हाई बीपी

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए हैं रामबाण! रोजाना करें ये योगासन

780 0

नई दिल्ली। ब्लड प्रेशर जिसका लो या हाई दबाव के रूप में निदान किया जा सकता है, इसे हाइपोटेंशन और हाई ब्लड प्रेशर के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। आज यानि 17 मई को दुनियाभर में वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे मनाया जा रहा है।

दुनिया भर में अनुमानित 972 मिलियन लोग हैं जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित

दुनिया भर में अनुमानित 972 मिलियन लोग हैं जो ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित हैं। यह बड़ी संख्या हाई ब्लड प्रेशर के साथ दुनिया की आबादी का लगभग 26 प्रतिशत है। काम से संबंधित तनाव, अच्छी नींद न लेना, अस्वस्थ रहने के चक्र को सेट कर सकता है, भोजन जो आपके शरीर की पोषण संबंधी आवश्यकताओं, अनियमित नींद को पूरा नहीं करता है। ऐसा करने से न सिर्फ आपको भूख कम लगती है बल्कि आप हाई ब्लड प्रेशर की चपेट में भी आ सकते हैं।

लॉकडाउन में शाहरुख खान ने ये पांच जरूरी बातें सीखी, पोस्ट किया शेयर

मानव शरीर में हृदय और रक्त परिसंचरण कैसे काम करता है, ब्लड प्रेशर इसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा

हाई ब्लड प्रेशर के कई कारण हैं। मानव शरीर में हृदय और रक्त परिसंचरण कैसे काम करता है, ब्लड प्रेशर इसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसे चिकित्सकीय रूप से आपकी धमनियों की दीवारों पर आपके रक्त के दबाव के रूप में परिभाषित किया जाता है क्योंकि आपका हार्ट इसे आपके शरीर के चारों ओर पंप करता है। हेल्दी लाइफस्टाइल के साथ हाई ब्लड प्रेशर को प्रभावी ढंग से नियंत्रित किया जा सकता है। योग उच्च रक्तचाप से लड़ने और इससे जुड़ी बीमारियों के जोखिम को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता है।

हर साल वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे की थीम भी एक खास विषय पर रखी जाती है, जिससे लोगों में इसके प्रति जागरुकता बढ़े। एक्सपर्ट्स ने हाई ब्लड प्रेशर के लिए योग को सबसे बेहतर और कारगर बताया है।

वृक्षासन

  • शुरुआत खड़े होकर करें।
  • आप फर्श से दाएं पैर को उठाएं और अपने शरीर के वजन को अपने बाएं पैर पर संतुलित करें।
  • अपने दाहिने पैर को अपनी लिफ्ट की आंतरिक जांघ पर रखें।
  • इसे यथासंभव अपने श्रोणि के करीब रखें।
  • अपना संतुलन खोजने के बाद, अपने हृदय चक्र में प्राणम मुद्रा में अपनी हथेलियों को मिलाएं।
  • अपने हाथों को आकाश की ओर उठाएं।
  • अपनी कोहनी को सीधा करें और सुनिश्चित करें कि आपका सिर आपकी बाहों के बीच में है।
  • अपने टकटकी आगे ध्यान केंद्रित करें।
  • ठीक ऐसा दूसरे पैर के साथ दोहराएं।
  • प्रत्येक 30 सेकंड के 3 सेट दोहराएं।

वज्रासन

  • अपने शरीर के किनारों से अपनी बाहों के साथ सीधे खड़े होकर शुरुआत करें।
  • आगे झुकें और धीरे-धीरे अपने घुटनों को अपनी चटाई पर छोड़ें।
  • अपनी एड़ी पर अपनी श्रोणि रखें और अपने पैर की उंगलियों को बाहर की ओर इंगित करें।
  • अपनी एड़ी को एक-दूसरे के करीब रखें।
  • पैर की उंगलियों को दूसरे के ऊपर न रखें, इसके बजाय दाएं और बाएं एक दूसरे के बगल में होना चाहिए।
  • अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर ऊपर की ओर रखें।
  • अपनी पीठ को सीधा करें और आगे देखें।
  • प्रत्येक 30 सेकंड के 3 सेट दोहराएं।

