oxygen Destribution set in CM office

 मुख्यमंत्री कार्यालय में बना ऑक्सीजन कंट्रोल रूम, जिलों में सप्लाई पर चौबीस घंटे नजर

355 0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन सप्लाई (Oxygen Supply) पर चेक रखने और मॉनिटरिंग करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश पर गृह विभाग में ऑक्सीजन कंट्रोल रूम (Oxygen control room) बनाया गया है।

इस कंट्रोल रूम में ऑक्सीजन रीयल टाइम ट्रैकिंग की सुविधा है। ये कंट्रोल रूम चौबीसों घंटे काम कर रहा है। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी इस ऑक्सीजन कंट्रोल रूम (Oxygen control room) की 24 घंटे मॉनिटरिंग कर रहे हैं। इसमें संबंधित विभागों के उच्चाधिकारियां की भी मौजूदगी भी सुनिश्चित की गई है।

अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में अब तक रिकॉर्ड ऑक्सीजन सप्लाई हुई है। मंगलवार को उत्तर प्रदेश में 321 टन की कल रिकॉर्ड सप्लाई हुई है, जो अब तक एक दिन का सभी राज्यों के मुकाबले सबसे बड़ी सप्लाई है। उत्तर प्रदेश में अब तक लगभग 600 मीट्रिक टन की ऑक्सीजन सप्लाई हो चुकी है।

मुख्यमंत्री कार्यालय में बनाया गया ऑक्सीजन कंट्रोल रूम

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए ऑक्सीजन टैंकर की संख्या में भी बढ़ौतरी की गई है। प्रदेश में ऑक्सीजन सप्लाई के लिए 84 टैंकर हैं, जहां पहले सिर्फ़ 30 ही ऑक्सीजन टैंकर थे। प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई को मेनटेन करने और उसे बढ़ाने के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन का भी प्रयोग किया जा रहा है जिससे समय की काफ़ी बचत होती है. यही नहीं अब एयरफोर्स का भी सहारा खाली टैंकरों को भेजने के लिए किया जा रहा है।

Related Post

शातिर जालसाजों ने 96 हजार रुपए ऐंठे

शातिर जालसाजों ने 96 हजार रुपए ऐंठे

Posted by - March 6, 2021 0
चिनहट के मटियारी चौकी इलाके में रहने वाले एक दंपत्ति के खाते से शातिर जालसाजों ने 96 हजार रुपए ऐंठ लिए। इसके बाद शुक्रवार को पीड़ित ने स्थानीय थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। स्थानीय पुलिस का दावा है कि मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है।प्रभारी निरीक्षक धनंजय कुमार पांडेय के मुताबिक, पीड़ित तहसीलदार सिंह पत्नी राधा सिंह के साथ स्थानीय थाना इलाके के मटियारी चौकी क्षेत्र के गहमर कुंज में रहते हैं। बीकेटी बाजार में लगी आग, लाखों के नुकसान की आशंका उन्होंने बताया कि चिनहट इलाके में एसबीआई बैंक शाखा में उनका जॉइंट अकाउंट है। गत 21 दिसंबर से 23 नवंबर के बीच उनके खाते से करीब 96 हजार रुपए निकल गए। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले उन्हें जालसाजों ने बैंक कर्मी बनकर फोन कर जरूरी जानकारी हासिल कर ली थी। इसके बाद से उनके अकाउंट से पैसे निकलते रहे। बैंक पहुंचे तो उन्हें जालसाजी का पता चला। इसके बाद स्थानीय पुलिस को घटना की जानकारी दी है। साथ ही बैंक अकाउंट ब्लॉक करवाया है। प्रभारी निरीक्षक चिनहट धनंजय कुमार पांडेय ने बताया कि पीड़ित की तहरीर पर अज्ञात जालसाजों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित कई संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। साथ ही मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है।