कोरोना वायरस के 300 संदिग्ध

निजामुद्दीन मरकज़ में कोरोना वायरस के 300 संदिग्धों को अस्पतालों में भर्ती कराया

106 0

नई दिल्ली। दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज से कोरोना वायरस ‘कोविड-19 के संक्रमण की जांच के लिए 200 संदिग्ध पाए गए हैं। इनको यहां के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती के लिए ले जाया गया है, जबकि करीब 1200 लोग अभी वहां मौजूद हैं जिन्हें निकाला जा रहा है।

मरकज के 300 लोगों को कोरोना वायरस से संदिग्ध माना , ये सर्दी, जुकाम, खांसी आदि से पीड़ित

मरकज के 300 लोगों को कोरोना वायरस से संदिग्ध माना जा रहा है। ये सर्दी, जुकाम, खांसी आदि से पीड़ित हैं। लॉकडाउन से पहले मरकज में करीब दो हजार लोग मौजूद थे लेकिन कुछ लोग विभिन्न राज्यों में चले गये। मरकज में समय गुजारकर यहां से जाने वालों में छह लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं जबकि एक व्यक्ति की मौत हो गयी है गई है। मृतकों की अभी जांच रिपोर्ट नहीं आई है।

संकट की घड़ी में सामाजिक संगठन लोगों की मदद करें : पीएम मोदी

स्वास्थ्य विभाग, विश्व स्वास्थ्य संगठन, नगर निगम और दिल्ली पुलिस की टीम मरकज से लोगों को निकालने का कर रही है काम 

स्वास्थ्य विभाग, विश्व स्वास्थ्य संगठन, नगर निगम और दिल्ली पुलिस की टीम मरकज से लोगों को निकालने का काम कर रही है। एक पुलिस के अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन के पहले से ही यहां से भीड़भाड़ हटाने और सोशल डिस्टेन्सिंग के लिए कहा जा रहा था लेकिन मरकज के लोगों ने उनकी नहीं सुनी। यहां रहने वाले लोगों में बड़ी संख्या में 60 साल से अधिक उम्र के लोग हैं।

मरकज से पिछले दो दिनों में 200 लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच के लिए अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया

निजामुद्दीन के एक स्थानीय निवासी ने बताया कि मरकज से पिछले दो दिनों में 200 लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच के लिए अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया गया है और मरकज के आसपास के इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है। जिन लोगों को जांच के लिए ले जाया गया है, उनमें बंगलादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन के करीब 100 विदेशी नागरिक शामिल हैं। मरकज के लोगों ने लॉकडाउन के साथ-साथ इस बीमारी को भी बहुत हल्के में लिया।

देश में कोरोना संक्रमण से 29 लोगों की हुई मौत, 1071 संक्रमित

रविवार को तमिलनाडु के एक 64 वर्षीय शख्स की मौत हो गई थी जो मरकज में रुका हुआ था

रविवार को तमिलनाडु के एक 64 वर्षीय शख्स की मौत हो गई थी जो मरकज में रुका हुआ था। मरने वाले शख्स की अभी जांच रिपोर्ट नहीं आई है। इस घटना के बाद पुलिस ने जांच तेज कर दी थी। पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए इलाके में ड्रोन से निगरानी रख रही है।
मरकज से कुछ ही दूर पर प्रसिद्ध सूफी निजामुद्दीन औलिया की मजार है जहां पर बड़ी संख्या में जायरीन यहां आते हैं लेकिन इन दिनों दरगाह पूरी तरह बंद है। बता दें कि निजामुद्दीन स्थित मरकज इस्लाम की शिक्षा का प्रचार-प्रसार करने वाला विश्व का सबसे बड़ा केंद्र है जहां कई देशों के लोग आते रहते हैं।

Loading...
loading...

Related Post

भारत और पाक के बीच बढ़ते तनाव पर चिंतित अमेरिकी राष्‍ट्रपति

Posted by - October 25, 2019 0
वाशिंगटन। भारत और पाकिस्‍तान के बीच बढ़ते तनाव पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने चिंता व्‍यक्‍त की है। वरिष्‍ठ अधिकारी…
लैंडर विक्रम से संपर्क की सभी उम्मीदें खत्म!

चंद्रयान-2 : इसरो बोला- लैंडर विक्रम से संपर्क की सभी उम्मीदें खत्म!

Posted by - September 18, 2019 0
नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने चंद्रयान-2 को देशवासियों से मिले अपार समर्थन के लिए सभी का धन्यवाद…
CAA पर बोले अभिजीत बनर्जी

CAA पर बोले अभिजीत बनर्जी, यह सोचना आधारहीन है कि मुस्लिम भारत को कब्जे में ले लेंगे

Posted by - January 29, 2020 0
कोलकाता। विवादास्पद नागरिकता संशोधन अधिनियम की पड़ताल करते हुए नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने कहा है कि भारत में…