harak singh rawat

हरक सिंह रावत ने सीएम धामी को दिया आशीर्वाद

86 0

कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत (Harak singh Rawat) की मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Rawat) से मुलाकात के बाद उनकी नाराजगी दूर हो गई है। हरक सिंह रावत ने मुख्यमंत्री को छोटे भाई के तौर पर आशीर्वाद देते हुए कहा कि पूर्ण बहुमत के साथ भाजपा की उत्तराखंड में सरकार बनेगी। कहा कि अपने लंबे राजनीतिक जीवन में ऐसा नेक मुख्यमंत्री नहीं देखा जो सबकी सुनते हैं।

मंत्री हरक सिंह रावत ने मुख्यमंत्री धामी की प्रशंसा करते हुए कहा कि ऐसा मुख्यमंत्री अपने 25 वर्षों से अधिक की राजनीतिक सफर में नहीं देखा। एक राज्य के मुखिया का नेकदिल होने के साथ हर वर्ग के विकास और मानवता की साथ सोच रखना राज्य के लिए सुखद संदेश है।

हरक ने बताया कि मेरी नाराजगी विकास को लेकर थी, उसे दूर कर लिया गया है। सरकार कोटद्वार मेडिकल कॉलेज को प्राथमिकता से बनाएगी। उन्होंने कहा कि मंत्री डा. धन सिंह रावत और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक भी साथ थे।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री धामी और वे स्वयं सैनिक के बेटे हैं। वो हमारे छोटे भाई हैं। आज से नहीं बहुत सालों से मेरा उनसे संबंध है। मैं उनकी शादी में गया था। चुनाव कोई भी लड़े, लेकिन जनता से किए गए वायदों को पूरा करना हमारा दायित्व बनता है।

नए साल में बदल जाएगी यूपी पुलिस की तस्वीर

उन्होंने कहा कि मेरे हर संकट के समय में अमित शाह ने साथ दिया है। उनका मेरे पर एहसान है। मुख्यमंत्री धामी, दया करुणा के साथ काम कर रहें हैं। उनका काम बोल रहा है। हर वर्ग उनके कामों से प्रसन्न है। मैं चाहता हूं भाजपा पूरी बहुमत के साथ सरकार बनाए, ऐसी मेरी कामना।

मंत्री हरक सिंह रावत 24 दिसम्बर को मंत्रिमंडल की बैठक को बीच में छोड़कर निकल गए थे। इस दौरान उनके त्यागपत्र को लेकर सोशल मीडिया में तेजी से खबर वायरल हुई, लेकिन सरकार और संगठन की ओर से किए प्रयास भाजपा के राहत भरा रहा है। अब हरक सिंह रावत सरकार के समर्थन और भाजपा को फिर से सरकार बनने की बात कही गई है।

Related Post

झारखंड विधानसभा चुनाव

सरयू राय के पक्ष में खुलकर आए हेमंत सोरेन, विपक्ष से की समर्थन की अपील

Posted by - November 17, 2019 0
रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव में आखिरकार वही हुआ जिसका अंदेशा पहले से ही लगाया जा रहा था। बीजेपी के दिग्‍गज…

Ayodhya Verdict 2019: सुप्रीम कोर्ट ने फैसले के दौरान क्यूं ली अनुच्छेद 142 की मदद? पढ़ें पूरा

Posted by - November 11, 2019 0
अयोध्या। दशकों से चल रहे मंदिर-मस्जिद विवाद के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला बीते शनिवार को सुना दिया…