राहुल गांधी का यूपी और केंद्र सरकार पर हमला, कहा- प्रदेश में कुछ भी कर सकते हैं अपराधी

166 0

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी की हिंसा, प्रियंका गांधी वाड्रा की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवारों से मिलने से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा रोके जाने पर राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान राहुल गांधी ने यूपी व केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि वो दो नेताओं के साथ लखीमपुर खीरी जाएंगे। राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मैं वहां जाकर जमीनी हालत को जानना और समझना चाहता हूं, क्योंकि ये किसी को नहीं पता है और सच वहां जाकर ही पता लगेगा। दरअसल, कांग्रेस पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ राहुल गांधी लखीमपुर खीरी जाने वाले थे। इसके लिए उन्होंने यूपी सरकार से इजाजत भी मांगी लेकिन उन्हें इजाजत नहीं मिली।

राहुल गांधी ने कहा कि कल प्रधानमंत्री मोदी लखनऊ गए थे लेकिन वो लखीमपुर खीरी नहीं जा सके। उन्होंने पोस्टमॉर्टम पर सवाल उठाते हुए कहा, लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में पोस्टमॉर्टम ठीक से नहीं किया गया और जो भी इसके खिलाफ बोल रहा है उसे बंद कर दिया जा रहा है।

राहुल ने कहा, कुछ समय से हिंदुस्तान के किसानों पर सरकार का आक्रमण हो रहा है। किसानों को जीप के नीचे कुचला जा रहा है, बीजेपी के होम मिनिस्टर और उनके पुत्र का नाम आ रहा है, लेकिन उन पर कोई एक्शन नहीं हुआ। उन्होंने कहा, ‘दो सीएम के साथ हम लखनऊ और लखीपुर खीरी जाने की कोशिश करेंगे।

‘यूपी में नए तरीके की राजनीति हो रही है’

राहुल गांधी ने कहा कि आज वो लखीमपुर जाने की कोशिश करेंगे। धारा 144 के तहत 5 लोगों के एक जगह एकत्रित होने पर पाबंदी होती है इसलिए उनके साथ दो कांग्रेस नेता होंगे। यानी कुल तीन लोग जाएंगे। राहुल ने यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके एमएलए ने भी रेप किया था। हम मामला नहीं उठाते तो वो भी दब जाता। प्रदेश में ये नए तरीके की राजनीति हो रही है। यहां अपराधी कुछ भी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, इस सरकार में जो मारते हैं वो जेल के बाहर घूमते हैं और जो मर रहे होते हैं उन्हें अंदर कर दिया जाता है। राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी जाने से सिर्फ हमे रोका जा रहा है, बाकी पार्टियों को इजाजत दे दी गई है। हमारा काम मुद्दे उठाना है। सरकार चाहती है कि हम ये न करें।

बड़ा मुद्दा किसानों का है- राहुला गांधी

राहुल गांधी ने कहा, हाथरस में हमने मुद्दे उठाए थे, तभी कार्रवाई हुई। जिन किसानों को मारा गया, जिनका हक छीना जा रहा है, हम उनके लिए लड़ रहे हैं।

प्रियंका गांधी के साथ पुलिस के बुरे बर्ताव पर राहुल गांधी ने कहा, ‘मेरे परिवार का कोई भी हो, मैं या प्रियंका या कोई भी हमें मार दीजिए, गाड़ दीजिए, काट दीजिए, हमारे साथ बुरा बर्ताव कीजिए, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। हमारी ट्रेनिंग ही ऐसी है। सालों पुरानी ट्रेनिंग है, यह ट्रेनिंग हमारे परिवार ने दी है। मुद्दा किसानों का है, उसकी बात करते रहेंगे।

Related Post

नितिन गडकरी

पेट्रोल और डीजल के अलावा इन ईंधनों पर चलेगी गाड़ियां : नितिन गडकरी

Posted by - February 7, 2020 0
नई दिल्ली। भारत में जल्द एथेनॉल, मेथेनॉल, बायोडीजल, सीएनजी, एलएनजी और हाइड्रोजन का प्रयोग ईंधन के रूप में होगा। इससे…
यूपी बोर्ड परीक्षा

यूपी बोर्ड परीक्षा: पंचायत चुनाव के कारण तारीखों में हो सकता है बदलाव

Posted by - March 23, 2021 0
लखनऊ। यूपी में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के कारण उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद मतलब यूपी बोर्ड परीक्षा (UP…
vaccination

पूरी दिल्ली का इतने समय में हो जाएगा टीकाकरण, जानें क्या है तैयारी?

Posted by - November 26, 2020 0
नई दिल्ली। दिल्ली में कोविड-19 टीकाकरण (COVID-19 Vaccination) कार्यक्रम तैयार हो गया है। राजधानी की पूरी आबादी का टीकाकरण एक…