जानें क्यों बोया जाता है नवरात्रि में जौ और क्या है इसका धार्मिक महत्व

734 0

लखनऊ डेस्क। नवरात्र में कलश के सामने गेहूं व जौ को मिट्टी के पात्र में बोया जाता है और इसका पूजन भी किया जाता है। इन दिनों में मां के नौ स्वरूपों की पूजा का विधान है।हम आज आपको यह बताएंगे कि नवरात्रि में जौ क्यों बोए जाते हैं –

ये भी पढ़ें :-Navratri 2019: नवरात्रि में जानें कलश स्थापना की सही विधि और पूजा 

1-जौ का रंग नीचे से आधा हरा है और ऊपर से आधा पीला हो तो इसका अर्थ है कि साल का शुरूआती समय अच्छे से बीतेगा, लेकिन बाद में आपको परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। अगर आपका बोया हुआ जौ सफेद या हरे रंग में उग रहा है तो यह बहुत ही शुभ माना जाता है।

2-नवरात्रि के दौरान बोया गया जौ न उगे तो भविष्य में आपके लिए अच्छे संकेत नहीं है यानि कि आपको कड़ी मेहनत के बाद ही उसका फल मिलेगा। जब जौ का रंग नीचे से आधा पीला और ऊपर से आधा हरा हो इसका मतलब आने वाला साल का आधा समय ठीक रहेगा।

3-सृष्टि की शुरूआत के बाद पहली फसल जौ कि ही हुई थी, इसलिए जब भी देवी-देवताओं की पूजा की जाती है तो हवन में जौ चढ़ाई जाती है।  नवरात्रि ने जो जौ उगाई जाती है।

 

Related Post

चंपत राय

25 मार्च से श्रद्धालुओं को अयोध्या में नए स्थान पर रामलला के दर्शन होंगे : चंपत राय

Posted by - March 1, 2020 0
नई दिल्ली। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि आगमी 25 मार्च चैत्र नवरात्र…
Justice ramanna

न्यायमूर्ति एनवी रमण ने वेंकटेश्वर मंदिर में की पूजा, 24 अप्रैल को संभालेंगे CJI का पद

Posted by - April 11, 2021 0
ऩई दिल्ली। पूजा के बाद उन्हें तिरुमला तिरुपति देवस्थानम बोर्ड के अध्यक्ष वाईवी सुब्बा रेड्डी और कार्यकारी अधिकारी केएस जवाहर…