शरद पवार ने केंद्र और यूपी सरकार को घेरा, कहा- पहले कभी नहीं हुई लखीमपुर जैसी घटना

154 0

नई दिल्ली। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र और यूपी सरकार को घेरा है। शरद पवार ने चीन से भारत की बातचीत, केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग, लखीमपुर खीरी हिंसा और वीर सावरक समेत कई अन्य मामलों पर बयान दिए हैं। कॉन्फ्रेंस के दौरान शरद पवार ने कहा कि पिछले कुछ समय से हमारी बातचीत चीन से चल रही है, लेकिन 13वीं बातचीत असफल हुई। दूसरी तरफ कश्मीर में 5 जवान शहीद हुए हैं, ये गंभीर है। पवार ने कहा, मुझे लगता है कि सभी दलों को एक साथ आकर भूमिका लेने की जरुरत है। देश की सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति बीच में नहीं आनी चाहिए। सभी को साथ आने की जरुरत है।

संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग हो रहा- शरद पवार

शरद पवार ने केंद्रीय एजेंसियों के बढ़ते दुरुपयोग पर कहा कि संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग हो रहा है, चाहें वो सीबीआई हो, ईडी हो, आईटी हो या एनसीबी। पवार ने महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को लेकर कहा कि पिछले दिनों मुंबई पुलिस आयुक्त ने आरोप लगाए। कोर्ट जांच के आदेश के बाद देशमुख ने सत्ता से दूर होने का फैसला किया। इस मामले की जांच निष्पक्ष हो इसलिए देशमुख अलग हुए, लेकिन जिन्होंने आरोप लगाए वे ही गायब हैं। कई दिनों से उनके ही कई मामले सामने आने लगे हैं। देशमुख के घर से मुझे जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक 5वीं बार उनके घर पर केंद्रीय एजेंसी ने छापेमारी की है, क्या मिला अभी तक मुझे समझ नहीं आ रहा है।

शरद पवार ने की सीएम योगी के इस्तीफे की मांग

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने लखीमपुर खीरी कांड पर बीजेपी की यूपी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि लखीमपुर जैसी घटना आज तक नहीं हुई। इसके साथ ही पवार ने लखीमपुर घटना का जिक्र करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग की है।

‘लखीमपुर जैसी घटना पहले कभी नहीं हुई’

प्रेस कॉन्फ्रेंस में शरद पवार ने कहा कि लखीमपुर जैसी घटना पहले कभी नहीं हुई। प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि वहां गृह राज्य मंत्री (अजय मिश्रा) का बेटा (आशीष मिश्रा) भी मौजूद था। सुप्रीम कोर्ट ने इसपर सुनवाई की तब जाकर मंत्री का बेटा पकड़ा गया।

पवार ने आगे कहा, ‘जो सत्ता में हैं उनको इसपर स्टैंड लेने की जरूरत है। सीएम योगी अपनी जिम्मेदारी से ऐसे पीछे नहीं हट सकते। उन्हें तत्काल इस्तीफा देना चाहिए।

पवार ने देवेंद्र फणनवीस पर भी साधा निशाना

दूसरी तरफ, पवार ने महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फणनवीस पर निशाना साधते हुए कहा, ‘फणनवीस ने लखीमपुर घटना की तुलना मवाल में हुई फायरिंग से की थी। बता दूं कि मवाल में गोलियां पुलिस ने चलाई थी उसमें किसी नेता पर आरोप नहीं थे। भीड़ को बीजेपी नेता ने भड़काया था।

Related Post

केजीएमयू लखनऊ में पोस्टमार्टम के लिए पैसा मांगने का वीडियो वायरल, अस्पताल ने आरोपों को नकारा

Posted by - June 20, 2021 0
लखनऊ के KGMU में मृत व्यक्तियों का पोस्टमॉर्टम किया जाता है। जो पूरी तरह नि:शुल्क है. ऐसे में अस्पताल के…

लखीमपुर हिंसाः SC में हुई सुनवाई, कहा- दर्ज करें गवाहों के बयान

Posted by - October 26, 2021 0
नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार…