Farmer

PM KISAN योजना: 11वीं किस्त पाने के लिए किसानों को करना होगा ये काम

55 0

नई दिल्ली: करोड़ों किसानों (Farmer) की आर्थिक मदद के लिए केंद्र सरकार (Central government) ने कई योजनाएं बनाई हैं। ऐसी ही एक योजना है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Yojana)। इस योजना के तहत देश के करोड़ों किसानों को हर साल 6,000 रुपये की राशि प्रदान की जाती है। 2-2 हजार किश्तों के रूप में राशि सीधे किसानों (Farmer) के बैंक खाते में भेजी जाती है। और अब सभी को 11वीं किस्त का इंतजार है। लेकिन उससे पहले आपके लिए यह जान लेना जरूरी है कि अगर आपने अब तक e-KYC नहीं कराया है तो आप 11वीं किस्त से वंचित रह जाएंगे, तो आइए जानते हैं इसे कैसे करें।

किसान (Farmer) पोर्टल पर फिर से शुरू हुआ ई-केवाईसी

पहले किसान (Farmer) पोर्टल पर ई-केवाईसी सेवा कुछ समय के लिए बंद कर दी गई थी और सभी को अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर केवाईसी कराने को कहा गया था। लेकिन अब वेबसाइट पर फिर से यह सुविधा शुरू कर दी गई है यानी आप घर बैठे ही ई-केवाईसी कर सकते हैं, ई-केवाईसी करने की आखिरी तारीख 31 मई है।

Farmers Protest: किसानों को विरोध रोककर केंद्र के साथ बात करनी चाहिए- केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

ई-केवाईसी करने के तीन चरण

1: सबसे पहले, पीएम किसान के आधिकारिक पोर्टल https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।

2: अब ‘किसान कॉर्नर’ विकल्प चुनें, और फिर ‘ई-केवाईसी’ विकल्प पर क्लिक करें। अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जहां आपको अपने आधार कार्ड की जानकारी भरकर सर्च टैब पर क्लिक करना है।

3: इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा। इसे दर्ज करें और फिर ‘सबमिट ओटीपी’ पर क्लिक करें। आपका ई-केवाईसी अब पूरा हो गया है।

बीजेपी में लगी इस्तीफों की झड़ी, एक साथ 15 नेताओं ने छोड़ी पार्टी

Related Post

वैश्विक अर्थव्यवस्था के 90 खरब डॉलर का नुकसान

कोरोनावायरस वैश्विक अर्थव्यवस्था के 90 खरब डॉलर का करेगा नुकसान

Posted by - April 14, 2020 0
नयी दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का अनुमान है कि ‘कोविड-19’ वैश्विक अर्थव्यवस्था को दो साल में 90 खरब डॉलर…
smartphone

टेलीविजन, कैमरे, अलार्म घड़ियों की जगह स्मार्टफोन ने लिया : रिपोर्ट

Posted by - March 1, 2020 0
नई दिल्ली। बदलती प्रौद्योगिकी के दौर में स्मार्टफोन लोगों की दिनचर्या का अभिन्न हिस्सा बनता जा रहा है। साइबर सुरक्षा…