सावित्री आसन

  • अपनी भुजाओं को बाहर की ओर तानें, अपने घुटनों को मोड़ना शुरू करें।
  • अपने ऊपरी शरीर को मोड़ें और अपने शरीर को सहारा देने के लिए अपनी भुजाओं को फर्श पर रखें।
  • आपके शरीर के वजन के साथ आपके निचले पैर और घुटनों का सहारा लेकर अपने ऊपरी शरीर को फर्श पर सीधा रखें।
  • हथेलियों के साथ कंधे से दूरी और एक दूसरे का सामना करने के साथ अपनी बाहों को आकाश तक फैलाएं।
  • आपके हाथ, रीढ़, कूल्हे और जांघें एक सीध में होनी चाहिए।
  • प्रत्येक 30 सेकंड के 3 सेट दोहराएं।

प्राणायाम- भस्त्रिका प्राणायाम

  • किसी भी आरामदायक मुद्रा में बैठें (जैसे सुखासन, अर्धपद्मासन या पद्मासन)
  • अपनी पीठ को सीधा करें और अपनी आंखें बंद करें।
  • अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर रखें (प्रपथी मुद्रा में)
  • श्वास लें और अपने फेफड़ों को हवा से भरें।
  • पूरी तरह से सांस छोड़ें।

सांस लेना और सांस छोड़ना 1: 1 के अनुपात में किया जाना चाहिए। उदाहरण के लिए, अगर आप 6 काउंट के लिए सांस लेते हैं, तो आपको सांस छोड़ने के लिए 6 ही काउंट लेना चाहिए।

समय: आप दिन में पांच मिनट के लिए इस श्वास तकनीक का अभ्यास करके शुरू कर सकते हैं और धीरे-धीरे समय के साथ इसे बढ़ा सकते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर आपके रक्त वाहिकाओं और अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है, विशेष रूप से मस्तिष्क, हृदय, आंखें और गुर्दे। अगर इसे अनकंट्रोल छोड़ दिया जाए तो यह दिल के दौरे, स्ट्रोक, वृक्क विकार और संवहनी मनोभ्रंश जैसी संभावित जीवन-धमकी की स्थिति पैदा कर सकता है।

योग संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। पौष्टिक भोजन का सेवन, अच्छी नींद आपके ब्लड प्रेशर लेवल को कम करने में मदद कर सकती है, लेकिन ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए इस बात पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि आप कौन सी एक्सरसाइज कर रह हैं। योग शुरू करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना आवश्यक है। अगर आपको उच्च रक्तचाप है, तो योग विशिष्ट खड़े पोज़, बैक बेंड और इनवर्सस की सिफारिश नहीं करता है। इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप योग शिक्षक के मार्गदर्शन में अभ्यास करें कि आपके लिए पोज़ सुरक्षित है या नहीं।

Related Post

उत्तराखंड सरकार को हाईकोर्ट से राहत, अब ज्यादा तीर्थयात्री कर सकेंगे चारधाम यात्रा

Posted by - October 5, 2021 0
देहरादून। उत्तराखंड सरकार को नैनीताल हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। अब असीमित संख्या में तीर्थयात्री चारधाम यात्रा कर सकेंगे।…
President Ram nath Kovind

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज पहुचेंगे बनारस, मां गंगा की आरती में होंगे शामिल

Posted by - March 13, 2021 0
वाराणसी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind)  आज अपने तीन दिवसीय दौरे पर वाराणसी आ रहे हैं, जहां वह काशी…
अमित शाह

अमित शाह बोले- केजरीवाल जी यमुना में डुबकी लगाइए, हालत का अंदाजा हो जाएगा

Posted by - January 29, 2020 0
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा के लिए चुनाव प्रचार लगातार जोर पकड़ रहा है। सभी राजनीतिक पार्टियां ज्यादा से ज्यादा लोगों…