Yes Bank

Yes Bank के हर जमाकर्ता का पैसा है सुरक्षित : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

201 0

नई दिल्ली। Yes Bank संकट पर शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंक के ग्राहकों को बड़ा भरोसा दिलाया है। सीतारमण ने कहा कि  Yes Bank के हर जमाकर्ता का धन सुरक्षित है, मैं रिजर्व बैंक के साथ लगातार संपर्क में हूं। रिजर्व बैंक ने मुझे भरोसा दिलाया है कि यस बैंक के किसी भी ग्राहक को कोई नुकसान नहीं होगा।

Yes Bank के ग्राहकों के लिए 50,000 रुपये की सीमा में पैसा निकालना सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता

उन्होंने कहा कि Yes Bank के मुद्दे को रिजर्व बैंक और सरकार विस्तृत तौर पर देख रहे हैं। हमने वह रास्ता अपनाया है जो सबके हित में होगा। वित्त मंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक एक नियामक के तौर पर यस बैंक के मुद्दे का तेजी से समाधान करने की दिशा में काम कर रहा है। यह कदम जमाकर्ताओं, बैंक और अर्थव्यवस्था के हित में उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि Yes Bank के ग्राहकों के लिए 50,000 रुपये की सीमा में पैसा निकालना सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता है।

Yes बैंक : 50 हजार निकासी की सीमा से ग्राहकों में हड़कंप, ATM पर दिखी भीड़

वित्त मंत्री ने कहा कि Yes Bank ने अपनाई खतरनाक नीति

शाम करीब पांच बजे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कांफ्रेंस कर एक बार फिर ग्राहकों को भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि 2017 से आरबीआई लगातार Yes Bank की स्थिति पर नजर रखे हुए है। ऐसा देखा गया कि बैंक में गवर्नेंस का मुद्दा है और बैंक के अनुपालन में भी कमी है। कर्ज देने की खतरनाक नीति के साथ पैसों का भी गलत श्रेणीकरण किया गया।

जमाकर्ताओं का पैसा रहेगा सुरक्षित

वित्त मंत्री ने कहा कि, हमारी सरकार भरोसा दिलाती है कि जमाकर्ताओं का पैसा सुरक्षित रहेगा। मैं आरबीआई से गुजारिश करती हूं कि वह कानून के मुताबिक इस मामले की गंभीरता और महत्व को समझते हुए ऐसा रास्ता निकाले जिससे लोगों की परेशानियां कम हों। उन्होंने कहा कि आरबीआई ने भरोसा दिया है कि पाबंदी लगे रहने की अवधि के अंदर ही पुनर्निर्माण योजना अमल में लाई जाएगी।

 

यस बैंक के कर्मचारियों की एक साल तक नौकरी-वेतन सुरक्षित

वित्त मंत्री ने कहा कि यस बैंक के कर्मचारियों की नौकरी, वेतन एक साल तक सुरक्षित हैं। जमाएं और देनदारियां अप्रभावित रहेंगी। आरबीआई पता लगाएगा कि यस बैंक में क्या गलत हुआ है? इसमें व्यक्तिगत भूमिका का पता लगाना होगा।

इन कंपनियों को यस बैंक ने दिया कर्ज

वित्त मंत्री ने कहा कि अनिल अंबानी समूह, एस्सेल, डीएचएफएल, आईएलएफएस, वोडाफोन उन संकटग्रस्त कंपनियों में शामिल हैं, जिन्हें यस बैंक ने कर्ज दिया था।

एसबीआई ने यस बैंक में निवेश की जताई है इच्छा : आरबीआई

वहीं आरबीआई ने कहा कि एसबीआई ने यस बैंक में निवेश की इच्छा जताई है। आरबीआई ने कहा कि रणनीतिक निवेशक बैंक तीन साल से पहले यस बैंक में अपनी हिस्सेदारी को 26 प्रतिशत से नीचे नहीं ला सकेंगे।

Loading...
loading...

Related Post

Navratri 2019: महाष्टमी पर अपने रिश्तेदारों को भेजे शुभकामना का ये खास संदेश

Posted by - October 4, 2019 0
लखनऊ डेस्क। नवरात्रि में अष्टमी तिथि को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है, क्योंकि इस दिन मां दुर्गा के महागौरी स्वरूप…
ट्रैवेलिंग फूडी सारांश

ट्रैवेलिंग फूडी सारांश में 28 फरवरी को लखनऊ में, अपने अनुभव करते हैं कलमबद्ध

Posted by - February 22, 2020 0
लखनऊ। खाने को खाकर बताने के शौकीन ट्रेवेलिंग फूडी सारांश 28 फरवरी को राजधानी में तीन दिन रहकर लखनऊ की…