भारत का पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब, ‘जम्मू-कश्मीर और लद्दाख हमारे थे, हैं और रहेंगे

183 0

संयुक्त राष्ट्र के मंच पर फिर से कश्मीर का राग अलापने वाले पाकिस्तान को भारत ने मुंहतोड़ जवाब दिया है और कहा कि संयुक्त राष्ट्र मंच का पाकिस्तान ने हमेशा गलत इस्तमाल किया है। ओसामा बिन लादेन का नाम लेकर भारत ने दुनिया के सामने पाकिस्तान की पोल खोल दी है कि कैसे आतंक का आका आतंकवाद का समर्थन करता रहा है। बता दें कि आज सुबह इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र को वर्चुअली संबोधित किया और कश्मीर का जिक्र कर कहा कि पाक शांति चाहता है और कश्मीर विवाद के समाधान से ही दक्षिण एशिया में शांति स्थापित होगी।

पाक ने आतंकवाद से ध्यान हटाने की कोशिश की’

भारत की फर्स्ट सेक्रेटरी स्नेहा दुबे ने राइट टू रिप्लाई के तहत इमरान खान के भाषण पर जवाब देते हुए कहा कि अफसोस की बात है कि यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान के नेता ने मेरे देश के खिलाफ झूठे और दुर्भावनापूर्ण प्रचार करने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रदान किए गए मंचों का दुरुपयोग किया है। वह दुनिया का ध्यान अपने देश की उस स्थिति से हटाने की कोशिश कर रहे हैं जहां आतंकवादी फ्री पास का आनंद लेते हैं। जबकि आम लोगों, विशेष रूप से अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों का जीवन वहां उलटा हो जाता है। उनके ऊपर अत्याचार होता है।

भारत ने पाकिस्तान को दी चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के संबोधन के राइट टू रिप्लाई में भारत ने कहा कि पाकिस्तान खुले तौर पर आतंकवादियों का समर्थन करने और उन्हें हथियार देने के लिए विश्व स्तर पर जाना जाता है। भारत ने आगे कहा कि पाकिस्तान के पास संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित आतंकवादियों की सबसे बड़ी संख्या की मेजबानी करने का अपमानजनक रिकॉर्ड है।

भारत की फर्स्ट सेक्रेटरी स्नेहा दुबे ने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के संपूर्ण केंद्र शासित प्रदेश भारत के अभिन्न और अविभाज्य अंग थे, हैं और रहेंगे। इसमें वे भी क्षेत्र शामिल हैं जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे में हैं। हम पाकिस्तान से उसके अवैध कब्जे वाले सभी क्षेत्रों को तुरंत खाली करने के लिए कहते हैं।

बता दें कि महासभा में पाकिस्तान के प्रमुख इमरान खान का एक रिकॉर्डेड मैसेज चलाया गया था, जहां वे अपने भाषण में 13 बार कश्मीर का जिक्र कर रहे हैं और हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के जनाजे को लेकर झूठ फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।

रिकॉर्डेड मैसेज में खान ने ‘भारत के साथ शांति’ की बात कही थी, लेकिन उन्होंने यह भी कहा था कि दक्षिण एशिया में शांति जम्मू और कश्मीर के विवाद सुलझने पर भी निर्भर करती है। उन्होंने बयान दिया, ‘पाकिस्तान के साथ सार्थक और परिणान देने वाले संपर्क के लिए मददगार माहौल बनाने की जिम्मेदारी भारत की है।

Related Post

j&k: महबूबा मुफ्ती ने प्रशासन पर लगाया नजरबंद करने का आरोप

Posted by - September 7, 2021 0
महबूबा मुफ्ती ने प्रशासन पर उन्हें नजरबंद करने का आरोप लगाया। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भारत सरकार अफगानिस्तान के लोगों…
SANJAY RAUT

परमबीर-देशमुख प्रकरण : परमबीर के पत्र पर भाजपा आक्रामक, राउत बोले- ‘हमको तो बस तलाश नए रास्तों की है…’

Posted by - March 21, 2021 0
मुंबई । पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का कथित पत्र (Letter of Parambir) सामने आने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति…