पीएम मोदी

पीएम मोदी ने निर्भया केस में इंसाफ का किया स्वागत, बोले- हुआ न्याय

83 0

नई दिल्ली। आखिरकार सात साल के लंबे इंतजार के बाद 20 मार्च की सुबह साढ़े पांच बजे निर्भया के चारों गुनहगारों को फांसी दे दी गई। पूरे देश में इस न्याय को लेकर लोग खुश हैं। निर्भया के दोषियों की फांसी के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट कर इंसाफ का स्वागत किया है। उन्होंने लिखा कि आज न्याय हुआ है।

पीएम मोदी ने कहा कि महिलाओं की गरिमा और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इसका अत्यधिक महत्व

पीएम मोदी ने कहा कि महिलाओं की गरिमा और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इसका अत्यधिक महत्व है। उन्होंने कहा कि हमारी नारी शक्तियों ने हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। हमें मिलकर एक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करना है, जहां महिला सशक्तीकरण पर ध्यान दिया जाए, जहां समानता और अवसर पर जोर हो।

अरविंद केजरीवाल बोले- सभी संकल्प लें कि देश में दोबारा निर्भया कांड न दोहराया जाए

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी लोगों को संबोधित किया है। उन्होंने सभी से अपील की कि वे संकल्प लें कि देश में दोबारा निर्भया कांड न दोहराया जाए। केजरीवाल ने कहा कि निर्भया को न्याय पाने में सात साल लग गए। आज वह दिन है जब सभी लोगों को संकल्प लेना चाहिए कि अब देश में निर्भया जैसी दूसरी घटना नहीं होगी। इसके लिए सभी के स्तर पर काम करने की जरूरत है।

निर्भया के  दोषियों को फांसी हर अपराधी के लिए यह संदेश है कि एक न एक दिन कानून आपको पकड़ लेगा : स्मृति ईरानी 

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि मैंने इतने सालों में निर्भया की मां का संघर्ष देखा है। हालांकि न्याय पाने में समय लगा, लेकिन आखिरकार न्याय हुआ। यह लोगों को भी संदेश है कि वे कानून से भाग सकते हैं, लेकिन हमेशा के लिए इससे बच नहीं सकते। मुझे खुशी है कि न्याय हुआ। मैं आज के दिन दिल की गहराइयों से स्वागत करती हूं। दोषियों को फांसी हर अपराधी के लिए यह संदेश है कि एक न एक दिन कानून आपको पकड़ लेगा।

IPC और CRPC की सभी खामियां निर्भया केस में खुलकर सामने आ गई : जी किशन रेड्डी

केंद्रीय गृहराज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने निर्भया के दोषियों की फांसी पर कहा है कि IPC और CRPC की सभी खामियां इस केस में खुलकर सामने आ गई हैं। ऐसे मामलों में त्वरित सजा मिलनी चाहिए। इसलिए सरकार IPC और CRPC में बदलाव लाना चाहती है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मृत्युदंड की सजा पाए दोषियों को इस तरह सात वर्षों तक न्याय व्यवस्था को बरगलाने की अनुमति दी जानी चाहिए या नहीं ? , विचार जरूरी

वहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आज के दिन न्यायपालिका, सरकार और समाज को यह विचार करना चाहिए कि मृत्युदंड की सजा पाए दोषियों को इस तरह सात वर्षों तक न्याय व्यवस्था को बरगलाने की अनुमति दी जानी चाहिए या नहीं? यह चारों वह गुनहगार थे जिन्होंने सबसे घिनौने अपराध को अंजाम दिया था। काश इन्हें पहले ही फांसी हो गई होती।

Loading...
loading...

Related Post

झारखंड चुनाव

झारखंड चुनाव: दूसरे चरण में 20 सीटों पर 63 फीसदी, बहरागोड़ा में 75 फीसदी वोटिंग

Posted by - December 7, 2019 0
रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण का मतदान शनिवार को संपन्न हो गया है। दूसरे चरण में 20 सीटों…