hanuman gari Temple mahant

अयोध्या में संपत्ति विवाद में हनुमानगढ़ी के नागा साधु की हत्या

564 0
अयोध्या। यूपी के अयोध्या में हनुमानगढ़ी मंदिर के स्थान चरण पादुका के गोशाला में नागा साधु (Naga Sadhu of Hanumangarhi) की हत्या कर दी गई। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी और फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
जिले में हनुमानगढ़ी मंदिर के स्थान चरण पादुका के गोशाला में नागा साधु (Naga Sadhu of Hanumangarhi) की हत्या से हड़कंप मच गया है। इस घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में हनुमानगढ़ी के नागा साधु (Naga Sadhu of Hanumangarhi)  पहुंच गए। जिला प्रशासन के अधिकारी शव को कब्जे में लेकर जांच में जुट गए हैं। पुलिस एक आरोपी को हिरासत में लेकर जांच कर रही है।

ईंट से कूचकर हत्या

मामला अयोध्या कोतवाली के रायगंज क्षेत्र में स्थित चरण पादुका के गौशाला में हनुमानगढ़ी का है। यहां नागा साधु(Naga Sadhu of Hanumangarhi)  बसंतीय पट्टी से जुड़े गुलचमन बाग के साधु कन्हैया दास चेलाराम रामवरन दास की ईंट से कूचकर हत्या कर दी गई। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी और फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

गोशाला में रोज जाते थे सोने

मृत संत के गुरु भाई ने बताया कि साधु कन्हैया दास हनुमानगढ़ी मंदिर के बगल स्थित गुलशन बाग में भोजन के उपरांत चरण पादुका में स्थित गोशाला में रोज सोने जाते थे। वह बीती रात भी गोशाला में सो रहे थे, जहां उनकी हत्या कर दी गई। उन्होंने बताया कि साधु का जमीन और मकान को लेकर गोलू दास उर्फ शशिकांत दास से मुकदमा चल रहा था। इनकी आपस में रंजिश भी रहती थी। उन्होंने आरोप लगाया कि इसीलिए लालच में आकर गोलू दास ने संत कन्हैया दास की हत्या की है। इस संबंध में गोलू दास से पूछताछ चल रही है।

एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि आरोप के आधार पर गोलू दास को हिरासत में ले लिया गया है। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही इस मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।

Related Post

अफगानिस्तान संकट: शहर-ए-नव पार्क में शरण लेने वाली सैकड़ों महिलाएं लापता- अफगान नागरिक का दावा

Posted by - August 17, 2021 0
काबुल के शहर-ए-नव पार्क में अफगान सैनिकों और तालिबान आतंकियों के बीच युद्ध से बचने के लिए अपने गांव छोड़कर…