Gorakhpur

नए उत्तर प्रदेश के नए गोरखपुर के साक्षी बने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

106 0

गोरखपुर: नए भारत के नए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का नया गोरखपुर (Gorakhpur)। इस इस हकीकत के साक्षी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) भी बने। गुरु गोरक्षनाथ की तपोभूमि गोरखपुर (Gorakhpur) और महान समाज सुधारक संत कबीर की साधना स्थली मगहर के लिए दो दिवसीय दौरे पर पधारे राष्ट्रपति ने शनिवार रात गोरखपुर की नैसर्गिक झील रामगढ़ताल की खूबसूरती का दीदार किया। इस साल का निखरा सौंदर्य देख वह प्रफुल्लित हो उठे। रामगढ़ताल की जेटी से उन्होंने साउंड एंड लाइट शो का आनंद उठाया और गोरखपुर समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश की आध्यात्मिक, सांस्कृतिक व साहित्यिक विरासत से रूबरू हुए।

गीता प्रेस के शताब्दी वर्ष शुभारंभ समारोह मैं सम्मिलित होने तथा गोरखनाथ मंदिर जाकर गुरु गोरक्षनाथ का दर्शन पूजन करने के उपरांत राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ताल पहुंचे। दशकों तक उपेक्षित रहा यह ताल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयासों से आज पूर्वी उत्तर प्रदेश के खूबसूरत स्थलों में शामिल होने के साथ महत्वपूर्ण पर्यटन केंद्र के रूप में भी विख्यात है। रामगढ़ ताल की खूबसूरती ने राष्ट्रपति का भी मन मोह लिया। चारों तरफ से जगमग रोशनी के बीच ताल को निहारने के बाद राष्ट्रपति ने देश की प्रथम महिला नागरिक सविता कोविंद, प्रदेश राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ साउंड एंड लाइट शो का आनंदित भाव में अवलोकन किया।

करीब 45 मिनट के साउंड एंड लाइट के लेजर शो के जरिए राष्ट्रपति शिवावतारी गुरु गोरखनाथ, गोरक्षपीठ के मूर्धन्य महंतजनों, महान साहित्यकार प्रेमचंद, फिराक गोरखपुरी के व्यक्तित्व व कृतित्व की गाथा से रूबरू हुए। साउंड एंड लाइट शो में भगवान श्रीराम के पुत्र कुश की नगरी तथा भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर व संतकबीर की साधना स्थली मगहर के बारे में भी जानकारी दी गई।

संत कबीर की साधना स्थली मगहर में राष्ट्रपति का आगमन

बच्चों से मिले राष्ट्रपति, बातचीत कर खूब पढ़ने, आगे बढ़ने को किया प्रेरित

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जब रामगढ़ ताल की जेटी पर पहुंचे तो वहां बड़ी संख्या में बच्चे उनके स्वागत के लिए मौजूद थे। ‘वेलकम टू गोरखपुर ऑनरेबल प्रेसिडेंट’ लिखी तख्तियां लिए इन बच्चों के पास पहुंचे राष्ट्रपति ने न केवल उनका अभिवादन स्वीकार किया, बल्कि करीब 10 मिनट तक वह उनसे बातचीत करते रहे। आत्मीय संवाद करते हुए राष्ट्रपति ने इन बच्चों को खूब आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान उन्होंने कुछ बच्चों से खाने-पीने को लेकर हंसी ठिठोली भी की। साउंड एंड लाइट शो का आनंद उठाकर जाते वक्त भी राष्ट्रपति जी ने हाथ हिलाकर बच्चों का अभिवादन स्वीकार किया।

मुख्यमंत्री धामी ने की चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा

Related Post

buse fire

झारखंड विधानसभा चुनाव : नक्‍सलियों बस फूंकी और वोटरों को बनाया बंधक

Posted by - December 7, 2019 0
चाईबासा। झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के बीच नक्‍सलियों का उत्‍पात शनिवार को जारी रहा। चाईबासा में…