lightning

आकाशीय बिजली गिरने से 13 लोगों की मौत, सीएम योगी ने जताया शोक

49 0

लखनऊ।  बरसात ने लोगों को बड़ी राहत तो दी लेकिन इसके साथ ही जगह-जगह हो रहा वज्रपात (Lightning) जानलेवा भी साबित हो रहा है। सोमवार को उत्तर प्रदेश के बांदा में 4, गाजीपुर में 3, महोबा में एक और प्रयागराज में पांच लोगों की मौत हो गयी है, वहीं कई लोग गंभीर रूप से घायल बताये जा रहे हैं।  बिजली गिरने से हुई लोगों की असामयिक मौत को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने गहरा दुख जताया है। सीएम योगी ने इस तरह की घटनाओं पर चिंता जताते हुए कहा कि जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा की।  इसके साथ ही जो लोग घायल हुए उन्हें उचित चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिए।

वहीं, सोमवार को  प्रयागराज के मांडा, कोरांव, बारा, उतरांव और उरुवा में बिजली गिरने (Lightning)  से महिला समेत पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग झुलस गए। वहीं सहसों और लोहगरा में दो मवेशी भी इसकी चपेट में आ गए। मांडा में बबुरा गांव निवासी मुकेश कुमार बिंद पत्नी 24 वर्षीय सन्नो देवी के साथ सोमवार दोपहर धान की रोपाई कर रहे थे। इस दौरान तेज गड़गड़ाहट के साथ वज्रपात हो गया। सन्नो की वहीं मौत हो गई। कोरांव के सिकरो खेलाड़ी का पूरा में सोमवार शाम पांच बजे माड़ो गलदहवा निवासी 27 वर्षीय सोनू पुत्र राम शंकर की रोपाई कर रहे थे। वज्रपात की चपेट में आने से उनकी भी मौत हो गई। वहीं करीब में धान की रोपाई करते समय उर्मिला पत्नी रामगोपाल भी झुलस गई। बारा क्षेत्र के दो अलग-अलग गांवों में सोमवार शाम वज्रपात से एक युवती की मौत हो गई और एक वृद्ध झुलस गया है। पहली घटना ग्राम पंचायत पिपरांव के मजरा मुजरा की है। मुजरा निवासिनी 21 वर्षीय खुशबू पत्नी सुशील बिंद ननद खुशबू (17)और शीप्रा(14 ) पुत्री दिलीप बिंद के साथ गांव के बाहर धान की नर्सरी की रखवाली करने गई थी। खेत में वज्रपात होने से तीनों बेहोश हो गई। कुछ देर बाद दोनों बहनों को होश आ गया। परिवार के लोग बहू खुशबू को लेकर अस्पताल गए। वहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। खुशबू की शादी तीन मई 2022 को हुई सुशील बिंद के साथ हुई थी।

पलायन रोकने के लिए गांवों पर केन्द्रित योजनाओं पर दिया जाए ध्यान : सीएम धामी

वहीं गौहानी गांव में जमुना प्रसाद (50) पुत्र बाबादीन खेत में धान की रोपाई कर रहे थे। वह भी वज्रपात की चपेट में आने से झुलस गए। उतरांव के इनायतपट्टी निवासी मणिलाल भारतीय की 28 वर्षीय पुत्री गीता देवी ससुराल चकिया घराहरा से मायके पांच दिन पूर्व अपने बच्चों के साथ आई थी। सोमवार शाम चार बजे गीता देवी चार महिलाओं के साथ घर से सौ मीटर की दूरी पर धान की रोपाई करने गई थी। वर्षा शुरू होने पर वह खेत से घर आने लगी। घर से कुछ ही दूर पर थी कि अचानक वज्रपात (Lightning)  गिरने से चपेट में आकर गंभीर रूप से झुलस गई। स्वजन ने महिला को निजी अस्पताल में ले गए। जहां डाक्टरो ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। रास्ते में जाते वक्त गंभीर रूप से झुलसी महिला गीता देवी की मौत हो गई। मेजा के सिंघपुर कला गांव की प्रतिभा शर्मा पत्नी श्रीकांत शर्मा सोमवार की शाम करीब सात बजे घर से बाहर शौच के लिए निकली थी। तभी वह अचानक वज्रपात की चपेट में आकर बुरी तरह से झुलस गई। स्वजन अस्पताल लेकर गए, जहां डाक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के चक अब्दुल करीम उर्फ पूरे भुलई गांव निवासी भुल्लूर यादव की भैस वज्रपात होने से उसकी चपेट में आने से मौत हो गई। सोमवार को बांदा में बिजली गिरने से हुई लोगों की मौत हो गयी है, वहीं  4 लोग झुलस गए हैं। वहीं पिछले एक सप्ताह की बात करें तो यहां पर बिजली गिरने से 10 लोगों की जान चली गई है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भारत के पुनर्निर्माण में भागीरथ योगदान है : ऊर्जा मंत्री

वहीं, गाजीपुर के जखनियां में भुड़कुड़ा के मस्तीपुर भड़ेवर गांव में आकाशीय बिजली (Lightning)  की चपेट में आने से तीन चचेरे भाइयों की मौत हो गई, वहीं एक गंभीर रूप से झुलस गया, जिसका मऊ स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। मस्तीपुर भड़ेवर गांव निवासी अभिषेक सरोज (12) पुत्र मोती सरोज, मुकेश सरोज (12) पुत्र सुरेंद्र सरोज, सागर सरोज (15) पुत्र शीतल सरोज और अभिषेक पुत्र जितेंद्र सोमवार की शाम मंगई नदी के किनारे गाय चरा रहे थे। मूसलाधार वर्षा होने के साथ ही तेज बिजली कड़कने के दौरान चारों एक पेड़ के नीचे छिप गए, लेकिन तभी अचानक दूसरी बार बिजली गिर गई और उसकी चपेट में आ गए। स्वजन चारों को आनन-फानन जखनियां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए, जहां चिकित्सकों ने अभिषेक, मुकेश और सागर सरोज को मृत घोषित कर दिया। वहीं दूसरे अभिषेक की हालत गंभीर होने पर उसे मऊ रेफर कर दिया। तहसीलदार, कानूनगो, लेखपाल समेत स्थानीय पुलिस पहुंच गई।

वहीं, महोबा की चरखारी तहसील क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में बिजली गिरने से उसकी चपेट में आकर एक किसान की मौत हो गई, व एक किसान सहित तीन लोग झुलस गए। सोमवार को ग्राम अकठौहां निवासी 57 वर्षीय परमेश्वरी दयाल अपनी पत्नी कुसमा रानी और पौत्री तीन साल की चाहत के साथ खेत पर काम कर रहे थे। दोपहर को वर्षा होने लगी तो सभी लोग झोपड़ी के अंदर आ गए। इसी बीच तेज गरज के साथ बिजली गिर गई। हादसे में तीनों लोग झुलस गए। पास खड़े दूसरे ग्रामीणों की मदद से तीनों को चरखारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Related Post