिव के पद पर था, जिससे मैंने इस्तीफा दे दिया है।’

ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग बहस में कूदे अक्षय कुमार, दिया ये बयान

गौरतलब है कि अधिवक्ता हरिशंकर जैन और उनके पुत्र विष्णु जैन ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले की पैरवी कर रहे थे। इसके साथ ही पिता और पुत्र की जोड़ी हिन्दुओं से जुड़े कई मुकदमों की पैरवी कर रही है। विष्णु जैन ने इस मामले को लेकर सवाल किए जाने पर कहा, ‘ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में पांच महिलाएं वादी हैं। उनमें से एक वादी और जितेंद्र सिंह बिसेन की भतीजी रेखा सिंह द्वारा पैरवी से हटाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। बाकी वादी चार महिलाओं की ओर से हम लोग इस मुकदमे की पैरवी करेंगे।’

सरकार ने पशुपालन, दुग्ध उत्पादन एवं डेयरी के क्षेत्र में अथक कार्य किए : सीएम योगी

Related Post

dead bodies

लाशों पर राजनीति

Posted by - May 14, 2021 0
भारत में लाशों (Dead bodies)  पर राजनीति का खेल बहुत पुराना है। किसी की मौत का सहानुभूतिक लाभ उठाना कुछ…
CM YOGI

UP में धारा 144 लागू, चुनाव प्रचार में 5 से ज्यादा लोग इकट्ठा होने पर होगी कार्रवाई

Posted by - April 5, 2021 0
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए यूपी सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की गई है। यूपी…

सुल्तानपुर का नाम कुशभवनपुर करने की मांग, बीजेपी विधायक ने सीएम योगी को लिखा पत्र

Posted by - August 30, 2021 0
उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव हैं। ऐसे में इन दिनों कई शहरों के नाम बदलने की चर्चाएं…