महाशिवरात्रि

Mahashivratri 2020 : मनोकामना पूर्ति के लिए ऐसे करें भगवान शिव की पूजा

461 0

नई दिल्ली। महाशिवरात्रि शिवभक्तों के लिए सबसे बड़ा त्योहार है, जो 21 मई को पूरे देश में श्रद्धापूर्वक मनाया जाएगा। इसके लिए मंदिरों में तैयारियां जोरों पर हैं। यह पावन पर्व देवों के देव महादेव भोलेनाथ को समर्पित है।

महाशिवरात्रि के दिन महादेव अति प्रसन्न मुद्रा में होते हैं और इस दिन भक्तों की मुराद पूरी करने के लिए रहते हैं तत्पर 

पौराणिक शास्त्र के अनुसार, महाशिवरात्रि भगवान शिव की विशेष रात्रि है। इस दिन महादेव अति प्रसन्न मुद्रा में होते हैं और इस दिन भक्तों की मुराद पूरी करने के लिए तत्पर रहते हैं। बताते हैं कि महाशिवरात्रि के दिन शिव और भी उदार हो जाते हैं।

महाशिवरात्रि के दिन गंगाजल और दूध से भगवान शिव का अभिषेक करें

शास्त्रों में बताया गया है कि महाशिवरात्रि के दिन मनुष्य को अपनी मनोकामना के अनुसार शिव की पूजा करनी चाहिए। अपनी पूजा से शिव को यह बताएं कि आप शिव से क्या चाहते हैं? जो व्यक्ति सांसारिक मोह माया से मुक्त होना चाहते हैं। शिव की चरणों में स्थान पाने की कामना रखते हैं। उनके लिए शास्त्रों में कहा गया है कि महाशिवरात्रि के दिन गंगाजल और दूध से भगवान शिव का अभिषेक करें। ऐसे व्यक्तियों को महाशिवरात्रि की रात में जागरण करके शिव पुराण का पाठ करना या सुनना चाहिए। शिव भजन से भी लाभ मिलता है।

महाशिवरात्रि के दिन दही से भगवान शिव का अभिषेक करें, वाहन खरीदने में  मिलेगी कामयाबी 

जो व्यक्ति काफी समय से वाहन खरीदने के लिए प्रयास कर रहे हैं, लेकिन कामयाबी नहीं मिल रही है। तो महाशिवरात्रि के दिन दही से भगवान शिव का अभिषेक करें। आर्थिक समस्याओं के कारण जो लोग परेशान और चिंतित रहते हैं। उनके लिए महाशिवरात्रि पर शिव जी की पूजा का खास विधान है। ऐसे लोगों को शहद और घी से भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए। प्रसाद के तौर पर भोलेनाथ को गन्ना अर्पित करें।

Maha Shivratri 2020 : महाशिवरात्रि पर ये वस्त्र करें धारण, तो शिव जी होंगे प्रसन्न

बेहतर स्वास्थ्य की इच्छा रखने वालों को जल में दुर्वा मिलाकर शिव जी को अर्पित करें

जो व्यक्ति अक्सर बीमार रहते हैं या जिनके स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव बना रहता है। उन्हें महाशिवरात्रि के मौके का लाभ उठाना चाहिए। शास्त्रों में कहा गया है कि भोलेनाथ कालों के भी काल हैं। जिनके सामने यम भी हाथ जोड़े खड़े रहते हैं। इसलिए महाशिवरात्रि के दिन बेहतर स्वास्थ्य की इच्छा रखने वालों को जल में दुर्वा मिलाकर शिव जी को अर्पित करना चाहिए। जितना अधिक संभव हो महामृत्युंजय मंत्र का जप करें।

योग्य संतान की अभिलाषा रखते हैं उन्हें महाशिवरात्रि के दिन दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें

जो दंपत्ति योग्य संतान की अभिलाषा रखते हैं उन्हें महाशिवरात्रि के दिन दूध से शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए। शिव के साथ ही मां पार्वती और गणेश एवं कार्तिक की पूजा भी संतान सुख के योग मजबूत बनाता है।

Loading...
loading...

Related Post

मैं पूर्ण रूप से स्वस्थ हूं

गोडसे पर साध्वी प्रज्ञा के बयान सही नहीं, होगी कार्रवाई: अमित शाह

Posted by - November 28, 2019 0
रांची। नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान का उन्होंने खंडन किया है। शाह…