तुलसी

इस दिन न तोड़े तुलसी का पत्ता, ऐसे व्यक्ति ने की पूजा तो होगी निष्फल

913 0

लखनऊ। हिंदू धर्म और शास्त्रों में तुलसी का विशेष स्थान है। इतना ही नहीं कहा जाता है कि तुलसी भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय हैं। बताते चलें कि तुलसी के पौधे पांच प्रकार के होते हैं। इनमें श्याम तुलसी, राम तुलसी, विष्णु तुलसी, वन तुलसी और नींबू तुलसी शामिल है।

अमिताभ बच्चन के लुक की तरह फिल्म का नाम भी अनोखा ‘गुलाबो सिताबो’

जानें तुलसी का पत्ता तोड़ने के नियम

बताते चलें कि, तुलसी का पत्ता तोड़ने के भी नियम हैं। ऐसा नहीं है कि आप किसी भी वक्त और किसी भी दिन जाकर तुलसी का पत्ता तोड़ ले। शास्त्रों के अनुसार तुलसी का एक रूप लक्ष्मी का भी होता है। इतना ही नहीं तुलसी का एक अवतार राधा का भी माना गया है। तुलसी को घर में रखने के भी विशेष नियम होते हैं।

  • रविवार, शुक्रवार, अमावस्या, चौदस तिथि, ग्रहण और द्वादशी को तुलसी का पत्ता नहीं तोड़ना चाहिए क्योंकि, ऐसा करने से कोई न कोई नुकसान हो सकता है।
  • इसके साथ ही रविवार और एकादशी को तुलसी को जल अर्पण नहीं करना चाहिए।
  • बिना किसी विशेष कार्य के तुलसी का पत्ता न तोड़े।
  • तुलसी का पत्ता कभी भी नाखून से नहीं तोड़ना चाहिए।
  • तुलसी के पौधे से गिरे हुए पत्तों का इस्तेमाल औषधि सहित अन्य धार्मिक क्रियाओं में करना चाहिए। यदि आप तुलसी के पत्तों का इस तरह से इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं तो इन्हें मिट्टी में दबा देना चाहिए।

तुलसी का पत्ता तोड़ने से पहले इस खास मंत्र का उच्चारण करना चाहिए-
‘मातस्तुलसि गोविंद हृदयानंद कारिणी।
नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमोस्तुते।।’

  • वायु पुराण में कहा गया है कि बिना स्नान किए तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ना चाहिए।
  • बिना स्नान किए तुलसी की पूजा करने वाले शख्स को दोषी माना जाता है। इतना ही नहीं उसकी पूजा भी निष्फल मानी जाती है।
  • कहते हैं कि, शाम को तुलसी को स्पर्श नहीं करना चाहिए और न ही इसके पत्ते तोड़ने चाहिए।
  • यदि तुलसी का पौधा सूख जाए तो इसे मिट्टी में दबा दें और इसके स्थान पर तुलसी का ही दूसरा पौधा लगा दें।
  • भगवान गणेश की पूजा अथवा भोग में तुलसी का पत्ता नहीं चढ़ाना चााहिए।
  • तुलसी के पत्ते को कभी भी दांत में नहीं दबाना चाहिए।
  • घर की लक्ष्मी की तरह तुलसी के पौधे का भी मान-सम्मान करना चाहिए।
Loading...
loading...

Related Post

Google Pay

आरबीआई से दिल्ली हाईकोर्ट से मांगा जवाब, बिना मंजूरी कैसे चल रहा है Google Pay

Posted by - April 10, 2019 0
डेक डेस्क। दिल्ली उच्च न्यायालय ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया डिजिटल पेमेंट ऐप गूगल पे को लेकर सवाल पूछा है।…

जिंदगी काटोगे सिगरेट, बीड़ी और सिगार में.. कुछ दिन तो गुजारो Delhi-NCR में -थरूर

Posted by - November 2, 2019 0
नई दिल्ली। बीजेपी और शिवसेना के बीच कांग्रेस सांसद शशि थरूर जो अपने मजेदार ट्वीट्स के लिए जाने जाते हैं…
सिख दंगा

सिख दंगा: मनमोहन सिंह के बयान पर पूर्व पीएम नरसिम्हा राव के पोते ने दी सफाई

Posted by - December 5, 2019 0
नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर बुधवार को एक बयान दिया था।…
अरविंद केजरीवाल

‘अगला चुनाव लड़ने के लिए नहीं हैं पैसा, करें हमारी मदद’- अरविंद केजरीवाल

Posted by - November 25, 2019 0
नई दिल्ली। जैसे-जैसे दिल्ली में विधानसभा चुनाव का समय नजदीक आ रहा हैं, वैसे-वैसे दिल्ली के आम आदमी पार्टी के…