कांग्रेस के हरेन्द्र मलिक और पूर्व विधायक पंकज समेत कई नेता सपा में शामिल

44 0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अगले साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी सियासी दल अपना कुनबा बढाने में जुट गए है। इस दौरान समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। लखनऊ में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव की मौजूदगी में कांग्रेस के नेताओं के साथ अन्य पार्टी के नेता भी समाजवादी पार्टी में शामिल हुए।

कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य हरेन्द्र मलिक पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बड़े नेता है। वह आज पुत्र शामली से पूर्व विधायक पंकज मलिक के साथ अखिलेश यादव के समक्ष समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। इनके साथ ही श्रावस्ती से बहुजन समाज पार्टी से विधायक रहे रामसागर अकेला को भी अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता दिलाई। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इन सभी को पार्टी दफ्तर पर सदस्यता ग्रहण कराई। इस अवसर पर अखिलेश यादव ने कहा कि सपा में शामिल सभी लोगों का स्वागत है। किसान उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार से परेशान है। सरकार ने फसलों को बचाने का काम नहीं किया, धान खरीद नहीं की इसलिए किसान धान में आग लगा रहा है।

अखिलेश ने सरकार पर बोला हमला

अखिलेश ने कहा कि यह किसानों का देश है और किसान की जान जा रही है क्योंकि वो लाइन में लगे हैं। उन्‍होंने आये दिन बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के दामों पर भी सरकार पर हमला बोला और सवाल उठाया कि यह कौन सा हिसाब है कि हर रोज 35 पैसे तेल के दाम बढ़ा दिए जा रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि अगर बीजेपी अपने सभी उम्मीदवारों को भी बदल दे तो जनता बीजेपी को बदल देगी। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी डेढ़ सौ विधायकों का टिकट काटेगी और सौ नाराज हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर मुनाफा कहां जा रहा है? महंगा डीजल, पेट्रोल किसान खरीद रहा है, देश की अर्थव्यवस्था किसान संभालते हैं, फिर उनके साथ इतना अन्याय क्‍यों है।

बीजेपी को पुड़िया रखने की आदत है 

पूर्व मुख्यमंत्री ने पूछा कि सरकार बताए कि धान खरीद के लिए कितने केंद्र बनाए हैं। उन्होंने कहा कि पांच साल पूरे होने जा रहे हैं, कम से कम यह तो बता दें कि किसानों की आय दोगुनी हो गई या नहीं। सरकार बताए तो साढ़े चार साल में किसानों के लिए क्या किया। उन्होंने कहा कि जो कंपनी भगवान राम का मंदिर बना रही है उसी से हम एक्सप्रेसवे बनवा रहे थे, बीजेपी ने उनसे काम छीन लिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी को आदत है पुड़िया रखने की, सरकार बनते ही विधानसभा में पुड़िया मिली लेकिन उस पुड़िया में सिर्फ चूना निकला। सपा प्रमुख ने कहा कि हम जीतने वाली महिलाओं को टिकट देंगे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी अपने सांसदों की नहीं सुनती तो वह और किसी की क्‍या सुनेगी।

बता दें कि मुजफ्फरनगर के काजीखेड़ा के रहने वाले पूर्व राज्यसभा सदस्य हरेन्द्र मलिक ने 1976-77 में डीएवी कॉलेज से छात्र राजनीति शुरू की। इसके बाद 1978 में संजय गांधी और इंदिरा गांधी के साथ आंदोलन में शामिल होकर जेल गए। वह 1982 में बीडीसी बने और 1985 में खतौली विधानसभा सीट से चुनाव जीते। इसके बाद तीन बार तक बघरा विधानसभा सीट से विधायक रहे । वह 1996 में विधानसभा और 2002 में समाजवादी पार्टी से लोकसभा का चुनाव हारे। 2002 में हरेन्द्र मलिक इनेलो में शामिल होकर उसके कोटे से राज्यसभा पहुंच गए। 2004 में कांग्रेस में शामिल होकर बेटे पंकज मलिक को बघरा से उप चुनाव लड़वाया। 2012 के विधानसभा चुनाव में पंकज मलिक शामली विधानसभा सीट से कांग्रेस से विधायक रहे।

 

Related Post

यूपी विधानसभा चुनाव 2022

हरियाणा विधानसभा चुनावः बसपा ने उम्मीदवारों की जारी की दूसरी सूची

Posted by - October 2, 2019 0
नई दिल्ली। हरियाणा में विधानसभा चुनाव को लेकर बुधवार यानी आज बसपा ने प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी कर दी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *